Header Ads

पाए सुन्दर और गुaलाबी होंठ


पाए सुन्दर और गुलाबी होंठपाए सुन्दर और गुaलाबी होंठ 

Healths Is Wealth  



होठों का कालापन दूर करने के लिए लिप बॉम और मॉइस्चराइजर से लेकर कई तरह के उपाय भी आजमाए जाते हैं, लेकिन इन सबका नतीजा कुछ भी नहीं निकलता है. अगर आप भी अपने होठों का कालापन दूर करके सुंदर गुलाबी होठ पाना चाहते है तो परेशान ना हो क्योंकि हम आपको कुछ ऐसे उपाय बतायेगे जिसको इस्तेमाल करने से आपके होठ सूंदर और गुलाबी हो जायेगे.


1-.थोड़ा सा शहद अपनी उंगली में लेकर धीरे-धीरे होठों पर मलें. इस प्रक्रिया को रोजाना दो बार दोहराएं. शहद के इस्तेमाल से कुछ ही दिनों में आपके होंठ चमकदार और मुलायम हो जाएंगे.


2-गुलाब की पंखुडिय़ों को पीसकर उसमें थोड़ा सा ग्लिसरीन मिला लें, अब इस लेप को रात में सोते समय होठों पर लगाकर सो जाएं और सुबह उठकर धो लें. इसके नियमित इस्तेमाल से होठों का रंग हल्का गुलाबी और चमकदार हो जाएगा.


3-अनार का रस में रूई डूबोकर अपने होंठ पर रात में बिस्तर पर जाने से लगाएं. अनार की ब्लीचिंग से छाया हल्का और लाल होंठ रहता होगा.


4-चुकंदर में गहरे बैंगनी रंग घटक मौजूद होते हैं जो काले रंग को होंठ हल्का कर सकते हैं इसके प्रयोग से होठ गुलाबी होते है.


निम्बू से भगाये मच्छरनिम्बू से भगाये मच्छर






नींबू क्लीनिंजिंग प्रोडक्ट्स का बहुत अच्छा सब्सटिट्यूट बन सकता है. नींबू की एसिडिक प्रोपर्टी जिद्दी दाग छुड़ाने के साथ ही स्मेल से भी छुटकारा दिलाती है. इसके अलावा इससे कुकिंग से संबंधित समस्याएं भी दूर होती है. हम आपको बता रहे हैं नींबू से होने वाले कई फायदे जिनसे यह आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो सकते हैं.


1-घर में जहां से चीटियां गुजरती है वहां नींबू का रस छिड़क दें. नहीं आएंगी.


2-सफेद कपड़ों या जूतों में पीलापन आ जाने पर उन्हें नींबू के रस में डुबोकर रख दें. फिर धोएं


3-नींबू को आधा काटकर उसमें 10 लौंग चुभोकर लगाकर घर के कोने में रख दें. इससे मच्छर नहीं आयेगे.


4-प्लास्टिक के डब्बे से खाने के दाग और तेल छुड़ाने के लिए उसमें नींबू का रस डालकर कुछ देर रहने दें. फिर उसे बेंकिग सोडा से साफ करे.


5-कटे हुए एपल को भूरा होने से बचाने के लिए तीन कप पानी में एक चम्मच नींबू रस डालकर उसमें डूबोकर रखें.


डेंगू में पिए अमरुद की पत्तियो का जूस 



: पिए कालीमिर्च और जीरे वाला दूधपिए कालीमिर्च और जीरे वाला दूध






जीरा और काली मिर्च वाले दूध में न्यूट्रिएंट्स होते हैं जो रेड ब्लड सेल्स को हेल्दी बनाकर खून की कमी को पूरा करते है वैसे दूध अपने आप में वैसे ही बहुत फायदेमंद है लेकिन यदि इसमें जीरा और काली मिर्च मिलाकर पीया जाए तो और भी ज्यादा फायदे वाला हो जाता है.


1-जीरा और काली मिर्च वाला दूध शरीर से वेस्ट बाहर निकालने का काम करता है. यह पूरी बॉडी को डिटॉक्स कर कई बीमारियों से बचाता है.


2-जीरा और काली मिर्च वाला दूध शरीर में इम्युनिटी बढ़ाता है जिससें सर्दी-जुकाम और बुखार में आराम मिलता है.


3-जीरा और काली मिर्च वाला दूध दिमाग से स्ट्रेस दूर कर उसें रिलेक्स करता है. इससे सिरदर्द की समस्या दूर होती है.


4-जीरा और काली मिर्च वाला दूध पीने से बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन सही तरीके से होता है. जिससे मसल्स ऐंठन दूर होती है बॉडी पेन कम होता है.


5-जीरा और काली मिर्च वाला दूध डाइजेशन मजबूत होता है तथा कब्ज की समस्या से छुटकारा मिलता है.सल्स ऐंठन दूर होती है बॉडी पेन कम होता है.


दे अपनी डाइट पर विशेष ध्यान 



सौ मर्ज़ की एक दावा नीम !!सौ मर्ज़ की एक दावा नीम !!






नीम के बहुत-से अविश्वसनीय लाभ हैं,नीम के बारे में उपलब्ध प्राचीन ग्रंथों में इसके फल, बीज, तेल, पत्तों, जड़ और छिलके में बीमारियों से लड़ने के कई फायदेमंद गुण बताए गए हैं। प्राकृतिक चिकित्सा की भारतीय प्रणाली ‘आयुर्वेद’ के आधार-स्तंभ माने जाने वाले दो प्राचीन ग्रंथों ‘चरक संहिता’ और ‘सुश्रुत संहिता’ में इसके लाभकारी गुणों की चर्चा की गई है। इस पेड़ का हर भाग इतना लाभकारी है कि संस्कृत में इसको एक यथायोग्य नाम दिया गया है – “सर्व-रोग-निवारिणी” यानी ‘सभी बीमारियों की दवा।’ लाख दुखों की एक दवा !!


नीम की उपयोगिताऐ -


1 नीम की पत्तियों को पीसकर उसके लेप को चेहरे पर लगाने से फुंसियां व मुहांसों के दाग मिट जाते हैं। 


2 यदि शरीर पर कहीं कट, छिल या फोड़ा हो गया हो या फिर सिरदर्द, मोच, कान का दर्द, बुखार आदि हो गया हो तो नीम का पेस्‍ट लगाइये और दर्द से छुटकारा पाइये।


3 नीम के कुछ पत्तों को पानी में डाल कर रात भर छोड़ दें और फिर सुबह उस पानी से नहा लें,सिर्फ इतने से ही आपका बदन अच्छी तरह से साफ हो सकता है, और पसीने की दुर्गन्ध से भी छुटकारा मिल जाएगा |


4 नीम में ऐसी भी क्षमता है कि अगर आपकी रक्त धमनियों(आर्टरी) में कहीं कुछ जमना शुरु हो गया हो तो ये उसको साफ कर सकती है। मधुमेह(डायबिटीज) के रोगियों के लिए भी हर दिन नीम की एक छोटी-सी गोली खाना बहुत फायदेमंद होता है। यह उनके अंदर इंसुलिन पैदा होने की क्रिया में तेजी लाता है।


5 अगर आपको दांत का दर्द है, तो इसकी दातून या तेल का का इस्तेमाल करे दर्द और कीटाणु दोनों से रहत मिलेगी | 



ज़्यादा कैल्सियम हो सकता है ह्रदय के लिए खतरनाकज़्यादा कैल्सियम हो सकता है ह्रदय के लिए खतरनाक






कैल्शियम को अतिरिक्त खुराक के तौर पर लेना आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है यह धमनियों में प्लेक (धमनियों का जाम होना) का कारण बन सकता है, जिससे हृदय को नुकसान पहुंचने का खतरा है. हालांकि आपको कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ लेने से रोकना नहीं है. किन्तु इस तरह पूरक खुराक के रूप में अतिरिक्त कैल्शियम का सेवन दिल और नाड़ी तंत्र को नुकसान पहुंचा सकता है.


शोधकर्ताओं ने पाया कि जो प्रतिभागी भोजन में कैल्श्यिम की अधिकतम मात्रा प्रतिदिन करीब 1,022 मिलीग्राम लेते थे, उनमें 10 सालों के अध्ययन के दौरान हृदय रोग होने का जोखिम सामने नहीं आया. लेकिन कैल्शियम को पूरक खुराक के रूप में सेवन करने वाले प्रतिभागियों के कोरोनरी धमनी में इन 10 वर्षों के दौरान 22 फीसदी तक प्लेक जमने का खतरा देखा गया. यह 10 सालों में शून्य से तेजी से बढ़ा. इससे दिल के रोग होने का संकेत मिलता है.


इससे यह स्पष्ट होता है कि भोजन के रूप में लिया गया कैल्शियम तथा पूरक खुराक के तौैर पर लिया गया कैल्शियम किस प्रकार हृदय को प्रभावित करता है.


केले के पत्ते पर भोजन करना है फायदेमंद 



आवला से करे अल्सर का इलाजआवला से करे अल्सर का इलाज






अल्सर के रोग में अक्सर पेट में जलन होती है, खट्टी डकारे आती हैं, उल्टी होती है, सिर चकराता है, भोजन अच्छा नहीं लगता, कब्ज की शिकायत होती है, दस्त के साथ खून आता है, शरीर में कमजोरी आ जाती है और मन बैचेन रहता है.


1-शारीरिक और मानसिक कार्य से बचना चाहिए ताकि पेट का सिकुड़न कम होकर अल्सर ठीक हो जाए.


2-अल्सर के रोगी को तले हुए और मसालेदार मांसाहारी भोजन नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे श्लैष्मिक झिल्ली में जलन होती है.


3-एक चम्मच आंवले का रस और एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से पेट में दूषित द्रव्य जमा होने के कारण उत्पन्न अल्सर ठीक होता है. आंवले का चूर्ण एक चम्मच, सोंठ का चूर्ण आधा चम्मच, जीरे का चूर्ण आधा चम्मच और मिश्री एक चम्मच को मिलाकर सुबह-शाम सेवन करने से पेट का जख्म ठीक होता है और दर्द व उल्टी में आराम मिलताहै.


4-छोटी हरड़ और 4 मुनक्के को पीसकर सुबह खाने से पेट की जलन व उल्टी समाप्त होती है.


5-पान के हरे पत्तों का आधा चम्मच रस प्रतिदिन पीने से पेट का घाव व दर्द शांत होता है.


भोजन करने के बाद 2 चम्मच संतरे का रस प्रतिदिन पीने से पेट का घाव व दर्द ठीक होता है.


चिया सीड्स होते है कैल्शियम से... 



स्ट्राबेरी है एक अच्छा क्लींजिंग मास्कस्ट्राबेरी है एक अच्छा क्लींजिंग मास्क






क्या आपको पता है कि बिना किसी क्रीम-पाउडर का इस्तेमाल किए बगैर भी आप फेयर और हेल्दी स्किन पा सकते हैं. वो भी इन फ्रूट्स से जिसे आप अक्सर खाने के लिए ही प्रयोग में लाते है. तो आइए जानते हैं इन फ्रूट्स के बारे में...


स्ट्रॉबेरी - यह एक क्लीजिंग मास्क के तौर पर काम आ सकता है. इसमें विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट होता है. आप स्ट्रॉबेरी को पीस कर सीधे ही चेहरे पर धीरे-धीरे लगा सकते हैं. इससे आपकी स्किन और निखर जाएगी.


केला- यह एक प्रभावी मॉइश्चराजर होते हैं, जो कि चेहरे को रिफ्रेश करते हैं. बस एक केला पीसिए और उसमें थोडा सा शहद मिलाइए और चेहरे पर 10 मिनट के लिए लगा कर छोड़ दीजिए. फिर आपका फेस बेहद ही ग्लो करने लगेगा.


संतरा - यह विटामिन सी से भरा होता है जो कि स्किन की बनावट को सुधारता है. इसको खाने से चेहरे पर जल्द झुर्रियां नहीं पड़ेगी. आप इसके छिलके का पाउडर एक स्क्रबर के रूप में प्रयोग कर सकते हैं.


पपीता - इसमें एंटीऑक्सीडेंट तथा पपेन नामक एंजाइम होता है, जो स्किन की सारी गंदगी को बाहर निकालता है और डेड स्किन को साफ करता है. एक गिलास पपीता पीजिए या फिर पपीते को मैश कर के चेहरे पर लगाए. दोनों ही बेहद फायदेमंद है.


आंवले से बढ़ाये अपनी स्मरणशक्ति 








एक मुट्ठी चने के है ढेर सारे फ़ायदे 



पीपल के फायदे !!पीपल के फायदे !!






यूँ तो प्रकृति में हर वस्तु का महत्त्व है और अगर बात वनस्पति की हो तो शायद ही ऐसी कोई बूटी ,घास,पेड़,फूल, पत्ता, हो जो जिसकी उपयोगिता न हो | दरसल प्रकृति में कुछ भी व्यर्थ या अकारण नही है | इसी सिलसिले में जानेगे पीपल का महत्त्व |


पीपल की उपयोगिता - 


1 पीपल के पत्तों का प्रयोग कब्ज या गैस की समस्या में दवा के तौर पर किया जाता है। इसे पित्‍त नाशक भी माना जाता है, इसलिए पेट की समस्याओं में इसका प्रयोग लाभप्रद होता है 


2 पीपल के पके हुए फलों को सुखाकर बनाए गए चूर्ण को शहद के साथ सेवन करने से हकलाने की समस्या दूर होती है और वाणी में सुधार होता है। 


3 पीपल के पके हुए फल खाने से कोलोस्ट्राल काम होता है |



4 सांस संबंधी किसी भी प्रकार की समस्या में पीपल का पेड़ आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है। इसके लिए पीपल के पेड़ की छाल का अंदरूनी हिस्सा निकालकर सुखा लें। सूखे हुए इस भाग का चूर्ण बनाकर खाने से सांस
संबंधी सभी समस्याएं दूर हो जाती है। इसके अलावा इसके पत्तों का दूध में उबालकर पीने से भी दमा में लाभ होता है। 




5 त्वचा के लिए - त्वचा का रंग निखारने के लिए भी पीपल की छाल का लेप या इसके पत्तों का प्रयोग किया जा सकता है। इसके अलावा यह त्वचा की झुर्रियों को कम करने में भी मदद करता है। 







जानिये हल्दी के नुकसानों को भी ..!!जानिये हल्दी के नुकसानों को भी ..!!






हल्दी एक बेहद लाभदायी औषधि है, जो भारत में मसाले के रूप में हर घर में उपयोग होता है| पर जैसे की कहावत है अति सर्वत्र वर्जयते उस हिसाब से हल्दी का सिमित मात्रा में प्रयोग तो लाभप्रद है, पर अनियंत्रित मात्रा का उपयोग परेशानी का कारण बन सकता है |


आइये जानते है हल्दी के इस्तेमाल में जरुरी सावधानियां -


1 ज्यादा हल्दी खाने से पेट में गैस की समस्या होती है. इससे डायरिया और कब्ज भी हो सकता है|


2 अगर आपको पहले से ही एनीमिया की शिकायत है तो, हल्दी का सेवन कम कर दें |


3 भोजन में अगर ज्यादा हल्दी हो तो, इंसान को मतली आने की भी गुंजाइश होती है |


4 जिन लोगों का लिवर बढ़ा हुआ है या फिर लिवर से संबंधित अन्य समस्याएं हैं, उन्हें हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए| इसमें मौजूद तत्व लिवर की समस्या को बढ़ा सकती है|


5 कई प्रेगनेंट महिलाएं दूध में हल्दी डाल कर पीती हैं, जिससे उन्हें गोरा बच्चा पैदा हो |लेकिन हल्दी गर्भाशय का संकुचन, गर्भाशय में रक्त स्रव या गर्भाशय में ऐंठन पैदा कर सकती है| 



: हरा धनिया है निमोनिया के लिए फायदेमंदहरा धनिया है निमोनिया के लिए फायदेमंद






हरे धनिया में विटामिन ए, सी, पोटैशियम, फास्फोरस, कैल्शियम, कैरोटीन आयरन, फाइबर, जैसे पोषक तत्व काफी मात्रा में होते है, जो हर तरह के रोगों से शरीर को बचाते है. आइए जानते है हरे धनिए से होने वाले फायदे.


1-हरा धनिया लीवर की सक्रियता तीव्र करता है. साथ ही पाचन तंत्र को ठीक रखता है.


2- हरा धनिया ब्लड इंसुलिन की मात्रा संतुलित करता है और किडनी संबंधी रोगों की समस्या को कम करता है.


3-शरीर की आंतरिक और बाहरी जलन और पेट की एसिडिटी को दूर करता है. इसके सेवन से सिरदर्द भी ठीक रहता है.


4-अगर आपको नकसीर बहने की समस्या रहती है तो इसके रस को नाक में डालें. इससे नकसीर बहना बंद होगी.


5-हरे धनिए के सेवन से कोलेस्ट्रॉल की समस्या कम होती है.


6-हरा धनिया कफ की समस्या को जड़ से खत्म करता है. इसका रस निमोनिया के रोगी के लिए भी फायदेमंद होता है.


डेंगू में पिए अमरुद की पत्तियो का जूस 



: ज़्यादा निम्बू का सेवन हो सकता है खतरनाकज़्यादा निम्बू का सेवन हो सकता है खतरनाक






पानी में नींबू निचोड़ कर पीने से शरीर को विटामि सी, पोटैशियम और फाइबर प्राप्त होता है. ज्यादातर लोग सुबह उठते ही नींबू पानी का सेवन वजन कम करने के लिये करते हैं हांलाकि इसका ज्यादा सेवन करने से कुछ साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं.


1-कई बार लोग खाना पचाने के लिये नींबू के रस का सेवन करते हैं क्योंकि इसका एसिड पाचन में मदद करता है. पर पेट में अधिक एसिड हो जाने की वजह से पेट खराब हो सकता है. नींबू को हमेशा खाने में मिला कर ही खाएं


2-नींबू में एसिडिक लेवल के अलावा उसमें ऑक्सलेट भी होता है, जो कि ज्यादा सेवन से शरीर में जा कर क्रिस्टल बन सकता है. ये क्रिस्टलाइज्ड ऑक्सलेट, किडनी स्टोन और गॉलस्टोन का रूप ले सकता है.


3-नींबू पानी को कभी भी किसी प्रकार की बीमारी को दूर करने के लिये नहीं पीना चाहिये. अगर आपको इसे पीने के बाद कोई साइड इफेक्ट लगे, तो इसका सेवन तुरंत ही बंद कर दें. अगर आपको इसे विटामिन सी प्राप्त करने के लिये पीना है, तो केवल आधा नींबू निचोड़ कर आधे गिलास पानी में मिक्स कर के पियें.


4-अगर आपको एसिडिटी की समस्या है तो, नींबू का सेवन एक दम बंद कर दीजिये क्योंकि इसमें एसिड होता है.


आंवले से बढ़ाये अपनी स्मरणशक्ति 



पेट की मालिश से बनाये पाचनतंत्र को मजबूतपेट की मालिश से बनाये पाचनतंत्र को मजबूत






पाचन तंत्र हमारे शरीर के भीतर स्थित महत्वपूर्ण अंग है. यह हमारे भोजन को पचाता हैं एवं उसमें से मिले पौष्टिक तत्वों को शरीर को प्रदान करता है इसलिए पाचन तंत्र का सदैव सही रहना आवश्यक होता है


1-आप कैसे खाना खाते है इससे भी आप के पाचन पर असर पढ़ता है. इस लिए हमेशा सुकून और घर वालो के साथ बैठ कर भोजन करे. ना की टी वी देखते हुए. क्यों की सही तरीके से बैठ कर भोजन करने से हमारा पाचन हमेशा अच्छा रहता है.


2-सुबह उठ कर व्यायाम या मालिश करे इससे पाचन में लम्बे समय तक सुधार रहेगा . कुछ अच्छे तेलों के साथ अपने पेट की मालिश करे.


3-खाना खाने का सबसे अच्छा तरीका है छोटे कौर और अच्छे से चबा कर खाएं. इस से आप के मुंह में कार्बोहाइड्रेट बनेगा जिससे एमाइलेज पैदा होंगे और इसे आप का पाचन अच्छा रहेगा.


4-अदरक, काली मिर्च, सेंधा नमक या धनिया जैसे विभिन्न मसाले मिलकर अपने भोजन का स्वाद बढ़ाये. यह सभी मसाले केवल आपके भोजन को भी नहीं स्वाद देता है बाकि आपके पाचन को भी अच्छा रखता है.


5-अच्छे पाचन के लिए रोज़ एक ही समय में खाना खाएं. समय से खाना खाने से पाचन तंत्र पर अच्छा असर पढ़ता है और एसिड भी नहीं बनता है


बीमारी में रखे खुद का ख्याल 



: क्या आप भी है दो मुँहे बालो से परेशानक्या आप भी है दो मुँहे बालो से परेशान






दो मुँहे बालों के अनेक सरल प्राकृतिक उपचार आयुर्वेद में बताये गए हैं दो मुँहे बाल (स्प्लिट हेयर ) न केवल सुन्दरता को नष्ट करते हैं बल्कि ये धीरे धीरे बालों को अस्वस्थ और कमज़ोर भी कर देते हैं. बालों को हीट करके तरह तरह के आकार देना गीले बालों में कंघा करना, ये सभी दो मुँहे बालों के मुख्य कारण हैं.


1 केला मैश कर लीजिये.इसमें 2 चममच दही, 1 चम्मच गुलाबजल और 1 चम्मच नीबू का रस डालकर अच्छी तरह मिला लीजिये.इस पैक को अपने बालों में अच्छी तरह लगा लीजिये. 1 घंटा इसे लगा रहने दीजिये और फिर बाल धो लीजिये. ऐसा सप्ताह में 2 बार करना चाहिये. इससे दोमुँहे बाल बहुत ही जल्दी ठीक हो जाते हैं.


1/2 कप काली उड़द की दाल पीसकर पाउडर बना लीजिये. इसमें 1 चम्मच दानामेथी पाउडर और 1 कप दही डालकर अच्छी तरह मिक्स कर लीजिये. इस पेस्ट को अपने बालों में अच्छी तरह लगा लीजिये. 2 घंटे बाद हर्बल शैम्पू से बाल धो लीजिये. ऐसा एक दिन छोड़कर एक दिन करना चाहिये. 


1 अंडा लीजिये. इसमें 2 चम्मच जैतून का तेल और 1 चम्मच शहद डालकर अच्छी तरह मिला लीजिये. इसे बालों पर अच्छी तरह लगा लीजिये. 25 मिनट इसे लगा रहने दीजिये और फिर हर्बल शैम्पू से बाल धो लीजिये. ऐसा सप्ताह में 1 बार करने से दो मुँहे बाल कुछ ही समय में ठीक हो जाते हैंससे दोमुँहे बाल बहुत ही जल्दी ठीक हो जाते हैं.


आसान है अब पेट के रोगों का इलाज 



खीरा दिलाएगा एक दिन में पिम्पल्स से छुटकाराखीरा दिलाएगा एक दिन में पिम्पल्स से छुटकारा






पिंपल्स यानि मुंहासे चेहरे की रौनक छीन लेते हैं.इससे बचने के लिए आप ढेरों जतन करने लगती हैं. कभी मेकअप छिपाती हैं, तो कभी महंगी क्रीम से उसे खत्म करने की कोशिश करती है, फिर भी केवल एक दिन में पिंपल्स से छुटकारा पाना मुश्किल है. लेकिन कुछ घरेलू टिप्स को अपनाकर आप आसानी से एक दिन में पिंपल्स से निजात पा सकते हैं.


1-नींबू आपकी स्किन के लिए किसी औषधि से कम नहीं है. पिंपल्स से छुटकारा पाने के लिए कॉटन को नींबू के रस में भिगोकर पिंपल्स पर लगाएं और रात भर छोड़ दें. सुबह उठकर चेहरा धो लें. ध्यान रहेंए नींबू का रस लगाने से थोड़ी सी जलन होगीए लेकिन कुछ मिनटों में यह ठीक हो जाएगी.


2-तुलसी की पत्तियां प्राकृतिक उपचार के रूप में काम में ली जाती है. पिंपल्स रिमूव करने में भी यह बहुत फायदेमंद हैं. कुछ तुलसी की पत्तियां लें और 20 मिनट के लिए उन्हें गर्म पानी में भीगो दें. फिर सोने से पहले एक कॉटन बॉल की मदद से इससे अपने चेहरे को साफ करें और पिंपल्स वाली जगह लगाएं. रात भर रखने से सूख जाएगा और सुबह उठकर चेहरा धो लें. आपको एक ही रात में फर्क दिखने लगेगा.


3-खीरे को मिक्सी में पीस लें और उसका पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाएं. 15.20 मिनट बाद जब यह सूख जाए तो गुनगुने पानी से चेहरा धो लें. इससे बैक्टीरिया और धूल. मिट्टी साफ हो जाएगी और पिंपल्स पर भी असर दिखने लगेगा.


बर्फ से करे आँखों की मालिश 



खराब नींद बन सकती है मोटापे का कारणखराब नींद बन सकती है मोटापे का कारण






खराब नींद आपके वजन को बढ़ा कर मोटापे का शिकार बना सकती है सोने से पहले कुछ रिलैक्‍सेशन टेक्‍नीक का इस्तेमाल करें, जैसे ध्‍यान, सुकून भरा संगीत , गरम पानी से स्‍नान, आदि अच्‍छी नींद लेने से शरीर का मेटाबॉलिज्‍म बढ़ता है और फैट बर्न होता है सोने से शरीर का हार्मोन कंट्रोल होता है जिसेस बार बार भूंख नहीं लगती और शरीर की ऊर्जा भी नहीं घटती


शक्‍कर और स्‍टार्च कार्ब्‍स होते हैं, जो कि इंसुलिन के निकलने की प्रक्रिया को उत्‍तेजित कर देते हैं इंसुलिन शरीर में मुख्य फैट स्‍टोरेज हार्मोन होता है जब इंसुलिन की मात्रा कम रहती है, तब शरीर उसमें जमा फैट को बर्न करना शुरु कर देता है, इसलिये रात को कार्ब न खाएं.


वैज्ञानिक अध्ययनों से पता चला है, कि मोटापा घटाने के लिये मिर्च का सेवन करना चाहिये सोने से पहले इसका सेवन भोजन में करें जिससे लगातार वजट घटने की प्रक्रिया चलती रहे.


रात को सोने से पहले ग्रीन टी पीने पर शरीर का मैटाबॉलिज्‍म बढ़ता है, जिससे रातभर आपका वजन कम होता रहता है.


गूलर है आँखों की अच्छी दवा 



ये टिप्स अपनाइये और रहिये सदा खूबसूरतये टिप्स अपनाइये और रहिये सदा खूबसूरत






जितना आप पानी पीएंगी उतना आपके शरीर में ग्लो आएगा। ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की वजह से आपके शरीर की गंदगी और टॉक्सिन को बाहर निकलने में मदद करता है। इसीलिए दिन में 8-10 ग्लास पानी जरूर पीएं। त्वचा की सफाई पर विशेष ध्यान दीजिए, ताकि गंदगी उसपर अपने पैर न जमा सके। त्वचा की सफाई के लिए आप कच्चे दूध का प्रयोग कर सकते हैं या फिर बाजार में उपलब्ध क्लिंजर का प्रयोग भी कर सकते हैं।


त्वचा की सफाई पर विशेष ध्यान दीजिए, ताकि गंदगी उसपर अपने पैर न जमा सके। त्वचा की सफाई के लिए आप कच्चे दूध का प्रयोग कर सकते हैं या फिर बाजार में उपलब्ध क्लिंजर का प्रयोग भी कर सकते हैं। ऑइल या मसाज क्रीम से त्वचा की मसाज करें, ताकि त्वचा में नयापन दिखाई दे। आप चाहें तो इसके लिए कोल्ड क्रीम का प्रयोग कर सकते हैं। यह आपकी त्वचा में नेचुरल चमक पैदा करने में मदद करेगा। 


फेस पैक के इस्तेमाल से आप त्वचा को रिस्टोर कर सकते हैं। साथ ही त्वचा में कसाव लाने के लिए भी यह एक बेहतरीन तरीका है। त्वचा के प्रकार के अनुरूप फेस पैक का चयन करें। बेसन, हल्दी, नीम पैक का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। इस मौसम में तेल मसाले वाली चीजें खाने से जरा परहेज ही रखें, वरना इसका असर आपकी त्वचा पर नजर आएगा। फ्रूट्स, जूस, सब्जियां, स्प्राउट्स का सेवन खूब करें। सूरज की किरणों में अल्ट्रा-वायलेट रे होती हैं जो आपके शरीर की रंगत को फीकी कर 


क्यों जरूरी है स्टीम लेनाक्यों जरूरी है स्टीम लेना




अक्टूबर का महीना ख़त्म होने को है और सर्दी ने अपमी दस्तक देना शुरू कर दिया है. इस मौसम में सर्दी लग्न एक आम बात है. अक्सर घरों में सर्दी लगने पर स्टीम दी जाती है और गर्ल्स तो बिना सर्दी के भी अपनी ब्यूटी को बढ़ाने के लिए स्टीम का भरपूर उपयोग करती देखी जा सकती है.सर्दी-जुकाम और कफ होने की स्थ‍िति में भाप लेना रामबाण उपाय है। भाप लेने से न केवल आपकी सर्दी ठीक होगी बल्कि गले में जमा हुआ कफ भी आसानी से निकल सकेगा और आपको किसी तरह की परेशानी नहीं होगी।त्वचा की गंदगी को हटाकर अंदर तक त्वचा की सफाई करने और त्वचा को प्राकृतिक चमक प्रदान करने के लिए भाप लेना एक बेहतरीन तरीका है। बगैर किसी मेकअप प्रोडक्ट का इस्तेमाल किए यह तरीका आपकी स्किन को ग्लोइंग बना सकता है। 


अगर चेहरे पर मुंहासे हैं, तो बिना देर किए चेहरे को भाप दीजिए। इससे रोमछिद्रों में जमी गंदगी और सीबम आसानी से निकल पाएगा और आपकी त्वचा साफ हो पाएगी। चेहरे की मृत त्वचा को हटाने एवं झुर्रियों को कम करने के लिए भी भाप लेना एक बढ़िया उपाय है। यह आपकी त्वचा को ताजगी देता है, जिससे आप तरोताजा नजर आते हैं। त्वचा की नमी भी बरकरार रहती है। अस्थमा जैसी स्वास्थ्य समस्याओं में भी भाप लेना काफी फायदेमंद साबित होता है। डॉक्टर्स ऐसी परिस्थति में भाप लेने की सलाह देते हैं, ताकि मरीज को राहत की सांस मिल सके। 


पानी में हर्बल और तेल डालकर भाप लेने से सांस की समस्‍याएं को जल्‍द ही खत्‍म किया जा सकता है। अगर आपको भाप लेने में असुविधा या जलन हो रही है तो तुरंत तौलिया हटा लें।अगर आप राहत महसूस कर रहे हैं तो भाप ना लें। बच्चें, गर्भवती महिलाएं या अस्थमा के रोगी भाप लेते समय ज्‍यादा सावधानी बरतें। सुंदरता के लाभ के लिए भी भाप ली जा सकती है।


बहुत जरूरी है विटामिन बी का सेवनबहुत जरूरी है विटामिन बी का सेवन






विटामिन बी हमारे शरीर मे एनर्जी लेवल को बूस्ट तो करता ही है साथ ही दिमाग को भी तेज़ और फ्रेश रखने मे मदद करता है। आइए बताते है क्या है वह पांच ऐसे महत्वपूर्ण विटामिन बी से भरपूर फूड जिनका सेवन आपको अपने दिनचर्या मे ज़रूर करना चाहिए.


केला विटामिन बी से भरपूर होता है। यह विटामिन बी5, बी6 का बहुत अच्छा सोर्स है। इसके अलावा इसमें विटामिन सी, फाइबर, पोटैशियम और 74% प्रतिशत पानी होता है। वहीं, केला स्ट्रेस को कम करने में भी मदद करता है। केले में ट्राइप्टोफान नामक एमिनो एसिड होता है, जो मूड को रिलेक्स करता है।


अखरोट में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स और एंटीऑक्सीडेंट्स की भरमार मात्रा होती है। इसके अलावा अखरोट में विटामिन बी5, बी1 (थियामिन) और विटमिन बी6 भी होता है। यही नहीं इसमें बहुत कम मात्रा में सैचुरेटेड फैट होता है। यह मूड को फ्रेश रखता है.


काजू में विटामिन बी3, बी1 और बी6 होते हैं, जिससे बॉडी और माइंड को एनर्जी मिलती है। इसमें आयरन, सेलेनियम, मैग्नेशियम और जिंक होता है। साथ ही यह एंटीऑक्सीडेंट और प्रोटीन का अच्छा सोर्स होता है। इससे ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहता है।


बॉडी में एनर्जी बनाए रखने के लिए पालक का नाम सबसे पहले आता है। इसमें विटामिन बी2, बी9, विटामिन सी, ए, आयरन, फॉलिक एसिड, कैल्शियम पोटैशियम और मेग्नेशियम होता है, जो पूरे शरीर और माइंड को हेल्दी बनाते हैं।


बादाम विटामिन बी2, बी1, बी5, बी3, बी9 और बी6 से भरपूर होता है। इसके अलावा इसमें विटामिन ई, मैग्नेशियम, आयरन 


आँखों को भी दीजिये आरामआँखों को भी दीजिये आराम




कम्प्यूटर और टेलीविजन की लाइफ में बढ चुकी महत्ता के चलते इनके लगातार संपर्क में रहना बहुत अधिक बढ़ चुका है। ऐसे में आंखों और शरीर पर हानिकारक प्रभाव पड़ना लाजमी है। दिए गए उपायों को अपना कर निश्चित तौर पर इन प्रभावों को कम किया जा सकता है। कम्प्यूटर के सामने बैठने वाले 50 प्रतिशत से लेकर 90 प्रतिशत तक लोगों में आंखों से जुड़ी समस्याएं जन्म ले लेती हैं। इन समस्याओं में चक्कर आना, काम में गलतियां, आंखें लाल होना और आंखों में जलन शामिल हैं।जानते हैं कुछ ऐसे उपाय जिनसे इस समस्या से राहत पाई जा सकती है। 


आंखों को कम्प्यूटर पर होने वाले नुकसान को कम करने और आराम बढ़ाने के लिए ध्यान रखकर बार बार पलकें झपकाना चाहिए। इससे आंखों में नमी उतरती है और आंखों में सूखापन लगने से छुटकारा मिलता है। अगर आप बहुत समय से लगातार कंम्प्यूटर के सामने बैठकर काम कर रहे हैं तो सबसे पहला कदम आंखों की सेहत की तरफ यह होगा कि आप किसी डॉक्टर के यहां जाकर अपनी आंखों की जांच करवाएं।


आवश्यकता से अधिक रोशनी भी आंखों को नुकसान पहुंचाती है। क्या आप जानते हैं कि खिड़की में से आती सूर्य की तेज रोशनी और कमरे की खूबसूरती बढ़ाने के लिए लगाई गईं लाइट्स आपकी आंखों के लिए नुकसानदायक हैं। इन स्थितियों में काम करने से आंख़ों पर दबाव बढ़ता है। 


आपके काम करने वाली जगह में रोशनी सफेद रंग की रखें। कम्प्यूटर की सैटिंग में जाकर ब्राइटनेस को एडजस्ट करें। ब्राइटनेस को सामान्य रखें बहुत ज्यादा ब्राइट या कम ब्राइट आंखों के लिए नुकसानदायक है।आपकी आंखें कम्प्यूटर की तरफ लगातार देखने के कारण थक जाती हैं। हर बीस मिनट बाद कम्प्यूटर से नजरें हटा लें। एक लंबे ब्रेक के बदले कई सारे छोटे-छोटे ब्रेक लिए जाने चाहिए। 



: मुट्ठी भर अंकुरित चने खाने से होंगे यह लाजवाब फायदेमुट्ठी भर अंकुरित चने खाने से होंगे यह लाजवाब फायदे






प्रोटीन, फाईबर्स, मिनरल्स और विटामिन्स से भरपूर चना कई माइनो में काजू-बादाम जैसे मंहगे ड्राय फ्रूट्स से भी ज्यादा फायदेमंद रहता है. रोजाना प्रात: काल खाली पेट एक मुठी अंकुरित चनो को खाने से हमारे स्वस्थ्य और शरीर को कई फायदों होते है. कुछ ऐसे ही फायदे आज हम आपको बताने जा रहे है.


- इसमे पाए जाने वाले आयरन, प्रोटीन और मिनरल्स हमारे शरीर एनर्जी और एंटीऑक्सीडेंट्स प्रदान करते है. जिससे कमजोरी की समस्या दूर होती है.


- चने में फॉस्फोरस और मैगनीज़ जैसे मिनरल्स पाए जाते है. जो दाद और खुजली जैसी त्वचा संबंधी समस्याओ से निजात दिलाने में मदद करते है.


- चने में आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. जो हमे एनीमिया जैसी बिमारियों से बचाने में मदद करती है.


- चने में अल्फ़ा लिनोलेनिक एसिड और ओमेगा-3 फैटी एसिड हमारे शरीर से कोलेस्ट्रॉल लेवल कम करने के साथ ही हार्ट अटैक जैसी बिमारियों से बचाने में मददगार होती है.


- चने में भी दूध के समान कैल्शियम पाया जाता है. जिससे हड्डियां मजबूत होती है.


- चने में फॉस्फोरस प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. जो हमारे शरीर से हीमोग्लोबिन के लेवल को बढ़ाने के साथ ही किडनी से एक्स्ट्रा साल्ट को बाहर निकलता है.


क्यों जरूरी है स्टीम लेना


ये टिप्स अपनाइये और रहिये सदा खूबसूरत


क्या आप भी है दो मुँहे बालो से परेशान

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.