Header Ads

इन वजहों से पेट के बल सोना हानिकारक है, ऐसा करने से बचें

इन वजहों से पेट के बल सोना हानिकारक है, ऐसा करने से बचें


हममें से कई लोगों को सोने की सही आदत के बारे में पता नही होता है। इसलिए बिना इस पर कोई विचार किये हम नींद आने पर किसी भी पोजीशन में सो जाते हैं। ज़्यादातर लोगों को पेट के बल सोने की आदत होती है। ऐसे लोग इस तरह से सोने की आदत के दुष्परिणामों के बारे में अनजान रहते हैं, और अपने स्वास्थ्य को जोखिम में डाल देते हैं।
यहाँ पर आपको पेट के बल सोने के नुकसानों के बारे में जानकारी दी जा रही है। इसके अलावा आप यह भी जानेंगे कि कौन सी पोजीशन सोने के लिए सबसे उत्तम है।

पेट के बल सोने से आपको कमर में दर्द हो सकता है।

पेट के बल सोने से आपको कमर में दर्द हो सकता है।

क्योंकि इस तरह से सोने से आपके रीढ़ की हड्डी सामान्य आकर में नही रह पाती।

मांसपेशियों में ऐंठन और दर्द होने लगता है

मांसपेशियों में ऐंठन और दर्द होने लगता है

ऐसा होने की मुख्य वजह पेट के बल सोने से खून का संचार ठीक से न हो पाना है

गर्दन में दर्द की समस्या हो सकती है

गर्दन में दर्द की समस्या हो सकती है

पेट के बल सोने से गर्दन की मांसपेशियां में खिंचाव होता है और खून का संचार भी गड़बड़ा जाता है। इसीलिए गर्दन में दर्द की शिकायतें सामने आती हैं।

पेट के बल सोने से पाचन क्रिया में बाधा उत्पन्न होती है।

पेट के बल सोने से पाचन क्रिया में बाधा उत्पन्न होती है। 

पेट के बल सोने से पाचन क्रिया पर प्रतिकूल असर पड़ता है। अगर आपको पाचन सम्बन्धी कोई भी शिकायत है तो आप पेट के बल सोने की गलती न करें।

चेहरे की त्वचा पर बुरा असर।

चेहरे की त्वचा पर बुरा असर। 

पेट के बल सोने से चेहरे का एक हिस्सा दबा रह जाता है, जिससे इसे पर्याप्त ऑक्सीजन नही मिल पाती। ऐसे में झुरियों और मुहांसे के समस्या होने लगती हैं।

जोड़ों के दर्द की समस्या।

जोड़ों के दर्द की समस्या।

पेट के बल सोने से शरीर की हड्डियों पर भी प्रतिकूल असर होता है। ऐसा करने से जोड़ों तथा हड्डियों में दर्द की शिकायत होने लगती है।

पेट के बल सोने से सिरदर्द की शिकायत होती है

पेट के बल सोने से सिरदर्द की शिकायत होती है

पेट के बल सोने से गर्दन एक तरफ़ मुड़ जाती है। इससे सिर में खून की आपूर्ति में कमी आती है और सिरदर्द होने लगता है।

पेट के बल सोने के कई नुकसान हैं, इसीलिए हमें बायीं करवट लेकर सोना चाहिए।

पेट के बल सोने के कई नुकसान हैं, इसीलिए हमें बायीं करवट लेकर सोना चाहिए। 

विशेषज्ञों के अनुसार सोने के सभी तरीकों में बायीं करवट लेकर सोने के कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं।

रक्त संचार सुधर जाता है

रक्त संचार सुधर जाता है

शरीर के सभी क्रियाकलापों को सुचारू रूप से चलाने के लिए रक्त संचार का सही होना काफी उपयोगी होता है। हमारे शरीर के बायीं तरफ़ ह्रदय होता है, इसलिए इस तरह से सोने से ह्रदय का काम आसान हो जाता है।

पाचन प्रक्रिया आसान हो जाती है

पाचन प्रक्रिया आसान हो जाती है

बायीं करवट लेकर सोने से पाचन काफी आसान हो जाता है। इस तरह सोने से खाना आसानी से छोटी आंत से बड़ी आंत तक पहुँच जाता है।

लीवर का कार्य सुचारू रूप से चलता है

लीवर का कार्य सुचारू रूप से चलता है 

लीवर शरीर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है। बायीं करवट लेकर सोने से गाड ब्लेडर और लीवर अपना काम ठीक से कर पाते हैं और फैट की समस्या से निजात मिलती है।

शरीर से हानिकारक पदार्थो को बाहर निकालने में मदद मिलती है।

शरीर से हानिकारक पदार्थो को बाहर निकालने में मदद मिलती है। 

जब हम बायीं करवट ले कर सोते हैं तो बॉडी से टॉक्सिन पदार्थ आसानी से बाहर निकल जाते हैं।

एसिडिटी और पेट की जलन से राहत।

एसिडिटी और पेट की जलन से राहत। 

बायीं करवट लेकर सोने से एसिडिटी की समस्या नही होती है।

पेन्क्रियास का कार्य बेहतर हो जाता है

पेन्क्रियास का कार्य बेहतर हो जाता है

पेन्क्रियास पाचन इन्जाइम बनाता है। बायीं तरफ़ सोने से इसका कार्य बेहतर हो जाता है, और पाचन सुचारू रूप से चलने लगता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.