Header Ads

अगर आप भी अपने बच्चे को पानी पिला रहे हैं तो सावधान, इससे हो सकती है मौत

अगर आप भी अपने बच्चे को पानी पिला रहे हैं तो सावधान, इससे हो सकती है मौत




अगर आप भी अपने बच्चे को पानी पिला रहे हैं तो सावधान, इससे हो सकती है मौत
    "जल ही जीवन है" यह तो आपने बहुत सुना ही होगा, मगर ध्यान रहे, यह नारा सिर्फ वयस्कों के लिए ही लागू होता है। नवजात शिशु के लिए पानी ज़हर का काम कर सकता है। 6 महीने से पहले बच्चे को पानी पिलाना उसकी जान के लिए खतरा पैदा कर सकता है।
    बच्चे के जन्म के समय ही विशेषज्ञों द्वारा यह चेतावनी दे दी जाती है, मगर फिर भी कई लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं है। यही वजह है जिसके कारण आज सभी जगह माता-पिता को इसके बारे में जागरूक करने की कोशिश की जा रही है।

    क्या सच में आपने अभी तक इस बारे में नहीं सोचा?
    क्या आपने सच में अभी तक बच्चे को पानी पिलाने के लिए मना नहीं किया? अविश्वसनीय, यह सच में अविश्वसनीय है! क्या आप जानते हैं पानी की एक बूंद भी आपके बच्चे की जान ले सकती है?
    माँ का दूध ही है अमृत
    नवजात बच्चों की माँ को तो यह बात जरुर जाननी चाहिए कि, 6 महीने की उम्र तक बच्चों के जरुरी प्रोटीन की पूर्ति माँ का दूध ही करता है। यहाँ तक की, अगर बहुत ज्यादा गर्मी हो तो माँ के दूध का एक घूंट ही उसे ठंडक प्रदान कर सकता है।
    ठंडा पानी बच्चे को पहुंचा सकता है कोमा में
    हर एक चीज़ की एक उम्र होती है, अगर उस उम्र से पहले कोई चीज़ की गई, तो वह काफी घातक सिद्ध हो सकती है। बच्चों के साथ भी कुछ ऐसा ही है एक निश्चित समय से पहले बच्चों को ठंडा पानी पिलाना काफी खतरनाक साबित हो सकता है। यहाँ तक की इससे आपका बच्चा कोमा में पहुँच सकता है और उसकी मौत भी हो सकती है।
    मई 2015 में एक जोड़े को हो गई थी जेल
    मई 2015 में एक जोड़े को इसलिए जेल जाना पड़ा था, क्योंकि उनकी 10 सप्ताह की बच्ची की ठंडा पानी पीने की वजह से मौत हो गई थी। दरअसल वे लोगों को बताना चाहते थे कि पानी बच्चों के लिए कितना घातक है। उन्होंने माँ के दूध के साथ ठंडे पानी की बूँदें भी मिला दी। लिहाज़ा बच्ची की मौत हो गई।
    बच्चे पहली बार पानी पीते हैं तो अज़ीब मुँह बनाते हैं
    इस बात पर तो आपने भी गौर किया होगा कि जब बच्चे पहली बार पानी पीते हैं, तो वे अज़ीब मुँह बनाते हैं। इस बारे में विशेषज्ञ भी कहते हैं कि बच्चों को एक साल तक पानी की आवश्यकता नहीं होती है।
    बस कुछ घूंट के साथ करें शुरुआत
    अगर आप अपने छोटे से बच्चे को पानी पिला रहे हैं तो उसे शुरुआत में पहले कुछ घूंट पिलाएँ। एक बार पूरी तरह से निश्चित हो जाएँ कि, आपके बच्चे की तरफ से कोई नकारात्मक भाव नही आ रहे हैं। उसके बाद ही आगे पानी पिलाएँ।
    आपकी सतर्कता ही आपके बच्चे की जान बचा सकती है
    इस स्टोरी को अधिक से अधिक शेयर करें, ताकि अधिक से अधिक लोगों को इस बारे में जागरूक किया जा सके

    कोई टिप्पणी नहीं

    Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.