Header Ads

कैंसर से छुड़ाना है पीछा तो ये फल-सब्जी खाने की बजाए खाएं उनके छिलके!

कैंसर से छुड़ाना है पीछा तो ये फल-सब्जी खाने की बजाए खाएं उनके छिलके!


Navodayatimes
नई दिल्ली (टीम डिजिटल): ज्यादातर सब्जियों और फलों का इस्तेमाल करते वक्त आप उनके छिलकों को बेकर समझकर फेंक देते हैं। जो कि आपको नहीं करना चाहिए। क्योंकि जितनी फल और सब्जियां हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होती हैं, उतने ही उनके छिल्के भी हमारी सेहत के लिए फायदेमंद  होते हैं। आइए जानते हैं कि कौन सी सब्जियां और फलों को  हमें छिलके समेत खाना  चाहिए।

सेब के छिलके
जितना मिनरल और विटामिन सेब में होते हैं उससे कहीं ज्यादा पोषक तत्व सेब के छिलके में पाए जाते हैं। सेब के छिलके में सेब से चार गुना ज्यादा विटामिन 'के' होता हैं। जिससे ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद मिलती हैं।
Navodayatimes
गाजर के छिलके
गाजर के छिलके में 'विटामिन्स बी - 6, सी और ए' के साथ महत्वपूर्ण लवण जैसे मैग्नीशियम और पोटेशियम भी पाए जाते हैं। गाजर के छिलके खाने से शरीर के कैंसर को रोकने और प्रतिरक्षा सुधारने में मदद मिलती हैं। साथ ही इसमें मौजूदा 'विटामिन ए' आंखों को बेहद फायदा पहुंचाता हैं।
Navodayatimes
 आलू के छिलके
आलू के छिलके सबसे ज्यादा गुणदायक होते हैं। अगर आप आलू को छिल के पकाते हैं तो आलूओं के अंदर गुणों की मात्रा कम हो जाती हैं। इसके छिलकों में कैल्शियम ,विटामिन बी कॉम्पलेक्स , विटामिन सी, आयरन आदि होते हैं। जो आंखो के लिए काफी फायदेमंद होता हैं।
Navodayatimes
केले के छिलके
आप केले को खाने के बाद उसके छिलके कूड़े में फेक देते हैं तो अगली बार ऐसा बिल्कुल भी नही मत करना। क्योंकि केले के छिलके से आपके शरीर को बहुत अधिक मात्रा में पोषण मिलता हैं। साथ ही इसमें विटामिन ए की मात्रा भी अधिक पाई जाती हैं। जो शरीर में इम्यूनिटी  को मजबूत कर इंफेक्शन से लड़ने में मदद करता हैं।
Navodayatimes
 बैंगन के छिलके
बैंगन के छिलको में भी बेहद पौष्टिक तत्व होते हैं। जो शरीर को दिमाग और नर्वस सिस्टम से होने वाले कैंसर से बचाता हैं। बैंगन के छिलके में मौजूद फाइबर  शरीर की कोशिकाओं की रक्षा करने में भी मदद करता हैं।
Navodayatimes
खीरे के छिलके
खीरे को छिलके समेत खाने से कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, पोटेशियम, विटामिन 'ए' और विटामिन 'के' प्राप्‍त होता है, जो शरीर को प्रोटीन अवशोषण में मदद करता है। 

Navodayatimes
तरबूज का छिलका:
तरबूज का छिलका , सफेद या हरे रंग का होता हैं इसमें अमीनो एसिड की मात्रा काफी होता है जिससे शरीर में रक्‍त का संचार अच्‍छी तरह होता है और रक्‍त वाहिकाओं की क्रिया सुचारू रूप से चलती है।
Navodayatimesकीवी के छिलका: 
कीवी का फल डेंगू के असर को कम करने में मदद करता हैं। इतना ही असर दर कीवी का छिलका भी होते हैं। जिसमें  विटामिन सी  की मात्रा अधिक होती हैं। 
Navodayatimes

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.