Header Ads

लहसुन के फायदे

लहसुन के फायदे और नुकसान




अगर आपने पानी पीने के फायदों के बारे में नहीं सुना तो आज एक बार फिर से जान लीजिए. सुबह खाली पेट पानी पीना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होता है लेकिन अगर आप ये पानी कच्चे लहसुन के साथ पीते हैं तो ये आपकी सेहत को दोगुना फायदा देगा. शायद आपको इस बात पर यकीन ना हो लेकिन ये शत-प्रतिशत सही बात है. आपको बता दें कि कच्चा लहसुन भी भारतीय रसोईं में पाया जाने वाली सब्जी है जिसे हम एक जड़ी बूटी से कम नहीं आंक सकते हैं बशर्ते पहले आप कच्चा लहसुन के गुणों के बारे में अच्छी तरह से जान लें.

आपको बता दें कि पिछले कई सौ सालों से इंसान अपनी रसोईं में खाने का जायका बढ़ाने के लिए लहसुन का इस्‍तेमाल करता आ रहा है, लेकिन वो लहसुन के गुणों को पूरी तरह से नहीं समझ पाया है. आपको बता दें कि सुबह के समय खाली पेट पानी के साथ कच्चा लहसुन लेने पर आपके संपूर्ण स्वास्थ्य में बहुत ही सुधार आता है. आइए अब हम आपको बताएं कि ये फायदा आप कैसे ले सकते हैं.


क्या आप जानते हैं कि हमारे किचन में छिपा है सेहत का खज़ाना? जी हां, बस ज़रूरत है इसके बारे में जानने की। इनमें से एक है लहसुन, जो स्वास्थ्यवर्धक होता है और औषधीय गुणों से भरपूर होता है साथ ही आसानी से उपलब्ध भी होता है। लहसुन न केवल पूरे भारत में, बल्कि विश्व के कई देशों में शौक़ से खाया जाता है। हर खाने के स्वाद को बढ़ाने के लिए इससे बेहतरीन विकल्प हो ही नहीं सकते। लहसुन मूल रूप से एशिया से है, लेकिन इसका इतिहास काफी पुराना है। यह एक ऐसा खाद्य पदार्थ है, जो कि संयुक्त राज्य में ख़ूब उगाया जाता है। लहसुन में सिर्फ़ सेहत के ही नहीं, ख़ूबसूरती बढ़ाने के भी कई गुण हैं। तो आइये जानते हैं, लहसुन के बारे में वो तमाम बातें, जो हमें जाननी चाहिए।

लहसुन में औषधीय गुण



लहसुन को प्लांट तिलिस्मान और रशियन पेनिनसिलिन के नाम से भी जाना जाता है। इसका वानस्पतिक नाम एलियम सैटवुम भी है। इसे अंग्रेजी में गार्लिक कहते हैं। यह पौधा प्याज़ वर्ग का माना जाता है। लहसुन में काफ़ी औषधीय गुण होते हैं और मुख्य रूप से यह इज़रायल, पर्शिया, तिब्बत, ईरान में ख़ूब इस्तेमाल होता है। इसकी वजह यह है कि यह अपने आप में एक नैचुरल एंटी बायोटिक होता है। लहसुन से जुड़ी एक दिलचस्प बात यह है कि मिस्र में पिरामिड का निर्माण करने वाले गुलामों के लिए लहसुन का इस्तेमाल सप्लीमेंट के रूप में किया जाता था। लोग कई बीमारियों का इलाज इससे करते थे। हालांकि मान्यता है कि ज़मीन पर लहसुन राक्षसों के रक्त से बना, इसलिए पूजा पाठ में इसे वर्जित रखा जाता है। लेकिन आयुर्वेद में इसका बहुत महत्व है। ख़ासतौर से जो छह स्वाद का विवरण दिया गया है, उसमें लहसुन का स्वाद भी मौजूद है, लहसुन अपने आप में कई गुण लिए हुए हैं। लहसुन में तीखा, नमकीन, मीठा, कड़वा और कसैलापन होता है। लहसुन की मुख्य रूप से खेती भारत, चीन, यूरोप, ईरान और मेक्सिको में की जाती है। लहसुन की तासीर मगर गर्म होती है, इसलिए कच्चे लहसुन हद से अधिक भी नहीं खानी चाहिए। लहसुन का उपयोग सब्ज़ी बनाते हुए या फिर किसी भी नॉन वेज व्यंजन में करने से स्वाद बढ़ जाता है।
लहसुन से सेहत के 12 फायदे



लहसुन हमें कई बीमारियों से बचाता है। आइये, जानते हैं कि सेहत के लिए लहसुन का सेवन क्यों किया जाना चाहिए।

1. लहसुन दिल के मरीज़ों के लिए रामबाण की तरह है, कारण कि इसमें कोलेस्ट्रॉल को कम कर, हृदय रोग को दूर करने की क्षमता होती है। इसलिए डॉक्टर भी हृदय रोगियों को रोज़ाना सुबह एक या दो लहसुन की कली का सेवन करने की सलाह देते हैं।

2. लहसुन में उच्च रक्तचाप, यानी ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करने की क्षमता होती है। ऐसे मरीजों को हर दिन सुबह खाली पेट लहसुन की कलियां खानी चाहिए।



3. लहसुन के सेवन से गठिया के दर्द में भी काफी आराम मिलता है। साथ ही पैरों या हड्डियों में कहीं भी दर्द हो तो, सरसों के तेल में लहसुन की कलियां डाल कर, उसकी मालिश करने से आराम मिलता है। यही वजह है कि प्राचीन काल में मालिश के तेल में हमेशा लहसुन की कलियां डाली जाती थी। लहसुन में एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी -इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो गठिया में काफी मदद करते हैं।

4. शरीर में अगर किसी तरह की सूजन भी है तो लहसुन के सेवन और उसे तेल में डाल कर उससे मसाज़ करने की सलाह दी जाती है।

5. ठंड के दिनों में इम्युनिटी और शरीर में गर्माहट बरक़रार रखने के लिए भी लहसुन का सेवन करना चाहिए। लहसुन में कई विटामिन जिनमें सी, बी6, सेलेनियम, मैगनीज़ होते हैं जो इम्युनिटी बढ़ाते हैं।

6. अगर किसी को दाद की परेशानी भी है, तब भी उन्हें फंगल इंफेक्शन से बचाने में लहसुन का सेवन सहायक होता है। चूंकि लहसुन में एंटी फंगल तत्व भी होते हैं।



7. ठंड के दिनों में अगर अधिक सर्दी-ज़ुकाम हो तब भी लहसुन की कलियां काम आती हैं। लहसुन में एंटी -बायोटिक और एंटी-वायरल भी होता है, जिसकी वजह से यह सर्दी ज़ुकाम को दूर भगाता है।

08. पाचन क्रिया के लिए भी लहसुन बहुत अच्छा होता है। यह पेट संबंधी बीमारियों को कम करने का काम करता है। दस्त हो रहे हों तो लहसुन के सेवन करने से फ़र्क पड़ता है।

09 . लहसुन में मौजूद एलिल सल्फर कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकती है। यह कैंसर के ट्यूमर में ख़ून को जाने से रोकता है। नियमित रूप से इसका सेवन करने से यह पेट, गैस्ट्रिक और कोलन कैंसर में फ़ायदेमंद होता है।

10. लहसुन में ऐलिसिन होता है, जो दांतों को खराब होने से रोकता है , साथ ही इसके सेवन से मसूड़ों की बीमारी भी नहीं होती है। दांतों के दर्द से छुटकारा पाने के लिए लहसुन को तेल में डाल कर उससे दांतों की मालिश करने से आराम मिलता है।
ख़ूबसूरती के लिए भी फ़ायदेमंद हैं लहसुन



यूं तो लहसुन की तासीर काफी गर्म होती है, लेकिन फिर भी इसका इस्तेमाल कई होम केयर ब्यूटी के लिए किया जाता है। लहसुन में कुछ ऐसे तत्व होते हैं, जिनसे स्किन जल भी सकती है। इसलिए स्किन पर इसके इस्तेमाल से पहले सारी जानकारी रखना बहुत जरूरी है।
लहसुन की कली को पीस कर उसे टमाटर के साथ मिला कर पेस्ट बना लेना चाहिए और फिर उसके पेस्ट को चेहरे पर दस मिनट तक लगा छोड़ देना चाहिए। इससे स्किन के पोर्स खुल जाते हैं और चेहरा साफ़ नजर आता है।
लहसुन के रस को जैतून के तेल को साथ में गर्म कर अगर स्ट्रेच मार्क पर लगाया जाए, तो कुछ दिनों में स्ट्रेच मार्क्स कम होते जाएंगे। लहसुन से स्किन पर होने वाले लाल धब्बों को भी आसानी से हटाया जा सकता है, लहसुन के पेस्ट को निशानों पर लगाया जाए तो उससे काफी फायदा मिलता है।
लहसुन झुर्रियों को भी कम करने के लिए काफी अच्छा होता है। यदि आपके चेहरे और गर्दन पर झुर्रियां हैं, तो लहसुन को शहद और नींबू के साथ मिला कर इसका सेवन करना चाहिए। इससे झुर्रियां जल्दी नहीं आती हैं।
लहसुन को अगर एलोवेरा के साथ मिला कर चेहरे पर लगाया जाए, तो इससे भी चेहरा दमक उठता है।
अगर आपकी गर्दन काफी काली हो गई है तो, लहसुन को पीस कर, उसमें नींबू मिला कर भी गर्दन में वह पेस्ट लगाना चाहिए, हफ्ते में तीन बार ऐसा करने से काफी अच्छा रिजल्ट मिलेगा।
अगर आपके चेहरे पर पुराने कोई भी दाग हैं या फिर आपने मुंहासों को फोड़ कर वहां दाग कर लिया है तो मुल्तानी मिट्टी के साथ लहसुन जाएं, इससे धीरे-धीरे दाग हल्के हो जायेंगे।
बालों की ख़ूबसूरती के लिए


लहसुन न सिर्फ़ स्किन और सेहत के लिए, बल्कि बालों के लिए काफी अच्छा होता है। लहसुन में ऐसे कई तत्व हैं, जो बालों की सेहत को अच्छा कर देते हैं।
आपके बाल ड्राय हो या ऑयली लहसुन का पेस्ट हर तरह के बालों के लिए फ़ायदेमंद है। इससे बालों में रूसी की समस्या ख़त्म हो जाती है लहसुन की दस कलियां और दो चम्मच शहद को मिलाकर बालों में आधे घंटे तक लगा कर रखा जाये, तो बालों की अच्छी कंडीशनिंग हो जाती है।
लहसुन की दस कलियां लेकर उसमें जैतून का तेल मिला लें। हर दो दिन में इसे बालों में लगाएं, इससे बाल घने और मुलायम हो जाएंगे। लहसुन के पेस्ट को भून पर, उसमें नारियल तेल, मेहंदी का तेल मिला कर उसे अगर हफ़्ते में एक बार लगाया जाए तो इससे बालों को रंगत मिलती है।
लहसुन के पेस्ट को स्कैल्प पर लगाने से बालों में होने वाले इंफेक्शन से भी छुटकारा मिलता है।
लहसुन में मौजूद विटामिन-ई होता है, इसलिए लहसुन के पेस्ट लगाने से बालों की लंबाई भी काफी तेजी से बढ़ती है और बालों का झड़ना बंद होता है।
लहसुन से होने वाले नुकसान



इसमें कोई संदेह नहीं है कि लहसुन में अनेक ख़ूबियां हैं, लेकिन फिर भी इसके उपयोग को लेकर कुछ जानकारी ज़रूरी है।

1 . लहसुन का सेवन पेट ख़राब होने पर, पेट फूलने पर, गंदी सांस की परेशानी होने पर नहीं करना चाहिए।

2. गर्भवती महिलाओं को चिकित्सक की सलाह पर ही इसका सेवन करना चाहिए।

3.अगर आप रेगुलर कोई एंटी बायोटिक दवा खा रहे हैं तो लहसुन के सेवन से पहले आपको एक बार डॉक्टर की सलाह ज़रूर लेनी चाहिए।

4. लहसुन में ओरगेनो सल्फर होता है, इसलिए इसे चेहरे पर कम मात्रा में लगाएं, वरना फफोले हो सकते हैं। अगर स्किन पर इसे लगाते ही इचिंग या फिर एलर्जी जैसा लगे, तो इसे न लगाएं।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.