Header Ads

jankari364 टमाटर का सूप रखता है दिमाग को मजबूत

    टमाटर के सूप में बहुत से पोषक तत्व होते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होते हैं. इसमें विटामिन A,E,C,K और एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं. यह आपको हेल्दी और फिट रखते हैं. टमाटर के सूप के ये फायदे हैं:
    1-विटामिन का अच्छा स्त्रोत- टमाटर का सूप विटामिन A और C का स्त्रोत होता है. विटामिन A, टिशू के विकास के लिए जरूरी होता है. शरीर में रोजाना 16% विटामिन A और 20% विटामिन C की जरूरत होती है और टमाटर का सूप शरीर की इस जरूरत को पूरा करता है.
    2- कैंसर- टमाटर के सूप में लाइकोपीन और कैरोटोनॉयड जैसे एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं, जिससे महिला और पुरुष दोनों में कैंसर होने की संभावना घट जाती है. हफ्ते में तीन दिन यह सूप पीने से ब्रेस्ट, प्रोस्टेट कैंसर की संभावना कम हो जाती है.
    3-दिमाग को भी दुरुस्त रखता है- टमाटर सूप में भारी मात्रा में कॉपर पाया जाता है, जिससे नर्वस सिस्टम ठीक रहता है. इसमें पोटेशियम की मात्रा भी काफी रहती है. यह सब दिमाग को मजबूत रखता है.
    4-हड्डियों के लिए लाभकारी- इसमें विटामिन K और केल्शियम होता है जो हड्डियों को मजबूत रखता है. टमाटर का सूप रोजाना पीने से यह TNF अल्फा के ब्लड लेवल को 34% घटा देता है. शरीर  में लाइकोपीन की कमी से हड्डियों पर तनाव बढ़ता है. टमाटर में लाइकोपीन होता है और नियमित रूप से इसका सेवन करने से आप बीमारियों से दूर रहते हैं.
    जाने मानसून में कितना फायदा करता है टमाटर का सूप
  •  सलाद से जुडे मिथकों का सचसलाद से जुडे मिथकों का सच
  • सलाद की पौष्टिकता के विषय में अमूमन सभी लोग परिचित है. विटामिन, मिनरल्स, लवण, और विविध खनिजों और पोषक तत्वों से युक्त सलाद के नियमित सेवन से शरीर हस्त पुष्ट और तंदरुस्त बनाता है. पर सलाद खाने के भी कुछ नियम है इन सावधानियों का पालन कर आप सलाद के फायदों का ज़्यादा से ज़्यादा लाभ ले सकते है.
    आइये जाने सलाद और उनसे जुडे कुछ मिथकों के विषय में -
    1 मिथक - सलाद को जब चाहे तब  खाया जा सकता है
    सत्य - हमेशा प्रयास करे की सलाद ताज़ा खाये, अक्सर लोग खाने में ढेर सारा सलाद ले लेते हैं जबकि सलाद में मौजूद फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट्स जैसे तत्व खाने के साथ नहीं बल्कि खाने के पहले या बाद में लेने से फायदेमंद हैं.भोजन के पहले सलाद लेने से खुल पर भूख लगती है एतेक भोजन करने से आधा घंटे पहले सलाद खाये.
    2 मिथक - सलाद किसी भी समय खाया जा सकता है
    सत्य - सुबह हलके नाश्ते के साथ सलाद बहुत फायदेमंद है, अगर आप सलाद का पूरा फायदा लेना चाहती है तो सुबह खाये. सलाद सुबह उत्तम, दोपहर को अच्छा, शाम को औसत फायदा देता है, रात के समय अधिक मात्र में सलाद खाने से गैस की समस्या हो जाती है, अतएव रात के समय सलाद कहना टालें.
    3 मिथक -  सलाद में हमेशा कम कैलोरी होती है
    सत्य - प्राकृतिक रूप में कच्ची फल सब्जी में कैलोरी काम होती है पर सलाद को आकर्षक और स्वादिष्ट बनाने के लिये प्रयुक्त सॉस,चीज़ टॉपिंग, मायोनीज़ आदि वसायुक्त सामग्री से कैलोरी की मात्र बहुत बढ़ जाती है.
    4 मिथक - सलाद किसी भी रूप में खाया जाये हमेशा फायदा ही करता है
    सत्य - सभी जानते हैं कि सब्जियां खेतों में उगाई जाती हैं, पर उन सब्जियों को उगाने के लिए इस्तेमाल हुए  की रासायनिक खादों कीटनाशकों के कारण उनपर इन रसायनों की अच्छी खासी परत जम जाती है, साथ ही आजकल कृषि भूमि के आभाव में  कुछ लोग गंदे नालों के किनारे सब्जियां उगा कर, उन सब्जियों के पौधों को गंदे जल से सींचते हैं. ऐसी स्थिति में सब्जियां दूषित हो जाती हैं. और उनके सेवन से फायदे काम और नुक्सान अधिक होता है.
    सलाद खाये सेहत बनाये
      नींद हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूर है. लेकिन क्या आपको पता है कि सोते समय यदि आपके साथ कुछ अजीबोगरीब बातें हों तो किसी स्वास्थ्य समस्या का संकेत हो सकती हैं? यदि नहीं तो चलिये जाने सोते समय आपके साथ हो सकती हैं क्या अजीबोगरीब बातें.  
      1-बहुत ज्यादा नींद आना भी सेहत के लिए अच्छा नहीं. लोग नींद न आने से परेशान रहते है. नींद न ले पाना स्वास्थ्य के लिए जितना हानिकारक है, ज्यादा सोना भी सेहत के लिए उतना ही नुकसानदायक हो सकता है. 9-10 घंटे की नींद लेने वाले लोग कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं से घिर जाते है. विशेषज्ञों के मुताबिक एक दिन में आठ से नौ घंटों की नींद काफी है.
      2-विशेषज्ञों बतात हैं कि लोगों को अपने उठने-बैठने के तरीकों से लेकर सोने तक की मुद्रा पर विशेष ध्यान देना चाहिए क्योंकि रोज की इन गलत आदतों की वजह से हड्डियों में दर्द शुरू हो सकता है. इसलिए अगर आप चाहते हैं कि समय से पहले आपकी कमर न झुके आपको गहरी नींद आए तो ज्यादा साफ्ट गद्दे पर सोने से बचें. 
      3-कई लोग सोते समय इतनी जोर से दांत पीसते हैं कि पास सोया व्यक्ति भी जाग जाता है. इसके कई कारण जैसे चिंता और तनाव आदि हो सकते हैं. हालांकि हिप्नोथैरेपी के माध्यम से तनाव के कारण का पता लगाया जा सकता है. शराब, सिगरेट और अधिक चाय व कॉफी पीने से भी यह समस्या हो सकती है.
        हमें अपने बच्चों के दिल को मजबूत करने के लिए बचपन से ही उनमें खान-पान की अच्छी आदतें डालनी चाहिए. जो लोग मिडिल एज में अपने हृदय को दुरूस्त रख लेते हैं, वो लंबा जीवन बिताते है. इस शोध में अच्छे हृदय और ब्लडप्रेशर वाले बच्चों को शामिल किया गया. लेकिन अगर उनका खान-पान अस्वस्थ रहता है तो बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) असंतुलित हो जाता है और शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने लगती है. 
        बच्चों के लिए आप पहले से ही ऐसे खाद्य पदार्थ चुनें, जिनसे बच्चे की जरूरतें पूरी हो सके. शुरुआत में आप अपने शिशु को कम कैलोरी युक्त खाद्य पदार्थ जैसे - सूजी की खीर, घी वाली खिचड़ी, दलिया, कुचला हुआ केला आदि दें. लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि उसे पर्याप्त मात्रा में आयरन मिल रहा है या नहीं, क्योंकि ब्रेस्टफीडिंग के बाद बच्चे को पर्याप्त मात्रा में आयरन न मिलने के कारण उसमें आयरन की कमी होने लगती है.
         इसकी कमी पूरी करने के लिए बच्चे को दालें, फलियां, अंकुरित दालें, ब्रोकली व गोभी दें, इनमें आयरन बहुतायत में होता है. आयरन, बच्चे के शारीरिक व मानसिक विकास के अलावा हीमोग्लोबिन के उत्पादन के लिए जरूरी है. हीमोग्लोबिन कोशिकाओं को ऑक्सीजन पहुंचाने व रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में प्रमुख भूमिका निभाता है
          ज्यादा चॉकलेट भले ही हेल्थ के लिए अच्छी न मानी जाती हो लेकिन रोजाना थोड़ी सी चॉकलेट स्वास्थ्य के लिए अच्छी मानी गई है. और डार्क चॉकलेट के तो ढेरों फायदे है. डार्क चॉकलेट से रक्तचाप कम होता है और इसे खाने से खुशी का अहसास भी होता है, चॉकलेट आपको उत्तेजित भी करता है.
          डार्क चॉकलेट खाने से आपके शरीर को वैसा ही फायदा होता है, जैसा एक्सरसाइज़ करने से होता है यानी अब चॉकलेट खाना भी फायदे का सौदा है. शोधों में यह भी पाया गया है कि चॉकलेट में एक ऐसा वानस्पतिक यौगिक 'इपिकेटेचीन' होता है, जो मसल्स को उसी तरह क्रियाशील करता है जैसे कि व्यायाम या खेल से जुड़ी कोई गतिविधि करती है. उल्लेखनीय है कि एरोबिक्स, जॉगिंग, रस्सी कूदने या साइकलिंग करने से मांसपेशियों की कोशिकाओं में माइटोकॉन्ड्रिया की संख्या में बढ़ोतरी होती है. ठीक यही काम इपिकेटेचीन भी करता है.
          डार्क चॉकलेट रक्त और वसा के स्तर को भी सुधारती है. एक नये अध्ययन में यह खुलासा हुआ कि डार्क चॉकलेट ग्लूकोज़ के स्तर और लिपिड प्रोफाइल में सुधार कर दिल के रोगों के जोखिम को कम करती है. फेवनोल्स से भरपूर डार्क चॉकलेट का सेवन हृदय सम्बंधी रोग जैसे रक्तचाप कम होने और रक्त प्रवाह में कमी जैसे जोखिम को कम कर सकता है.
        • भारत में सेक्स को लेकर आज भी खुल कर बात नहीं किया जाता है आज भी सेक्स को लेकर हर घर में पर्दा डाला जाता है। कुछ लोग तो यह भी नहीं जानते होंगे की सेक्स वास्तव में हमारे जीवन के लिए कितना लाभदायक होता है और अगर आपको सेक्स करने का मन नही करता या फिर आप सेक्स करने से मन चुराते हैं तो हम आपको बता दें कि आप कई बिमारियों को आमंत्रित कर रहे हैं जी हां सेक्स आप अपने आपको कई बिमारियों से बचा सकते हैं तो आईये जानते हैं-
        • एक शोध के अनुसार यह साबित हुआ है कि अगर आप हफ्ते में एक या फिर दो बार सेक्स करते हैं तो आपके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता उन लोगों की अपेक्षा अधिक होती है।
        • अगर आप रोजाना सेक्स करते है। तो आपके शरीर में तरलता बनी रहेगी। और इसके अलावा अगर आप सेक्स के बीच में काफी लंबे समय का अंतराल करते हैं तो ऐसे में आपको कृत्रिम तरलता की जरूरत होगी।
        • अगर आप तनाव महसूस कर रहे है तो या फिर भावनात्मक तरीके से तनावग्रस्त है तो सेक्स आपको इस प्रकार की समस्या से छुटकारा दिलवा सकता है।
        • लोगों को इस बात का भ्रम काफी अधिक मात्रा में है की यदि वे कुछ समय तक या फिर लम्बे समय तक सेक्स नहीं करेंगे तो उनकी योनी टाईट हो जायेगी जबकि शोधकर्ताओं ने दावा किया है की ऐसा बिलकुल भी नहीं होता है द्य दरअसल, योनी की कोशिकाओं की
            •  बहुत जरूरी हैं खाने से पहले हाथ धोनाबहुत जरूरी हैं खाने से पहले हाथ धोना
            • दिनभर में न जाने हम कितनी ही चीजों को छूते हैं, लोगों से हाथ मिलाते हैं, जिसकी वजह से कई तरह के बैक्टीरिया और कीटाणु हमारे हाथों में चिपक जाते हैं. जब बिना धोए इसी हाथ से हम खाना खाते हैं तो ये सारे बैक्टीरिया हमारे शरीर में प्रवेश कर जाते हैं, जो कई बीमारियों का कारण बनते हैं. सिर्फ हाथ धोकर खाना खाने भर से ही आप कई जानलेवा बीमारियों से सुरक्षित रह सकते हैं.
            • हाथ धोकर खाना खाना एक अच्छी और सेहतमंद आदत है. बेहतर यही होगा कि आप जब भी कुछ खाएं, हाथ धोकर ही खाएं। बिना हाथ धोये कहना खाने से बहुत सी बीमारियां हो सकती है. गंदे हाथों से खाना खाने से फूड इंफेक्शन होने का खतरा सबसे अधिक होता है. हमारे हाथों में कई ऐसे रोगाणु चिपके रहते हैं जो फूड इन्फेक्शन का कारण बन सकते हैं.
            • गंदे हाथों से खाना खाने से पाचन क्रिया पर भी असर पड़ता है. पाचन क्रिया दुरुस्त न हो तो कई समस्याएं जैसे दस्त, कब्ज, पेट दर्द और गैस की तकलीफ हो जाती है. बिना हाथ धोए खाना खाने से थ्रोट इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है. इससे कफ और खराश की शिकायत हो जाती है. डायरिया जैसी खतरनाक बीमारी से भी हम सिर्फ इस एक आदत को अपनाकर दूर रह सकते हैं. डायरिया, हमारे डाइजेस्टि व सिस्टम से जुड़ी हेल्थ प्रॉब्लम है.
          •  प्रतिक्रिया कम हो जाती है इसलिए वे सख्त हो जाती हैं।
              •  महिलाओ को पूर्ण संतुष्टि देती है यह सेक्स पोसिशन्समहिलाओ को पूर्ण संतुष्टि देती है यह सेक्स पोसिशन्स
              • हर पुरुष अपनी महिला साथी को सेक्स के दौरान पूरी तरह संतुष्ट करना चाहते है. अगर आप भी ऐसे ही कुछ चाह रहे है तो आप बिलकुल सही लेख पढ़ रहे है. आज हम आपको यहाँ अपनी महिला साथी को पूर्ण संतुष्ट करने के लिए कुछ ख़ास सेक्स पोजीशन के बारे में बताने जा रहे है.
              • जिनकी मदद से आप अपनी महिला साथी को पूर्ण संतुष्टि दे पाएंगे.
              • - पुरुष अपनी महिला साथी के उप्पर चढ़ कर उनके पैरो को अपने कंधे पर रखे और सेक्स करे. इस पोजीशन से महिलाए काफी जल्दी संतुष्ट हो जाती हैं.
              • - आप अपनी महिला साथी को अपने उप्पर बैठा कर भी सेक्स का मज़ा ले सकते है. यह पोजीशन महिलाओ की पसंदीदा सेक्स पोजीशन है. इसके साथ भी महिला इस पोजीशन में सेक्स करने से जल्द ही संतुष्ट हो जाती है.
              • - टेबल के ऊपर या बेड की किनारे पर महिला को लेटा कर DOGGY स्टाइल में सेक्स करे. इस पोजीशन से महिलाओ को संतुष्टि प्राप्त करने में आसानी होती है. साथ ही महिलाओ को यह पोजीशन खासी पसंद भी होती है.
              • अपने सेक्स संबंधों को सक्सेसफुल...
              • सेक्स के दौरान इन 5 गलतियों की वजह से...
            •  सुस्ती उड़ाने के साथ ही मर्दानगी बढ़ाएगी यह कॉफ़ीसुस्ती उड़ाने के साथ ही मर्दानगी बढ़ाएगी यह कॉफ़ी
            • अपने कई जगह मर्दानगी ताकत बढ़ाने वाले कैप्सूल से जुड़े एड्स देखे होंगे. लेकिन अब इससे एक कदम आगे मार्किट में ‘Stiff Bull’ नामक एक कॉफ़ी बाजार में आ गयी है. जो ना सिर्फ आपकी सुस्ती भगा कर आपको नींद से जगाएगी. बल्कि, यह आपकी मर्दानगी ताकत को भी काफी बढ़ा देगी.
            • इस कॉफ़ी को पीने के बाद आपके लिंग में 3 दिन तक इरेक्शन(लिंग में कड़कपन) रहता है. जिस वजह से आपको एक अलग ही सुखद सेक्स अनुभव होता हैई. इस कॉफ़ी के गुणों के चलते इसे ‘रिलेशनशिप सवर’ भी कहा जा रहा है. हालाँकि इस कॉफ़ी को लेकर विवाद भी काफी हुआ.
            • अमेरिकी खाद्य एजेंसी, FDA का कहना था की कॉफ़ी में वायाग्रा जैसा ड्रग Desmethyl Carbodenafil मिलाया गया है. जो कफ के पैक पर दर्शाया नहीं गया है. कंपनी ने इस पर सफाई देते हुए कहा था की, कॉफ़ी में मलेशिया के जंगल से लायी गयी 'जड़ी-बूटियां’ को मिलाया गया है.
            • पुरुषो के लिंग से जुडी 7 रोचक बातें
            • खाने में निकला Penis ,फॉरेंसिक टेस्ट करवाने की भाई ने दी सलाह


        कोई टिप्पणी नहीं

        Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.