Header Ads

सुबह के समय बनायें शारीरिक संबंध, जाने क्या है फायदे

गुप्तांगों की लम्बाई बढ़ाने के कुछ आसान तरीके


सेक्स सुख प्राप्त करने में पेनिस का आकार एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कई लोगों को इस बात की चिंता सताती रहती है कि उनका गुप्तांग दूसरों की तुलना में छोटा है। यहां तक कि कई महिलाओं को भी बड़े गुप्तांग वाले पुरुष ही पसंद आते हैं। यह बात साबित हो चुकी है कि छोटे गुप्तांग वाले पुरुषों के मुकाबले बड़े गुप्तांगों वाले पुरुष महिलाओं को ज़्यादा संतुष्ट करने की क्षमता रखते हैं।

# कसरत: आपको अपने पेनिस को परफेक्ट स्ट्रेच देना होगा जैसे दुहना के रूप में थन को दिया जाता है। पेनिस को चारों दिशाओं में स्ट्रेच करें। आप इस प्रक्रिया को 10-15 मिनट तक दोहराएं। लिंग के रक्त संचार को उचित करने के लिए अंगूठे की मदद से लिंग के निचले हिस्से पर दवाब डालते हुए उपर को ओर ले जाएँ।

अन्य उपाय:

# लिंग की लम्बाई बढ़ाने के लिए गर्म पानी में तौलिए को भिगो कर मसाज दे सकते है।

# इसके लिए व्यायाम के अलावा आप अपने जीवन में योग और मेडिटेशन को शामिल कर सकते है।

# भोजन में जिंक, ओमेगा 3 फैटी एसिड और विटामिन बी-6 शामिल करना लाभकारी होगा।

# हेल्थी लाइफस्टाइल, कम तनाव वाली और स्मोकिंग रहित जिंदगी लिंग की लम्बाई बढ़ा सकती है।


सुबह के समय बनायें शारीरिक संबंध, जाने क्या है फायदे


सेक्स जितना ही लोगो ने लिए मनोरंजक रहा है उतना ही यह शोध का विषय भी रहा है। अक्सर इस पर एक्सपर्ट्स तरह-तरह की अपनी राय देते रहते हैं। शोध में कभी-कभी सेक्स को लेकर कुछ रोचक तथ्य सामने आते हैं तो कुछ चीजें हैरान भी कर देती हैं। हाल ही में हुए एक ताजा शोध में सुबह सेक्स करने को लेकर कुछ नतीजे सामने आए हैं। एक्सपर्ट्स ने माना है कि अर्ली मॉर्निंग सेक्स हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है।


अगर हम सुबह हड़बड़ी में उठने के बजाये सेक्स करने की आदत डाले तो हमारा दिन और स्वास्थ्य काफी हद तक बेहतर हो जाता है। जब हम सुबह की शुरूआत संभोग के साथ करते हैं तो हमें कई फायदे होते है।

* वह कपल जो अपनी सुबह की शुरुआत शारीरिक संबंध बनाकर करते हैं, वह दूसरों की तुलना में काफी स्वस्थ होते हैं।

* सुबह के समय संभोग करने से फील गुड केमिकल आॅक्सीटोसिन निकलता है जो कई जन्मों तक हमें एक दूसरे के साथ बांधे रखता है।


* इसके अलावा रोजाना सुबह सेक्स करने से आप दिन भर उत्साहित महसूस करते हैं।

* सुबह के समय शारीरिक संबंध बनाने से सर्दी और कफ से भी आराम मिलता है। इसी के साथ हमारे नाखूनों और बालों को भी काफी फायदा  पहुंचता है।

* एक सप्ताह में कम से कम 3 बार सुबह शारीरिक संबंध बनाने से दिल के दौरे का खतरा भी कम होता है।

बिना सम्बन्ध बनाये भी महिला हो सकती है प्रैग्नेंट, जानिए कैसे


यह हम सब जानते है कि बिना सेक्स किये महिला कभी कभी गर्भवती नही हो सकती है। इस तरह की जानकरी हर छोटे बड़े और पढ़े और अनपढ़ के पास होती है। हमने भी अब तक यही जाना है। सभी लोग जानते है कि महिलाओं को गर्भवती करने के लिए सेक्स करना जरूरी है लेकिन आपको बता दें महिलाएं बिना सेक्स संबध बनाए भी गर्भवती हो सकती हैं।


बिना सेक्स के कैसे हो सकती है प्रग्नेंट:

* फोरप्लें: अधिकतर कपल्स की आदत होती है कि सेक्स से पहले फोरप्लें करने की और यह उत्तेजना बढ़ाना में काफी सहायक भी होता है। ऐसा करने से पुरूषों का वीर्य बाहर भी निकल जाता है। और अगर यह वीर्य महिला की योनि तक पहुंच गया तो महिला गर्भवती हो सकती हैं।

*  फिंगरिंग: फिंगरिंग करना भी महिला के प्रग्नेंट का कारण हो सकता है। अगर वीर्य पुरूषों की उंगली मे लगा हो और यदि वह महिला के साथ फिंगरिंग करता हो तो उससे भी महिला गर्भवती हो सकती है। फिंगरिंग करते वक्त इसका ध्यान रखना बड़ा ही आवश्यक है।


इसलिए उम्र के साथ आती है शुक्राणुओं की में कमी


उम्र के साथ-साथ स्पर्म में कमी आना लाजमी है लेकिन जवानी में ऐसी समस्या से आपकी शादीशुदा जिंदगी में तूफ़ान खड़ा हो जाता है। पत्नी भी संभोग के दौरान नाखुश रहती है साथ ही बच्चे के जन्म लेने में भी परेशानी बनी रहती है. आज हम आपको बताते हैं कि किन कारणों से स्पर्म की कमी हो सकती है. सिगरेट पीने से वीर्य में कैडमियम का स्तर बढ़कर शुक्राणुओं की संख्या में कमी होने लगती है।


* कैडमियम डी.एन.ए. को क्षति पहुँचाता है जिससे शुक्राणुओं के संख्या में कमी आ जाती है। तनाव के समय शरीर का रक्त संचार काफी तीव्र गति से काम करता है और यही रक्त में उच्च स्तर के होने से स्ट्रेस हार्मोन बढ़ने लगते है और शुक्राणुओं की संख्या घटने लगती है. संभोग करने के दौरान सुरक्षा का ध्यान नहीं रखने पर यौन संचारित रोग होने की संभावना बढ़ जाती है जो शुक्राणुओं के डी.एन.ए. और संख्या को पहले प्रभावित करता है। गर्म बाथटब, गर्म शावर, लेपटॉप को गोद में रखकर काम करने से भी दूर रहें।

* इसकी बढ़ती हिटिग आपकी शुक्राणु की क्षमता को कम कर नंपुसंक बना सकती है इसलिये जो लोग लबं समय तक इन गर्म चीजों के संपर्क में रहते है। उनके शुक्राणुओं पर इसका बुरा प्रभाव देखने को मिलता है। अगर आप सेक्स के दौरान एक्साइटमेंट बढ़ाने के लिए पिल्स या फिर करें का इस्तेमाल करते हैं तो ऐसा ना करें क्योंकि इसके इस्तेमाल से पुरूषों के लिंग में रक्त का संचार सही तरीके से नही हो पाता और शुक्राणुओं के उत्पादन का स्तर गिरने से शुक्राणुओं की संख्या में कमी आने लगती है। 

महिलाये ही क्यों होती है मासिक धर्म का शिकार, जाने इसके पीछे का राज


महिलाओं में मासिक धर्म होना एक सामान्य प्रक्रिया है। आयुर्विज्ञान के तौर पर देखा जाए तो यह प्रक्रिया एक निश्चित आयु के बाद शुरू होती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इसे स्त्री की कमजोरी माना जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इसके पीछे का कारण इंद्र द्वारा दिए गए श्राप को माना जाता है।


ब्रह्म हत्या का पाप से बचने के लिए इंद्र देव ने एक लाख वर्ष तक भगवान विष्णु की तपस्या की। तब भगवान ने इंद्र को एक उपाय सुझाया कि वे इस पाप के कुछ अंश को पेड़, पृथ्वी, जल और स्त्री को दे दे।

* पेड़: इंद्र ने ब्रह्म हत्या के पाप का एक चौथाई हिस्सा पेड़ को दिया और साथ ही ये वरदान भी दिया कि वह अपने आप को कभी भी जीवित कर सकता है।

* पानी: पाप का एक चौथाई हिस्सा लेने पर पानी को वरदान मिला कि वह किसी भी वस्तु को स्वच्छ कर सकेगा।

* पृथ्वी: पृथ्वी को वरदान मिला की उसकी सभी चोटें अपने आप भर जाएंगी। 

* स्त्री: इंद्र ने स्त्री को यह वरदान दिया कि वह पुरुषों की अपेक्षा शारीरिक संबंध का आनंद दुगुना ले पाएंगी। वहीं इसके लिए स्त्रियों को हर माह मासिक धर्म की यातना भी झेलनी होगी। 

इंद्र द्वारा दिया गया ये वरदान स्त्रियों के लिए श्राप बनकर रह गया। तभी से स्त्रियां मासिक धर्म के रूप में ब्रह्म हत्या का पाप उठा रही हैं।



कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.