Header Ads

एक महीने में वजन घटाने के लिए टिप्स

1. पर्याप्त नींद लेवें क्योंकि नींद का अभाव आपके मेटाबोलिज्म को प्रभावित कर वजन बढ़ा सकता है। प्रतिदिन सात से आठ घण्टे की नींद अवश्य लेवें।
2. बहुत ज्यादा भूख लगने का इंतजार नहीं करें। जब आप भूखे होंगे तो आप गलत भोजन का चुनाव करेंगें और अस्वास्थ्यकारी खाद्य पदार्थों को नहीं खाने की आपकी इच्छाशक्ति भी कम होगी

3. आप हमेशा जितना खाते है उससे थोड़ा कम खाने की आदत डालें। यदि इसे आप हर भोजन में करते है तो आप एक दिन में कम से कम 100 कैलोरी खाने से बच जाते है
4. अपने आप को हमेशा हाइड्रेटेड रखें। आधे से ज्यादा बार प्यास को भूख समझ लिया जाता है जिससे आपके आहार योजना में बाधा आ सकती है। पर्याप्त मात्रा में पानी पीने के अनगिनत फायदें है विशेषरूप से वजन कम करने की प्रक्रिया में जिसमें यह सूजन कम करने, शरीर से विषैले पदार्थों को साफ करने और मेटाबोलिक दर को बढ़ाने में सहायता करता है। प्रभावीरूप से वजन घटाने के लिए रोज कम से कम 2 लीटर पानी पीने का प्रयास करें।

ब्रेकफास्ट (Breakfast for weight loss in Hindi):

अपने दिन की शुरूआत नींबू और शहद मिले हुए एक गिलास गुनगुने पानी से करें। दूध और कॉर्नफ्लेक्स या दूध और पोहा/उपमा ब्रेकफास्ट के लिए उत्तम है। यदि आप उत्तर भारतीय है और आप पराठे खाने के आदी है तो आप इसे अभी भी खा सकते है लेकिन इन्हें कम तेल के साथ स्वास्थ्यकारी बनाये। केवल आलू पराठा की बजाए इसे आलू और अन्य सब्जियों जैसे गाजर और फूलगोभी के साथ मिलाकर बनाएं। इसी तरह यदि आप दक्षिण भारतीय है तो आप इडली, डोसा, उत्तपम खा सकते है लेकिन मेदू वडा का सेवन नहीं करें क्योंकि यह तला हुआ होता है।

लंच: (Right Lunch for Weight Loss in Hindi)

आचार और पापड़ का सेवन नहीं करें। स्नेक्स में सूखे मेवे, मौसमी या कोई भी फल हो सकते है। आप एक कटोरी अंकुरित अनाज भी अल्पाहार के रूप में ले सकते है।

डिनरः (Dinner for weight loss in Hindi)


सामान्यतया डिनर जल्दी करें और हल्का करें। डिनर में 2 रोटी के साथ एक कटोरी सब्जी या दाल ले सकते है। आप डिनर में एक कटोरी सूप भी ले सकते है

शुगर और मोटापे के लिए बन सकता है काल ये पत्ता

काफी लोग इस उपयोग से लाभान्वित हो रहे हैं ! आप भी इसको उपयोग कर के इसका स्वास्थय लाभ ले सकते हैं. यह पौधा “अकबन,आक, आकड़ा, मदार है. इसके पत्ते के इस्तेमाल से आप सिर्फ 7 दिन से 3 महीने के भीतर शुगर से मुक्त हो सकते हैं और मोटापे से भी मुक्त हो सकते हैं. कई लोगों को तो इसका रिजल्ट सातवें दिन ही मिल जाता है. ऐसा बेहतरीन है ये तो आइये जाने इसके पत्ते का प्रयोग


इस पौधे की पत्ती को उल्टा (उल्टा का मतलब पत्ते का खुदरा भाग) कर के पैर के तलवे से सटा कर मोजा पहन लें ! सुबह और पूरा दिन लगा रहने दे रात में सोते समय निकाल दें और थोड़ी देर पैर को हवा लगने दें फिर दोबारा दूसरा पत्ता बाँध लीजिये. एक सप्ताह में ही आपका “शुगर” लेवल सामान्य् हो सकता है और हाँ इससे आपका बाहर निकला पेट भी कम हो सकता है. ये पेड़ हर जगह मिलता है और इसकी कई जातियां है आपको जो भी जिस भी जाती का मिले ले लीजिये. और हाँ एक बात पर धयान दें इसका पत्ता तोड़ते समय इसका दूध आँख में ना जाये नहीं तो आप की आँखें खराब हो सकती है. क्यों हैं ना ये बेहतरीन. और इस प्रयोग को करने में कोई खर्चा भी नहीं. तो आज ही करना शुरू करें और फायदा उठायें.
एक बात का ध्यान रखें, कई लोग जो शुगर और मोटापे से परेशान हैं वो अपनी दिन चर्या को बहुत मैनेज रखतें है जैसे सुबह उठ कर सैर करना, खान पान पर ध्यान देना, वो लोग अक्सर ऐसा कोई प्रयोग देख कर ढीले और आलस पाल लेते हैं तो उनसे बिनती है के वो अपनी दिनचर्या को पहले जैसा ही रखें. ऐसा करने से उनको रिजल्ट बहुत जल्दी मिलेगा.
आपको ये पोस्ट कैसी लगी हमारे फेसबुक अकाउंट पर और नीचे कमेंट बॉक्स में लिखना ना भूलें.
धन्यवाद.

छाछ पीने के फायदे

अक्सर आपने लोगों को छाछ पीते हुए देखा होगा खासकर लंच में। यह गर्मियों में सबसे ज्यादा पिया जाने वाला खाद्य पदार्थ है। यह न केवल शरीर को ठंड़ा रखता है बल्कि डिहाइड्रेशन और पाचन में भी फायदेमंद है। बहुत जगहों में छाछ को  मट्ठा या तक्र भी कहते हैं। यह एक ऐसा पेय पदार्थ है जो दही से बनता है। मूलत: दही को मथनी से मथकर घी निकालने के बाद बचे हुए द्रव को मट्ठा या छाछ कहते थे


लोगों में छाछ का महत्व दूध और जूस की तरह है। जिस तरह सुबह दूध और रात को जूस पीना आवश्यक है, उसी तरह दोपहर के समय छाछ पीना आवश्यक है। जो व्यक्ति इस तरह का रुटीन रखता है उसे शरीर में किसी भी तरह की कमी महसूस नहीं होती। छाछ बाजार में बिकने वाले महंगे शीतल पेयों से लाख गुना अच्छी है। कई जगहों में तो इसे अमृत का नाम दिया गया है।
पाचन शक्ति दुरुस्त रहती है
यदि आप गैस, एसिडिटी, अपच और कब्ज की समस्या से पीड़ित हैं तो आपको छाछ का सेवन करना चाहिए। छाछ का सेवन से शरीर में पाचन शक्ति बढ़ती है। आपनी पाचन शक्ति को दुरुस्त करने के लिए लोग इसका सबसे ज्यादा सेवन करते हैं।

डिहाइड्रेशन की कमी करता है दूर
पानी की कमी से अवशिष्‍ट पदार्थों का विष शरीर में फैल जाता है उसे हम डिहाइड्रेशन कहते हैं। लोग इस बीमारी के शिकार गर्मियों में सबसे ज्यादा होते हैं। भारी गर्मी की वजह से शरीर में पानी की कमी हो जाती है, इसलिये ऐसे में आपको छाछ का सेवन करना चाहिये।
पोषक तत्व देता है
शरीर को स्वस्थ रखने के लिए कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, वसा, विटामिन और खनिज जैसे  पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। ताजा मट्ठा पीने से शरीर में पोषक तत्वों की पूर्ति होती है।
शरीर से विषैले पदार्थ को निकालता है बाहर
आज जिस तरह की हमारी जीवनशैली है, उससे हम अपने शरीर का ध्यान नहीं दे पाते, जिसके चलते हमारे शरीर में कई विषैले पदार्थ जमा होने लगते है और बीमारी के शिकार होने लगते हैं। ऐसे में आपको छाछ या मट्ठा का सेवन करना चाहिए।
कैल्शियम का स्रोत
हड्डियों और जोडों को हेल्दी बनाए रखने में अहम भूमिका निभाने वाला कैल्शियम स्त्री-पुरुष, बच्चे बुढ़े जवान हर किसी के लिए एक जरूरत है। कैल्शियम ज्यादातर डेयरी प्रोडक्ट में मिलता है। छाछ एक डेयरी प्रोडक्‍ट है इसलिये इसमें कैल्‍शियम खूब भारी मात्रा में पाया जाता है।
रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है

आपने देखा होगा कि कुछ लोग कम बीमार होते हैं तो कुछ लोग ज्यादा। रोग प्रतिरोधक क्षमता हमें कई बीमारियों से सुरक्षित रखती है। छोटी-मोटी ऐसी कई बीमारियां होती हैं जिनसे हमारा शरीर खुद ही निपट लेता है। अगर आप रोजाना छाछ का सेवन करते हैं, तो इससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोत्तरी होगी और काफी ऊर्जावान महसूस करोगे। इसमें मौजूद हेल्‍दी बैक्‍टीरिया और कार्बोहाइड्रेट्स और लैक्‍टोस आपको स्वस्थ रखते हैं।

घुटनों के दर्द की दवा – मात्र 7 दिन में दर्द गायब

घुटनों के दर्द की समस्या आजकल आम होती जा रही है कई बार ऐसा भी होता है कि किसी कारणवश चोट लग जाने से या बढ़ती हुई उम्र के कारण या फिर व्रद्धावस्था में हड्डियों के कमजोर हो जाने से अक्सर घुटनों में दर्द होने लगता है. इस पोस्ट में हम आपको घुटनों  के दर्द से राहत दिलाने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे बता रहे हैं जिनका उपयोग करने पर लगभग 7 दिन में ही आपको घुटनों के दर्द से राहत मिल जाएगी.

घुटनों के दर्द का इलाज – Knee Pain Treatment In Hindi

यदि आपके घुटनों में लगातार या थोड़ा-थोड़ा दर्द या तेज दर्द बना रहता है तो यहां दिए गए घरेलू नुस्खे आजमाएं और आपको 7 से लेकर 15 दिन के अंदर-अंदर इन घरेलू नुस्खों से पूरा पूरा आराम मिल जाएगा और फिर कभी आपके घुटने दर्द नहीं करेंगे. घुटनों के लिए दर्द निवारक दवा बनाने के लिए आप नीचे दिए गए कुछ नुस्खे आजमाएं.

दर्द निवारक हल्दी का पेस्ट

किसी चोट का दर्द हो
या घुटने का दर्द आप इस दर्द निवारक हल्दी के पेस्ट को बनाकर अपनी चोट के स्थान पर या घुटनों के दर्द के स्थान पर लगाइए इससे बहुत जल्दी आराम मिलता है. दर्द निवारक हल्दी का पेस्ट कैसे बनाएं इसके लिए आप सबसे पहले एक छोटा चम्मच हल्दी पाउडर लें और एक चम्मच पिसी हुई चीनी और इसमें आप बूरा या शहद मिला लें, और एक चुटकी चूना मिला दें और थोड़ा सा पानी डाल कर इसका पेस्ट जैसा बना लें.
इस लेप को बनाने के बाद अपने चम्मच के स्थान पर यार जो घुटना का दर्द करता है उस स्थान पर स्लिप को लगा ले और ऊपर से किराए बैंडेज या कोई पुराना सूती कपड़ा बांध दें और इसको रातभर लगा रहने दें और सुबह सादा पानी से इसको धो ले इस तरह से लगभग 7:00 से लेकर 1 सप्ताह से लेकर 2 सप्ताह तक ऐसा करने से इसको लगाने से आपके घुटने की सूजन मांसपेशियों में खिंचाव अंदरुनी च** होने वाले दर्द में बहुत जल्दी आराम मिलता है और यह पृष्ठ आप के दर्द को जड़ से खत्म कर देता है.


दर्द के आराम दिलाये सौंठ का लेप

सौंठ से बनी दर्द निवारक दवा सौंठ भी एक बहुत अच्छा दर्द निवारक दवा के रूप में फायदेमंद साबित हो सकता है, सौंठ से दर्दनिवारक दवा बनाने के लिए एक आप एक छोटा चम्मच सौंठ का पाउडर व थोड़ा आवश्यकतानुसार तिल का तेल इन दोनों को मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट जैसा बना ले.
दर्द या मोच के स्थान पर या चोट के दर्द में आप इस दर्द निवारक सौंठ के पेस्ट को हल्के हल्के प्रभावित स्थान पर लगाएं और इसको दो से 3 घंटे तक लगा रहने दें इसके बाद इसे पानी से धो लें ऐसा करने से 1 सप्ताह में आपको घुटने के दर्द में पूरा आराम मिल जाता है और अगर मांसपेशियों में भी खिंचाव महसूस होता है तो वह भी जाता रहता है.

खजूर से घुटने में दर्द का इलाज

सर्दियों के मौसम में रोजाना 5-6 खजूर खाना बहुत ही लाभदायक होता है, खजूर का सेवन आप इस तरह भी कर सकते हैं रात के समय 6-7 खजूर पानी में भिगो दें और सुबह खाली पेट इन खजूर को खा ले और साथ ही वह पानी भी पी ले जिनको जिसमें आपने रात में खजूर भिगोए थे. यह घुटनों के दर्द के अलावा आपके जोड़ों के दर्द में भी आराम दिलाता है.

बालो का झड़ना रुकेगा सिर्फ एक प्याज से

खुबसूरत बाल हर कोई चाहता है लेकिन व्यस्त दिनचर्या के चलते बालों का ख्याल रखना नामुकिन होता जा रहा है. घर पर बालों को धोना ही कई महिलाओं को अखरता है जिसके लिए वह महंगे पार्लर में जा कर हेयर स्पा आदि लेती हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं बालों की समस्याओं के लिए आपके घर में एक रामबाण इलाज मौजूद है!


बालों का झड़ना, असमय सफेदी, रूसी की समस्या तो आम हो गई है. बालों की इन उलझनों के लिए प्याज एक वरदान है! जी हाँ, प्याज आपके बालों को झड़ने, रुसी, सफेदी और गंजे होते सिर की समस्याओं को दूर करती है |
प्याज  वैसे  तो भारत में बहुत आम वरतों में होने  वाला पदार्थ है | प्याज में सल्फर (Sulfur) नामक मिनरल भरपूर मात्र में होता है , जो के बालों के विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है | एक आम सा प्याज आपके बालों के बढ़ने की रफ़्तार को दोगुना तक बढ़ा सकता है |

जानते है कैसे काम आता है प्याज , हमारे बालों को घना और लम्बा करने में –

इस  प्रक्रिया में हम आपको बतायेंगे के केसे एक लाल रंग का प्याज भूरे रंग के बालों का उगना और बालों का झडना रोक सकता है | हमारे बालों का विकास  हमारे जींस (Genes) पर निर्भर करता है , लेकिन कई कारणों की वजेह से हमारे बालों का विकास रुक जाता है या कम हो जाता है | यह  विधि आप के लिए लाभदायक तो होगी ही बल्कि आगे चल कर आपके बचों को भी लाभ देगी

विधि :–

बालों को झड़ने से रोकने के लिए बालों पर प्याज़ के प्रयोग का सबसे बेहतरीन तरीका प्याज का रस के रूप में प्रयोग करना है। प्याज के रस के फायदे, 3-5 प्याज छीलें और उन्हें अच्छे से पीस लें। इस पेस्ट को अपने हाथों से निचोड़कर इसका रस निकाल लें। अब इस रस को अपने सिर पर तथा बालों पर लगाएं। अब इस रस को सिर पर आधे घंटे तक रहने दें एवं एक हलके शैम्पू का प्रयोग करके इसे धो दें। हफ्ते में 3 बार इस पद्दति का इस्तेमाल करने से मनचाहे परिणामों की प्राप्ति होगी। तुरंत अच्छे परिणाम पाने की आशा ना करें क्योंकि प्राकृतिक उपचारों में काफी समय लगता है।

दोबारा से बालों को उगाए प्याज का रस और शहद का उपचार (Onions and honey hair regrowth treatment)

एक कटोरी में 2 चम्मच शहद लें और इसमें एक चौथाई कप प्याज का रस डालें। इन दोनों को अच्छे से मिलाएं एवं सिर पर मसाज करते हुए धीरे धीरे लगाएं। बेहतरीन परिणामों के लिए इस प्रक्रिया का प्रयोग हफ्ते में 3 बार करें।

प्‍याज, ऑलिव ऑयल, नारियल तेल पैक-

इस पैक को बनाने के लिये कुछ प्‍याज ले कर पीस लीजिये और उसका रस निकाल लीजिये। उसमें चम्‍मच ऑलिव ऑयल और नारियल तेल मिलाइये। इस मिश्रण को बालों में लगाइये, जड़ों में इस तेल को न लगाएं। इसे 2 घंटे तक लगा रहने के बाद शैंपू से धो लें। इस पैक को आप रोज लगा सकते  हैं।

बालों का झड़ना, असमय सफेदी, रूसी की समस्या तो आम हो गई है. बालों के लिए डॉ नुस्खे नीम आयल  एक वरदान है! जी हाँ, डॉ नुस्खे नीम आयल आपके बालों को झड़ने, रुसी, सफेदी और गंजे होते सिर की समस्याओं को दूर करता  है | 

प्राइवेट पार्ट की खुजली को दूर करने के लिए अपनाएं ये उपाय!

गर्मियों में स्किन संबंधित कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है खासकर महिलाओं को। इन मौसम में अधिकतर महिलाओं को प्राइवेट पार्ट में खुजली की परेशानी होती हैं। पसीना या साफ-सफाई न रखने की वजह से प्राइवेट पार्ट में खुजली होने लगती है। कई बार इसके कारण उन्हें लोगों के सामने शर्मिंदा भी होना पड़ता है। इससे छुटकारा पाने के लिए महिलाएं कई तरह के प्रॉडक्ट्स का भी इस्तेमाल करती हैंं जोकि स्किन को नुकसान पहुंचाते है। आप कुछ घरेलू उपाय अपनाकर भी प्राइवेट पार्ट की खुजली से निजात पा सकते है।


1. एप्पल साइड विनेगर
2 चम्मच एप्पल साइड विनेगर को गुनगुने पानी में मिलाएं। 2-3 दिन इस पानी से प्राइवेट पार्ट की सफाई करें। एप्पल साइड विनेगर में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जिससे खुजली की समस्या दूर होती है।

2. लहसुन
लहसुन का सेवन करें। इसकी 2-3 कलियां चबाकर खाएं। इससे प्राइवेट पार्ट की खुजली की समस्या दूर होगी। 

3. दही
प्राइवेट पार्ट की खुजली से निजात पाने के लिए रोज 1 कप बिना चीनी वाला दही खाएं। इसके अलावा प्राइवेट पार्ट पर दही लगाएं और कुछ देर बाद पानी से धो लें।

4. नमक
नमक के गाढ़े घोल से पाइवेट पार्ट की सफाई करें। इससे बैक्टीरिया खत्म होते है और खुजली से आराम मिलता है। 
5. तुलसी की पत्तियां
तुलसी में एंटी फंगल गुण होते है। 2 कप पानी में तुलसी की कुछ पत्तियां डालकर उबाल लें। ठंडा होने पर पीएं। प्राइवेट पार्ट की खुजली दूर करने के लिए इस पानी को दिन में 2 बार पीएं

गर्दन की बढ़ी हुई चर्बी को कम करने के आसान टिप्स

मोटापे की वजह से शरीर को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसके सबसे ज्यादा असर पेट और गर्दन पर पड़ता है। मोटापे की वजह से गर्दन की चर्बी बढ़ जाती है जो देखने में बिल्कुल अच्छी नहीं लगती। ऐसे में कुछ एक्सरसाइज और खान-पान में बदलाव करके इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। आइए जानिए गर्दन की चर्बी को कम करने के तरीके


1.खान-पान में सुधार 
गर्दन के आस-पास की बढ़ी चर्बी को दूर करने के लिए अपने खाने में हरी सब्‍जियां, दूध,दही,साबुत अनाज और फल शामिल करें।

2.झुककर ना बैठे
बैठते समय गर्दन को झुकाकर ना बैठे। इससे मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं और चर्बी बढ़ने लगती है।

3.ज्यादा फैट वाला खाना
संतृप्त वसा से शरीर को किसी भी प्रकार का पोषण नहीं मिलता। इससे शरीर का वजन बढ़ता है। इसके लिए फास्‍ट फूड और पैकेट वाली चीजें खाने से बचें।

4.प्रोटीन 
गर्दन की चर्बी को दूर करने के लिए चिकन और मछली खाएं क्‍योंकि इनमें काफी प्रोटीन होता है, जो मासपेशियां को मजबूत बनाता है। 

5.योग करे
ब्रह्म मुद्रा योग करने से गर्दन की चर्बी कम होती है। इस आसन में गर्दन को चारों दिशा में घुमाया जाता है। इसके अलावा गर्दन के और भी कई व्यायाम करने से फायदा होता है।

6.ज्यादा पानी पीएं
प्रतिदिन कम से कम 8-10 गिलास पानी पीएं। ज्यादा पानी पीने से भूख कम लगती है। जो वजन को कम करने में फायदेमंद है। ऐसे में पर्याप्‍त मात्रा में पानी पीने से त्वचा लटकेगी नहीं।

Diabetes को रखना है कंट्रोल तो जरूर खाएं ये सब्जियां

शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ जाने की वजह से डायबिटीज की समस्या हो जाती है। इस वजह से रोगी को मीठी चीजों से परहेज रखना पड़ता है। मीठे के अलावा और भी कई चीजों का सेवन करने से शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। इसके लिए हरी पत्तेदार और कुछ ऐसी सब्जियों का सेवन करें जिससे डायबिटीज को नियंत्रण में रखा जा सकता है। आइए जानिए शुगर को कंट्रोल में रखने के लिए किन सब्जियों का सेवन करें।


1. हरी सब्जियां
हरी सब्जियां खाने से शुगर को नियंत्रण में रखा जा सकता है। इसके लिए ब्रोकली और पत्तागोभी जैसी सब्जियां खाएं। जिसमें काफी मात्रा में फाइबर, विटामिन्स और मैगनीज जैसे तत्व होते हैं जो डायबिटीज के रोगियों के लिए काफी फायदेमंद साबित होते हैं।
2. अरबी
इसमें पोटेशियम, विटामिन ए,सी, कैल्शियम और फाइबर होता है जो शरीर को कई तरह के फायदे पहुंचाता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडैंट शरीर में शुगर की मात्रा को कंट्रोल में रखता है।
3. लहसुन
लहसुन का इस्तेमाल हर घर में आम किया जाता है। इससे सेहत को कई फायदे होते हैं। डायबिटीज के रोगी को रोज सुबह खाली पेट लहसुन की 2-3 कलियां चबानी चाहिए जिससे फायदा होता है।
4. गाजर
गाजर में बीटा कैरोटीन पाया जाता है जो इंसुलन को नियंत्रित रखता है। गाजर की सब्जी या स्लाद के रूप में खाने से डायबिटीज के रोगी को काफी फायदा होता है।
5. खीरा
खीरे में विटामिन के और पोेटेशियम जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो शुगर के मरीजों के लिए काफी फायदेमंद होते हैं।

प्याज से करे लंबे बालो का सपना पूरा

प्याज  वैसे तो भारत में बहुत आम वरतों में होने वाला पदार्थ है. प्याज में सल्फर नामक मिनरल भरपूर मात्र में होता है, जो के बालों के विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है. एक आम सा प्याज आपके बालों के बढ़ने की रफ़्तार को दोगुना तक बढ़ा सकता है.


1-बालों को झड़ने से रोकने के लिए बालों पर प्याज़ के प्रयोग का सबसे बेहतरीन तरीका प्याज का रस के रूप में प्रयोग करना है.

2- 3-5 प्याज छीलें और उन्हें अच्छे से पीस लें.
3-इस पेस्ट को अपने हाथों से निचोड़कर इसका रस निकाल लें.

4-अब इस रस को अपने सिर पर तथा बालों पर लगाएं.
5-अब इस रस को सिर पर आधे घंटे तक रहने दें एवं एक हलके शैम्पू का प्रयोग करके इसे धो दें.

कुछ प्याज ले कर पीस लीजिये और उसका रस निकाल लीजिये. उसमें चम्मच ऑलिव ऑयल और नारियल तेल मिलाइये इस मिश्रण को बालों में लगाइये, जड़ों में इस तेल को न लगाएं इसे 2 घंटे तक लगा रहने के बाद शैंपू से धो लें. इस पैक को आप रोज लगा सकते हैं.

कच्‍चे पपीते का यह ड्रिंक पीने से छू मंतर हो जाता है गठिया का दर्द

पैर की उंगलियों, घुटनों और एडी में गस के दर्द होता है तो समझिये कि खून में यूरिक एसिड की मात्रा बढ गई है। जब यूरिक एसिड क्रिस्‍टल के रूप में हमारे हाथ और पैरों के जोड़ों में जम जाता है तो उसे गाउट की बीमारी बोलते हैं

अगर गाउन की समस्‍या को अनदेखा कर दिया गया तो समझ लीजिये कि उठना बैठना मुश्‍किल हो जाएगा। हांलाकि एक ड्रिंक है जो कच्‍चे पपीते और पानी से तैयार की जाती है, जिसको दिनभर पीने से गाउट के दर्द में धीरे धीरे आराम मिल जाता है।
आइये जानते हैं इसे बनाने की विधि-
2 लीटर साफ पानी ले कर उबाल लें।
एक मध्‍यम साइज का कच्‍चा पपीता ले कर उसे भली प्रकार से धो लें।
पपीते के अंदर से बीज निकाल कर उसके छोटे छोटे टुकडे़ कर लें।
इन पपीते की टुकड़ों को उबलते पानी में डाल कर 5 मिनट तक उबालें।
फिर इसमें 2 चम्‍मच ग्रीन टी की पत्‍तियां डालें और कुछ और समय तक उबालें।
अब पानी को छान कर ठंडा कर लें और दिन भर में इसे पीते रहें। आपको फायदा जरुर होगा

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.