Header Ads

जवां बने रहना चाहते है तो खाएं यह फल

जवां बने रहना चाहते है तो खाएं यह फल

आंवला का सही फायदा उठाना है तो आंवले के जूस को अपनी डाइट में शामिल कर लें और इसे रोज सुबह इसे पीएं। सुबह-सुबह खाली पेट आंवले का जूस पीने से एक नहीं हजारों फायदे हैं। इससे पाचन तंत्र में तो मदद मिलती ही है साथ ही निखरी त्वचा, बालों को काला, लम्बा और घना रखने और आंखों के लिए आंवला काफी फायदेमंद है। कहा जाता है कि आंवला खून पित्त, अम्ल पित्त, पांडू, त्रिदोष, दमा, खांसी, श्वास रोग, कब्ज, छाती के रोग, दिल का रोग, मूत्र विकार जैसे कई बीमारियों में फायदा पहुंचा सकता है। इसके इस्तेमाल से मोटापा भी दूर होता है और समय से पहले बूढ़ापे के लक्षण को रोकने में भी आंवला बेहद मददगाआंवले के और क्या है फायदे:र है। आइए जानें 


1. रोजाना आंवले के जूस का इस्तेमाल करने से कोलेस्ट्रोल लेवल को कम करने में मदद मिलती है। इसमें मौजूद एमिनो एसिड और एंटी ऑक्सीडेंट्स की वजह से यह दिल के लिए फायदेमंद है।
2. चेहरे पर अगर दाग धब्बे हों तो रूई से इसके रस को लेकर रोज चेहरे पर लगाना चाहिए। इससे चेहरे के दाग-धब्बे, पिग्मेंटेशन में तो राहत मिलती ही है साथ ही इसमें मौजूद ऑक्सीडाइजिंग मेलेनिन त्वचा के ओपन पोर्स को भी बंद करने में मदद करते हैं। अच्छे और काले बालों के लिए आंवला, रीठा व शिकाकाई के चूर्ण का इस्तेमाल करना चाहिए।
3.आंवले को कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है। आंवले के चूर्ण को शहद के साथ खाना चाहिए। इससे ब्लड साफ होता है। अगर इसे शहद या घी के साथ खाएंगें तो एसिडिटी की परेशानी में फायदा होगा।
4.शुगर के मरीजों को आंवले के जूस को रोज पीना चाहिए। इससे शुगर लेवल ठीक रहता है और धीरे-धीरे डायबिटीज से हमेशा के लिए मुक्ति मिल सकती है।

5. समय से पहले बूढ़ापे के लक्षण को रोकने में भी आंवला बेहद मददगार है। इसके लिए सूखे आंवले का चूर्ण और तिल का चूर्ण बराबर मिलाकर घी या फिर शहद के साथ खाने से  आप जवां बने रहते हैं।

पांच दिनों में करें मोटापे को खत्म और किडनी की सफाई भी

कोई भी मोटा दिखना पसंद नहीं करता | जब कोई आप को मोटा कहता तो ये बहुत ही शर्मिंदगी वाली बात हो जाती है आप को खुद पर गुस्सा आने लगता है और आप जल्द से जल्द मोटापे से छुटकारा पाना चाहते हैं | पर कई बार सब कुछ ट्राई करने के बाद भी कोई फर्क नहीं पड़ता तो आप निराश हो जाते हैं | आप की इसी निराशा को दूर करने के लिए आज हम आप के लिए लेकर आये है एक चमत्कारी उपाए जो के बहुत ही आसान है | यह चमत्कारी ड्रिंक आप के पेट में जमा फैट और सुजन को कम करने में मदद करता है और आपकी किडनी की भी सफाई करेगा | इस को बनाने में 3 मिनिट से भी कम समय लगता है | तो अब भारी भरकम व्यायाम और मोटापे से छूटकरा पाए इस प्राकिरितिक तरीके से


नुस्खा बनाने की सामग्री
एक बड़ा नींबू, आधा कप पानी, थोडा सा ताजा धनिया एक बर्तन में निम्बू का जूस निकल लें उसमे थोडा सा बारीक़ कटा हुआ धनिया और आधा कप पानी डाल कर मिक्सर में अछि तरह मिक्स कर लें और आप का चमत्कारी ड्रिंक तयार है |
नुस्खा कैसे काम करता है
धनिया
  •     धनिया में शक्तिशाली anti oxidants पाए जाते हैं | ये शरीर में सेल्स को पुनर्जीवित करता है और गुर्दों को सहीतरीके से कार्य करने में मदद करता है |
  •     धनिया में बहुत से खनिज पदार्थ होते हैं जिन से गुर्दे मज़बूत होते , विषैले तत्वों का निकास होता है और गुर्दों में से चर्बी कम करता है |
  •     धनिया में beta-carotene, chlorophyl और विटामिन c पाया जाता है जो संक्रमण और कैंसर से लड़ने में मदद करता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है |
  •     धनिया बहुत अच्छा मूत्रवर्धक है इस लिए शारीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने में मदद करता है |
  •     ये उच्च रक्तचाप को कम करता है और किडनी की सेहत में सुधार लाता है |
  • निम्बू
  •     निम्बू में सोडियम की मात्रा कम होती है और पोटाशियम की मात्रा ज्यादा होती है जो के किडनी के लिए बहुत ही अच्छी बात है |
  •     निम्बू में भरपूर मात्रा में विटामिन C और B होते हैं जो के हमारी सेहत और शारीर और गुर्दों की सफाई के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं |
  • इस नुस्खे का रहस्य ये दोनों समग्रिओं का मिश्रण हैं ये दोनों मिल कर एक ऐसा ताकतवर मिश्रण बनाते हैं जो शारीर से विषाक्त पदार्थों को निकाल कर पाचन शक्ति को बड़ाने में मदद करता है जिस से मोटापा कम होता है और किडनी भी तंदरुस्त रहती है |
  • इस्तेमाल का तरीका
    इस ड्रिंक को पांच दिनों तक सुबह खाली पेट
    लीजिये और फिर 10 दिन के अन्तराल पर फिर से पांच दिन इस्तेमाल कर सकते हैं जब तक आप को मनचाहे नतीजे न मिल जाएँ | 

लीवर-किडनी होंगे साफ, सिर्फ 4 दिन पीएं किशमिश का पानी!

ड्राई फ्रूट खाना सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। इसमें विटामिन के साथ और भी बहुत से ऐसे तत्व होते हैं जो सेहत के लिए बहुत जरूरी है। इनमें से किशमिश लीवर और कीडनी के लिेए बहुत फायदेमंद है। इससे शरीर में जमा विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और खून की कमी भी पूरी होती है। इस बात का ध्यान रखें की इसका इस्तेमाल सर्दीयों के मौसम में करना बेहतर रहता है।


किशमिश को रात को भिगोकर सुबह खाली पेट इसका पानी पीने से लीवर और कीडनी अच्छे से काम करते हैं। इससे लीवर से जुड़ी परेशानी दूर हो जाती है। इससे कोलेस्ट्राल और दिल से जुड़ी समस्या से निजात पाई जा सकती है। इसके सेवन से एसीडिटी भी दूर हो जाती है। इसे बनाने का तरीका बहुत ही आसान है। आइए जानते हैं इसके बारे में…
सामग्री
– 2 कप पानी
– 150 ग्राम किशमिश
बनाने की विधि
सबसे पहले किशमिश को धो लें और एक पैन में पानी उबाल कर इसमें किशमिश डाल कर रात भर भिगोएं। सुबह इसको छान कर हल्का
गुनगुना करें और खाली पेट पी लें। इसका सेवन करने के 25-30 मिनट बाद नाश्ता कर लें।
ध्यान में रखें ये बात

डायबिटीज के रोगी इसके इस्तेमाल से परहेज करें। इसका सेवन एक महीने में सिर्फ चार दिन ही करें और इस दौरान शक्कर का इस्तेमाल थोड़ा कम कर दें।

गुड़ खाने से 18  जबरदस्त फायदे 



1- गुड़ खाने से नहीं होती गैस
की दिक्कत
2- खाना खाने के बाद अक्सर
मीठा खाने का मन करता हैं।
3- इसके लिए सबसे बेहतर है
कि आप गुड़ खाएं।
4- गुड़ का सेवन करने से आप
हेल्दी रह सकते हैं 



5- गुड़ खाने से नहीं होती गैस
की दिक्कत
6- खाना खाने के बाद अक्सर
मीठा खाने का मन करता हैं।
इसके लिए सबसे बेहतर है
कि आप गुड़ खाएं।
गुड़ का सेवन करने से आप
हेल्दी रह सकते हैं
खराब टॉक्सिन दूर करता है,
जिससे त्वचा दमकती है और
मुहांसे की समस्या नहीं होती है।
7 – गुड़ की तासीर गर्म है,
इसलिए इसका सेवन जुकाम
और कफ से आराम दिलाता है।
जुकाम के दौरान अगर आप
कच्चा गुड़ नहीं खाना चाहते हैं
तो चाय या लड्डू में भी
इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।
8 – एनर्जी के लिए -बुहत
ज़्यादा थकान और कमजोरी
महसूस करने पर गुड़ का
सेवन करने से आपका एनर्जी लेवल बढ़ जाता है।
गुड़ जल्दी पच जाता है, इससे
शुगर का स्तर भी नहीं बढ़ता.
दिनभर काम करने के बाद
जब भी आपको थकान हो,
तुरंत गुड़ खाएं।
9 – गुड़ शरीर के टेंपरेचर को
नियंत्रित रखता है।
इसमें एंटी एलर्जिक तत्व हैं,
इसलिए दमा के मरीज़ों के
लिए इसका सेवन काफी
फायदेमंद होता है।
10 – जोड़ों के दर्द में आराम–
रोज़ गुड़ के एक टुकड़े के
साथ अदरक का सेवन करें,
इससे जोड़ों के दर्द की
दिक्कत नहीं होगी।
11- गुड़ के साथ पके चावल
खाने से बैठा हुआ गला व


आवाज खुल जाती है।
12 – गुड़ और काले तिल के
लड्डू खानेसे सर्दी में अस्थमा
की परेशानी नहीं होती है।
13 – जुकाम जम गया हो, तो
गुड़ पिघलाकर उसकी पपड़ी
बनाकर खिलाएं।
14 – गुड़ और घी मिलाकर खाने
से कान का दर्द ठीक हो जाता है।
15 – भोजन के बाद गुड़ खा
लेने से पेट में गैस नहीं बनती.
16 – पांच ग्राम सौंठ दस ग्राम
गुड़ के साथ लेने से पीलिया
रोग में लाभ होता है।
17 – गुड़ का हलवा खाने से
स्मरण शक्ति बढती है।
18 – पांच ग्राम गुड़ को इतने ही
सरसों के तेल में मिलाकर खानेसे
श्वास रोग से छुटकारा मिलता है।
अच्छी बातें, अच्छे लोग,

1 कप दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाकर पीने के हैं ये 13 फायदे

1 कप दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाकर पीने के हैं ये 13 फायदे
आयुर्वेद में हल्दी को सबसे बेहतरीन नेचुरल एंटीबायोटिक माना गया है। इसलिए यह स्किन, पेट और शरीर के कई रोगों में उपयोग की जाती है। हल्दी के पौधे से मिलने वाली इसकी गांठें ही नहीं, बल्कि इसके पत्ते भी बहुत उपयोगी होते हैं। ये तो
हुई बात हल्दी के गुणों की, इसी प्रकार दूध भी प्राकृतिक प्रतिजैविक है। यह शरीर के प्राकृतिक संक्रमण पर रोक लगा देता है। हल्दी व दूध दोनों ही गुणकारी हैं, लेकिन अगर इन्हें एक साथ मिलाकर लिया जाए तो इनके फायदे दोगुना हो जाते हैं। इन्हें एक साथ पीने से कई स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं दूर होती हैं


1 . हडि्डयों को पहुंचाता है फायदा
रोजाना हल्दी वाला दूध लेने से शरीर को पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम मिलता है। हड्डियां स्वस्थ और मजबूत होती है। यह ऑस्टियोपोरेसिस के मरीजों को राहत पहुंचाता है।
2. गठिया दूर करने में है सहायक
हल्दी वाले दूध को गठिया के निदान और रियूमेटॉइड गठिया के कारण सूजन के उपचार के लिए उपयोग किया जाता है। यह जोड़ो और पेशियों को लचीला बनाकर दर्द को कम करने में भी सहायक होता है।
3. टॉक्सिन्स दूर करता है
आयुर्वेद में हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल शोधन क्रिया में किया जाता है। यह खून से टॉक्सिन्स दूर करता है और लिवर को साफ करता है। पेट से जुड़ी समस्याओं में आराम के लिए इसका सेवन फायदेमंद है।
4. कीमोथेरेपी के बुरे प्रभाव को कम करते हैं
एक शोध के अनुसार, हल्दी में मौजूद तत्व कैंसर कोशिकाओं से डीएनए को होने वाले नुकसान को रोकते हैं और कीमोथेरेपी के दुष्प्रभावों को कम करते हैं।
5. कान के दर्द में आराम मिलता है
हल्दी वाले दूध के सेवन से कान दर्द जैसी कई समस्याओं में भी आराम मिलता है। इससे शरीर का रक्त संचार बढ़ जाता है जिससे दर्द में तेजी से आराम होता है।
6. चेहरा चमकाने में मददगार
रोजाना हल्दी वाला दूध पीने से चेहरा चमकने लगता है। रूई के फाहे को हल्दी वाले दूध में भिगोकर इस दूध को चेहरे पर लगाएं। इससे त्वचा की लाली और चकत्ते कम होंगे। साथ ही, चेहरे पर निखार और चमक आएगी।
7. ब्लड सर्कुलेशन ठीक करता है
आयुर्वेद के अनुसार, हल्दी को
ब्लड प्यूरिफायर माना गया है। यह शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को मजबूत बनाता है। यह रक्त को पतला करने वाला आैर लिम्फ तंत्र और रक्त वाहिकाओं की गंदगी को साफ करने वाला होता है।
8. शरीर को सुडौल बनाता है
रोजाना एक गिलास दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाकर लेने से शरीर सुडौल हो जाता है। दरअसल गुनगुने दूध के साथ हल्दी के सेवन से शरीर में जमा फैट्स घटता है। इसमें उपस्थित कैल्शियम और अन्य तत्व सेहतमंद तरीके से वेट लॉस में मददगार हैं।
9. स्किन प्रॉब्लम्स में है रामबाण
हल्दी वाला दूध स्किन प्रॉब्लम्स में भी रामबाण का काम करता है।
10. लिवर को मजबूत बनाता है
हल्दी वाला दूध लिवर को मजबूत बनाता है। यह लिवर से संबंधित बीमारियों से शरीर की रक्षा करता है और लिम्फ तंत्र को साफ करता है।
11. अल्सर ठीक करता है
यह एक शक्तिशाली एंटीसेप्टिक होता है और आंत के स्वस्थ बनाने के साथ-साथ पेट के अल्सर और कोलाइटिस का उपचार करता है। इससे पाचन बेहतर होता है और अल्सर, डायरिया और अपच नहीं होता।
12. माहवारी में होने वाले दर्द से राहत देता है
हल्दी वाला दूध माहवारी में होने वाले दर्द में राहत देता है। गर्भवती महिलाओं को आसान प्रसव, प्रसव बाद सुधार, बेहतर दूध उत्पादन और शरीर को जल्दी सामान्य करने के लिए हल्दी का दूध लेना चाहिए।
13. सर्दी-खांसी में है रामबाण
हल्दी वाले दूध के एंटीबायोटिक गुण के कारण सर्दी-खांसी में ये एक कारगर दवा का काम करता है। हल्दी वाला दूध मुक्त रेडिकल्स से लड़ने वाले एंटीऑक्सीडेंट का बेहतरीन स्रोत है। इससे कई बीमारियां ठीक हो सकती हैं

घर में बनाये चटपटा कढ़ाई पनीर

पनीर कई तराकों से बनाया जाता है लेकिन कढाई पनीर एक एेसी डिश है जो एक स्पाईसी टेस्ट भी देती है और देखने में भी बहुत अच्छी लगती है आइये जानते है इसकी रेसिपी के बारे में –


सामग्री-
300 ग्राम पनीर,2 शिमला मिर्च,3 प्याज बारीक कटे हुए,3 टमाटर,2  हरी मिर्च बारीक कटी,1 टुकड़ा अदरक कद्दूकस किया हुआ,2 टेबल स्पून घी ,आधा छोटा चम्मच जीरा ,1/2 छोटा चम्मच हल्दी ,1/2 छोटा चम्मच धनिया पाउडर
1/4 छोटा चम्मच लाल मिर्च,1/2 छोटा चम्मच गरम मसाला ,1/2 चम्मच टॅमाटो साॅस,थोड़ी सी फुल क्रीम
नमक स्वादानुसार,थोड़ा सा हरा धनिया
विधि –
1-पनीर और शिमला मिर्च को चौकोर टुकड़ों में काट लीजिए.

2-कढ़ाई में घी डाल कर गर्म करें और उसमें शिमला मिर्च भून कर अलग निकाल लें.फिर जीरा डाल कर भूनिए. अब इसमें प्याज डालकर ब्राउन होने तक भूनें.

3-अब इसमें हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर ,1 कटा हुआ टमाटर, हरी मिर्च और अदरक डालकर 1 मिनिट तक भूनें और ढक दें. धीमी आंच पर 3 मिनिट तक पकाएं.

4-अब इसमें 2 टमाटर की प्यूरी डालकर घी ऊपर आने तक भूनें.

5-फिर इसमें भूने हुए शिमला मिर्च डालकर मिलाए.

6-अब पनीर के टुकड़े,थोड़ा सा पानी, नमक, लाल मिर्च पाउडर और गरम मसाला डाल कर हिलाते हुए 1-2 मिनिट तक पकाएं.

7-अब आंच बंद कर दें और ऊपर से टॅमाटो साॅस और क्रीम डालकर अच्छे से मिला दें.


8-कढाई पनीर तैयार है, इसे हरा धनिया डालकर गर्म-गर्म चपाती या नान के साथ सर्व करें.

पित्त की थेली – Gallbladder पथरी के रामबाण घरेलू उपाय एवं उपचार

पहले 5 दिन रोजाना 4 ग्लास एप्पल जूस (डिब्बे वाला नहीं) और 4 या 5 सेव खायें …..
छटे दिन डिनर नां लें ….

पथरी के रामबाण घरेलू उपाय एवं उपचार:इस छटे दिन शाम 6 बजे एक चम्मच ”सेधा नमक” ( मैग्नेश्यिम सल्फेट ) 1 ग्लास गर्म पानी के साथ लें …


शाम 8 बजे फिर एक बार एक चम्मच ” सेंधा नमक ” ( मैग्नेश्यिम सल्फेट ) 1 ग्लास गर्म पानी के साथ लें …
रात 10 बजे आधा कप जैतून ( Olive ) या तिल (sesame) का तेल – आधा कप ताजा नीम्बू रस में अच्छे से मिला कर पीयें …..
सुबह स्टूल में आपको हरे रंग के पत्थर मिलेंगे …

दोस्तों इस पोस्ट को शेयर करना न भूले. आपके एक शेयर किसी के बहुत काम आ सकता है |

हमेशा याद रखें पूजा करने के ये 12 नियम…

अगर आप रोज पूजा करते हैं और आपका मन अशांत रहता है तो इसका मतलब है कि आप कि पूजा-पाठ में कहीं कुछ गलत हो रहा है. मन की शांति और जिस भी मनोकामना से पूजा की जा रही है, उसकी पूर्ति के लिए परे विधान से पूजा का किया जाना जरूरी है. यहां जानते हैं कि पूजा के दौरान किन बातों का ध्यान रखें और कुछ जरूरी नियमों का पालन कैसे करें…


1. शिवजी, गणेशजी और भैरवजी को तुलसी नहीं चढ़ानी चाहिए.
2. तुलसी का पत्ता बिना स्नान किए नहीं तोड़ना चाहिए. शास्त्रों के अनुसार यदि कोई व्यक्ति बिना नहाए ही तुलसी के पत्तों को तोड़ता है तो पूजन में ऐसे पत्ते भगवान द्वारा स्वीकार नहीं किए जाते हैं.
3. तुलसी के पत्तों को 11 दिनों तक बासी नहीं माना जाता है. इसकी पत्तियों पर हर रोज जल छिड़कर पुन: भगवान को अर्पित किया जा सकता है.
4. रविवार, एकादशी, द्वादशी, संक्रान्ति तथा संध्या काल में तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ना चाहिए.
5. सूर्य देव को शंख के जल से अर्घ्य नहीं देना चाहिए.
6. दूर्वा (एक प्रकार की घास) रविवार को नहीं तोड़नी चाहिए.
7. बुधवार और रविवार को पीपल के वृक्ष में जल अर्पित नहीं करना चाहिए.
8. प्लास्टिक की बोतल में या किसी अपवित्र धातु के बर्तन में गंगाजल नहीं रखना चाहिए. अपवित्र धातु जैसे एल्युमिनियम और लोहे से बने बर्तन. गंगाजल तांबे के बर्तन में रखना शुभ रहता है
9. केतकी का फूल शिवलिंग पर अर्पित नहीं करना चाहिए.
10. किसी भी पूजा में मनोकामना की सफलता के लिए दक्षिणा अवश्य चढ़ानी चाहिए.
11. मां लक्ष्मी को विशेष रूप से कमल का फूल अर्पित किया जाता है. इस फूल को पांच दिनों तक जल छिड़क कर पुन: चढ़ा सकते हैं.
12. घर के मंदिर में सुबह एवं शाम को दीपक अवश्य जलाएं. एक दीपक घी का और एक दीपक तेल का जलाना चाहिए.
13. सूर्य, गणेश, दुर्गा, शिव और विष्णु, ये पंचदेव कहलाते हैं, इनकी पूजा सभी कार्यों में अनिवार्य रूप से की जानी चाहिए. प्रतिदिन पूजन करते समय इन पंचदेव का ध्यान करना चाहिए. इससे लक्ष्मी कृपा और समृद्धि प्राप्त होती है.

लौंग से बदले अपना भाग्य

आज हम आपको लौंग के स्वास्थ्य लाभ नहीं बताने वाले हैं बल्कि ज्योतिष अनुसार ऐसे प्रयोग बताने वाले हैं जिनको करने के बाद आपकी जिंदगी में रुके हुए हर काम प्रारंभ हो जाएंगे. संकटों से मुक्ति मिल जाएगी. धन की कमी भी तत्काल ही दूर हो जाएगी.लौंग के कुछ आसान उपयो से आप मालामाल बन सकते हैं.


जानिए कैसे आपकी रसोई में रखा लौंग आपके भाग्य को बदलने में सक्षम है.
1-सात बार बजरंग बाण का पाठ करें तथा हनुमानजी को लड्डू का भोग लगाएं और पांच लौंग पूजा स्थान में देशी कर्पूर के साथ जलाएं. फिर भस्म से तिलक करके बाहर जाएं. यह प्रयोग आपके समस्त शत्रुओं को परास्त कर देगा
2-कच्ची धानी के तेल के दीपक में लौंग डालकर हनुमानजी की आरती करें. अनिष्ट दूर होगा और धन भी प्राप्त होगा.
3-रूके हुए कार्यों की सिद्धि के लिए यह प्रयोग बहुत ही लाभदायक है. गणेश चतुर्थी को गणेश जी का ऐसा चित्र घर या दुकान पर लगाएं, जिसमें उनकी सूंड दाईं ओर मुड़ी हुई हो. इसकी आराधना करें.और अब जब भी कहीं काम पर जाना हो, तो एक लौंग तथा सुपारी को साथ ले कर जाएं, तो काम सिद्ध होगा. लौंग को चूसें तथा सुपारी को वापस ला कर गणेश जी के आगे रख दें.
4-कई बार व्यक्ति को किसी कारणवश या मजबूरी में अपनी इच्छा के विरुद्ध कोई कार्य करना पड़ता है. ऐसे में इसका नुकसान भी उठाना पड़ता है. यदि ऐसा है तो आप कपूर और एक फूल वाली लौंग एक साथ जलाकर दो-तीन दिन में थोड़ी-थोड़ी खा लें. आपकी इच्छा के विपरीत कार्य होना बंद हो जाएगा

7 बीमारियों की एक दवा= लहसुन+काली मिर्च+लौंग

क्या आप अक्सर यह सोचते हैं कि आपको छोटी से छोटी समस्या के लिए भी डॉक्टर के पास न जाना पड़े और महंगे ट्रीटमेंट ना कराने पड़ें? हम सब यही सोचते हैं जब बात दवाइयों पर पैसे खर्च करने की आती है क्यूंकि आजकर इलाज कुछ ज़्यादा ही महंगे होते जा रहे हैं।


 READ: 7 बीमारियों की एक दवा= नमक+नींबू+काली मिर्च क्या आपको पता है कि अगर आप काफी समय से एंटीबॉयटिक ले रहे हैं तो यह आपके रोग प्रतिरोधी क्षमता को कमज़ोर करता है? हाँ, कई शोधों के द्वारा यह पता चला है। इसलिए अगर आपको कोई मामूली समस्या हो तो इसका प्राकृतिक इलाज करें। READ: पीयें जीरे और गुड़ का पानी, दूर होंगी शरीर की सारी बीमारियां क्या आपको पता है लहसुन, हल्दी और लौंग के कई औषधिय गुण होते हैं? आप 3 पीस लहसुन, 2 छोटीी चम्मच हल्दी और 3 लौंग को मिक्‍सी में पीस कर 1 कप गर्म दूध या गर्म पानी में मिलाकर रोज़ रात में पीकर सोएं। ऐसा करने से शरीर की 7 बीमारियां दूर रहेंगी।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.