Header Ads

"घांव इतना गहरा है बयां क्या करे

"घांव इतना गहरा है बयां क्या करे
हम खुद निशाना बन गये अब वार क्या करे
जान निकल गयी मगर खुली रही आंखें
अब इससे ज्यादा उनका इंतझार क्या करे"
"हम जिनके दीवाने है वो गैरों के गुण गाते थे,
हमने कहा आपके बिन जी ना सकेंगे,
तो हंस के कहने लगे,
के जब हम ना थे तब भी तो जीते थे.."

दोनों आखों मे अश्क दिया करते हैं
हम अपनी नींद तेरे नाम किया करते है
जब भी पलक झपके तुम्हारी समझ लेना
हम तुम्हे याद किया करते हैं"

"उन्होंने अपना कभी बनाया ही नहीं,
झूठा ही सही प्यार दिखाया ही नहीं,
गलतियां अपनी हम मान भी जाते,
पर क्या करें कसूर हमारा हमें बताया ही नहीं."

"हर प्यार में एक एहसास होता है,
हर काम का एक अंदाज होता है,
जब तक ना लगे बेवफाई की ठोकर,
हर किसी को अपनी पसंद पे नाज़ होता है."

"पहले कभी ये यादें ये तनहाई ना थी,
कभी दिल पे मदहोशी छायी ना थी,
जाने क्या असर कर गयीं उसकी बातें,
वरना इस तरह कभी याद किसी की आयी ना थी।"
वो जो हमसे नफरत करते हैं,
हम तो आज भी सिर्फ उन पर मरते हैं,
नफरत है तो क्या हुआ यारो,
कुछ तो है जो वो सिर्फ हमसे करते हैं।"

"रस्मों रिवाज की जो परवाह करते हैं,
प्यार में वो लोग गुनाह करते हैं
इश्क वो जुनून है जिसमें दीवाने
अपनी खुशी से खुद को तबाह करते हैं

"काश वो नगमे सुनाये ना होते
आज उनको सुनकर ये आंसू आये ना होते
अगर इस तरह भूल जाना ही था
तो इतनी गहरायी से दिल में समाये ना होते"

"रिश्ता हमारा इस जहां में सबसे प्यारा हो
जैसे जिंदगी को सांसों का सहारा हो
याद करना हमें उस पल में
जब तुम अकेले हो और कोई ना तुम्हारा हो"

एक रात वो मिले ख्वाब में,
हमने पुछा क्यों ठुकराया आपने.
जब देखा तो उनकी आँखों में भी आंसू थे,
फिर कैसे पूछते क्यों रुलाया आपने."

"बेशक वो नहीं करते बात कभी
फिर उनसे मिलने को दिल बेकरार क्यों है
उनकी याद तो अब रात को सोने भी नहीं देती
जाने हमको उनसे इतना प्यार क्यों है"

"बेवफाई का डर था तो प्यार क्यों किया,
तनहाई का डर था तो इकरार क्यों किया,
मुझसे मौत भी पूछेगी आने से पहले,
कि जो नहीं आने वाले थे,
तूने उनका इंतजार क्यों किया."

"उसको बस इतना बता देना,
इतना आसान नहीं हैं तुम्हे भुला देना.
तेरी यादें भी तेरे जैसी ही हैं,
उन्हें आता है बस रुला देना."
"सिर्फ चाहने से मुलाकात नहीं होती,
सूरज के साथ रात नहीं होती.
हम जिसे चाहते है,जान से भी ज्यादा,
सामने होते हुए भी बात नहीं होती."

हर नज़र को 1 निगाह का हक़ है,
हर नूर को 1 आह का हक़ है.
हम भी दिल लेकर आये है इस दुनिया में,
हमे भी तो 1 गुनाह करने का हक़ है"

"उसका शुक्रिया कुछ इस तरह से अदा करूँ
वो करे बेवफाई और मैं सदा वफ़ा करूँ
मेरी मोहोब्बत ने बस इतना सिखाया मुझे
खुद मिट जाऊं पर उसके लिए दुआ करूँ"

"सितम को हमने बेरुखी समझा,
प्यार को हमने बंदगी समझा,
तुम चाहे हमे जो भी समझो,
हमने तो तुम्हे अपनी ज़िन्दगी समझा."

"जब भी कभी आप चाँद को,
देखो तो याद करना हमे,
ये सोचकर नहीं की कितना चमकता है,
वो उन सितारों में बल्कि,
ये सोच कर कितना तनहा है वो हजारों में."

"आपकी अदा से हम मदहोश हो गये
आप नॆ पलट कर देखा तो हम बॆहोश हो गये
यही एक बात कहनी थी आपसॆ
ना जाने क्यूँ
आपको दॆखतॆ ही हम खामोश हो गये ..."

"तुम्हारी यादो की महक इन हवाओमॆ है
प्यार ही प्यार बिखरा इन फिजाओमॆ है
ऎसा न कि दुरीया दर्द बन जायॆ
अब तो आप कॆ आनॆ का इंतजार इन निगाहों को है"

"बादल कितने खुशनसीब हैं,
दूर रहकर भी जमीन पर बरसतॆ है,
हम कितने बदनसीब है,
पास रहकर भी मिलने को तरसतॆ है .."

"मैने तुझको ही चाहा हैं,
तू ही मेरा पहला प्यार है,
मेरे दिल की तू ही धड़कन,
तेरा ही मुझको इंतजार के है."

जब आप किसी को चाहो तो ऎ मत सोचो की,
वो आप को पसंद करता है की नही,
बस उसॆ इतना चाहो की उसॆ आप कॆ सिवा,
किसी और की चाहत पसंद ही ना आए ..."

"इस कदर हम यार को मनानॆ निकलॆ,
उसकी चाहत के हम दीवाने निकलॆ,
जब भी उसॆ दिल का हाल बताना चाहा,
तो उसकॆ होंठों से वक्त ना होनॆ के बहानॆ निकलॆ ...

"हमारा हर लम्हा चुरा लिया आपने,
आँखों को इक चाँद दिखा दिया आपने.
हमॆ ज़िंदगी दि किसी और नॆ,
पर प्यार इतना दॆखकर जीना सिखा दिया आपने."

"तुझे भुलकर भी ना भूल पायॆंगॆ हम,
बस यही ​​एक वादा निभा पाऎंगॆ हम.
मीटा देंगे खुद को भी जहाँ से लॆकिन,
तेरा नाम दिल से न मीटा पाऎंगॆ हम .. "

"वो नदिया नहीं आंसू थॆ मॆरॆ,जिनपर,
वो कश्ती चलातॆ रहे
मंज़िल मीलॆ उन्हॆ ये चाहत थी मेरी,
इसलऎ हम आंसू बहातॆ रहे."

"दुआ करते है हम खुदा से,
ऎ खुदा हमारा प्यारा अपनी मंज़िल पाऐ,
उसकी राहो मे अँधेरा आए ..
तो रोशनी के लिये हमॆ जलाऎ "

"ये प्यारी निगाहॆं याद रहॆंगी,
मिलकर ना मिलने की अदा याद रहॆंगी,
मुमकिन नहीं की मॆं तुम्हॆ भुला दुं,
और उमर भर तुम्हॆ भी मेरी याद रहॆगी.

"याद किसी को करना यह बात नही जताने की,
दिल पर चोट देना आदत है जमाने की,
हम आप को याद बिल्कुल नही करते,
क्यूँ की याद करना एक निशानी है भूल जाने की."

"वो आँखो से यूँ शरारत करते हैं,
अपनी अदाओं से यूँ क़यामत करते हैं,
निगाहें उनके चेहरे से हटती ही नही,
और वो हमारी नज़रो से शिकायत करते हैं."

"उमर की राह मे रास्ते बदल जाते हैं,
वक़्त की आँधी मे इंसान बदल जाते हैं,
सोचते हैं आपको इतना याद ना करें,
लेकिन आँख बंद करते ही इरादे बदल जाते हैं."

खूबियाँ इतनी तो नही हम मे,
कि तुम्हे कभी याद आएँगे,
पर इतना तो ऐतबार है हमे खुद पर,
आप हमे कभी भूल नही पाएँगे.."

"तरस गये आपके दीदार को,
दिल फिर भी आपका इंतज़ार करता है,
हमसे अच्छा तो आपके घर का आईना है,
जो हर रोज़ आपका दीदार करता है."

"कुछ लोग सितम करने को तैयार बैठे हैं,
कुछ लोग हम पर दिल हार बैठे हैं,
इश्क को आग का दरिया ही समझ लीजिये,
कुछ इस पार तो कुछ उस पार बैठे हैं."

"जो रहते हैं दिल में,
वो जुदा नही होते,
कुछ अहसास लफ़्ज़ों में बयान नही होते,
एक हसरत है उन्हे मानने की,
वो इतने अच्छे हैं कि कभी खफा ही नही होते.."

"सामने ना हो तो तरसती हैं आँखे,
बिन तेरे बहुत बरसती हैं आँखे,
मेरे लिए ना सही इनके लिए आ जाओ,
क्यूंकी तुमसे बेपनाह प्यार करती हैं आँखे."

"चिंगारी का खौफ न दो हमें,
दिल में आग का दरिया बसाये बैठे हैं.
जल जाते कब के इस आग में,
मगर खुद को आंसुओं में भिगोये बैठे हैं."


जब आपका नाम ज़ुबान पर आता है,
पता नही दिल क्यों मुस्कुराता है,
तसल्ली होती है हमारे दिल को,
कि चलो कोई तो है अपना,
जो हर वक़्त याद आता है."

"नज़र जब मिली तो फसाना हो गया,
एक पल मे दिल तेरा दिवाना हो गया,
जब से वह आए हैं मेरी ज़िन्दगी मे,
अंदाज़ 'प्यार' का शायराना हो गया,"

मूहोबट के भी कुछ अंदाज होते है,
जागती आँखो के भी कुछ ख्वाब होते है,
ज़रूरी नही के गम मे ही आँसू निकले,
मुस्कुराती आँखो मे भी सैलाब होते है"

एक आंसू भी गिरा तो सुनाई देगा
आज खुशियों की कोई दुहाई देगा
निकला है तो चाँद दिखाई देगा
ऐ मोहब्बत करने वालो देख कर मोहब्बत करना
एक आंसू भी गिरा तो सुनाई देगा"

आँखों के सामने हर पल आपको पाया हैं,
अपने दिल में भी सिर्फ आपको ही बसाया हैं,
आपके बिना हम जिए भी तो कैसे........
भला जान के बिना भी कोई जी पाया हैं "

तेरी चाहत में हम ज़माना भूल गये,
किसी और को हम अपनाना भूल गये,
तुम से मोहब्बत हैं बताया सारे जहाँ को,
बस एक तुझे ही बताना भूल गये....."

"मेरे दिल के नाज़ुक धड़कनो को,
तुमने धड़कना सिखा दिया.....
जब से मिला हैं प्यार तेरा,
ग़म में भी मुस्कुराना सिखा दिया."

"आपने कहा मोहब्बत पूरी नहीं होती हम कहते हैं हर बार ये बात जरुरी नहीं होती ||
मोहब्बत तो वो भी करते हैं उनसे......|
जिन्हें पाने की कोई उम्मीद नहीं होती ||"

"जिंदगी में तुमसे एक लम्बी मुलाकात हो,
मिलकर साथ बैठे हम और लम्बी बात हो,
करने को सिर्फ तेरी - मेरी बात हो....
रुक जाये वक़्त फिर दिन हो न रात हो. "

"बदलना आता नहीं हमको मौसम की तरह,
हर एक रूप में तेरा इंतज़ार करते हैं......
न तुम समेट सकोगी जिसे क़यामत तक,
कसम तुम्हारी तुम्हे इतना प्यार करते हैं."

"दूर कही मेरी नजरो में रहती हो तुम,
हर लम्हा मेरे खयालों में रहती हो तुम,
कैसे हो किस हाल में हो तुम......?
दिल के हर सवाल में रहती हो तुम."

"चुपके से धड़कन में उतर जायेंगे,
राहे उल्फत में हद से गुजर जायेंगे,
आप जो हमे इतना चाहेंगे......
हम तो आपकी साँसों में पिघल जायेंगे."

"आप से जब हमारी यारी हो गई,
दुनियाँ हमारी और भी प्यारी हो गई,
इस से पहले किसी भी चीज के आदि न थे,
पर अब आपको याद करने की बिमारी हो गई."

"अधूरे मिलन की आस हैं जिंदगी,
सुख - दुःख का एहसास हैं जिंदगी,
फुरसत मिले तो ख्वाबो में आया करो,
आप के बिना बड़ी उदास हैं जिंदगी."

"हमारी गलतियों से कही टूट न जाना,
हमारी शरारत से कही रूठ न जाना,
तुम्हारी चाहत ही हमारी जिंदगी हैं,
इस प्यारे से बंधन को भूल न जाना."

"उसकी याद हमें बेचैन बना जाती हैं,
हर जगह हमें उसकी सूरत नज़र आती हैं,
कैसा हाल किया हैं मेरा आपके प्यार ने,
नींद भी आती हैं तो आँखे बुरा मान जाती हैं."

"उल्फत की जंजीर से डर लगता हैं,
कुछ अपनी ही तकदीर से डर लगता हैं,
जो जुदा करते हैं, किसी को किसी से,
हाथ की बस उसी लकीर से डर लगता हैं."

"ख्वाबो में मेरे आप रोज आते हो,
कभी दर्द, कभी खुशियाँ दे जाते हो,
कितना प्यार करते हो आप मुझ से,
शिर्फ़ मेरे इस सवाल का जबाब टाल जाते हो."

"हर वक्त मुस्कुराना फिदरत हैं हमारी,
आप यूँ ही खुश रहे हसरत हैं हमारी,
आपको हम याद आये या ना आये,
आपको याद करना आदत हैं हमारी."

हर वक्त मुस्कुराना फिदरत हैं हमारी,
आप यूँ ही खुश रहे हसरत हैं हमारी,
आपको हम याद आये या ना आये,
आपको याद करना आदत हैं हमारी."

" रात गुमसुम हैं मगर चाँद खामोश नहीं,
कैसे कह दूँ फिर आज मुझे होश नहीं,
ऐसे डूबा तेरी आँखों के गहराई में आज,
हाथ में जाम हैं,मगर पिने का होश नहीं."

दिन तेरे ख़याल में गुजर जाता हैं,
रातों को भी ख़याल तेरा ही आता हैं,
कभी ये ख़याल इस तरह बढ़ जाता है की,
आयने में भी तेरा ही चेहरा नज़र आता हैं."

एय मेरी जिन्दगी यूँ मुझसे दगा ना कर,
उसे भुला कर जिन्दा रहू दुआ ना कर,
कोई उसे देखता हैं तो होती हैं तकलीफ,
एय हवा तू भी उसे छुवा ना कर ...."

"वो वक्त वो लम्हे अजीब होंगे,
दुनियाँ में हम खुश नशीब होंगे,
दूर से जब इतना याद करते हैं आपको,
क्या हाल होगा जब आप हमारे करीब होगे."

_तुमसे एक गुज़ारिश करने को जी चाहता है,,_*
*_खामोशी सी छाई है दिल पर,_*
*_तुमसे दो लफ्ज़ सुनने को जी चाहता है ...!!!_*

आओ ले चलें इशक़ को वहाँ तक, जहाँ फिर से कोई कहानी हो…
जहाँ फिर कोई ग़ालिब नज़्म पढे, फिर कोई मीरा दीवानी हो"

आहिस्ता चल ज़िन्दगी, अभी कई क़र्ज़ चुकाना बाकी है,
कुछ दर्द मिटाना बाकी है, कुछ फ़र्ज़ निभाना

: जीत किसके लिए हार किसके लिए,
ज़िंदगी भर ये तकरार किसके लिए,
जो भी आया है वो जायेगा एक दिन,
फिर ये इतना अहंकार किसके लिए।,,

सरेआम ये शिकायत है मुझे ज़िन्दगी से,
क्यों मिलता नहीं मिजाज मेरा किसी से…

*हर चीज वही मिल जाती है,*
*जहाँ वो खोयी हो,*
*लेकिन,*
*विश्वास वहाँ कभी नही मिलता,*
*जहाँ एक बार खो जाता है....*

*""..जो कल था उसे भूलकर तो देखों..""*
*""...जो आज है उसे जीकर तो देखों..""*
*""आने वाला पल खुद "संवर" जायेगा""*

बड़े अनमोल हे ये खून के रिश्ते इनको तू बेकार न कर , मेरा हिस्सा भी तू ले ले मेरे भाई घर के आँगन में दीवार ना कर….!!

: एक दिन हम भी कफ़न ओढ़ जाएँगे…..
हर एक रिश्ता इस ज़मीन से तोड़े जाएँगे……
जितना जी चाहे सतालो यारो……
एक दिन रुलाते हुए सबको छोड़ जाएँगे…

एक दिन बादशाह जरूर बनूँगा......
पर अपने प्यार के लिए नहीं अपने यार के
लिए

दोस्ती इन्सान की ज़रुरत है!
दिलों पर दोस्ती की हुकुमत है!
आपके प्यार की वजह से जिंदा हूँ!
वरना खुदा को भी हमारी ज़रुरत है!

सोचा था न करेंगे किसी से दोस्ती!
न करेंगे किसी से वादा!
पर क्या करे दोस्त मिला इतना प्यारा की करना पड़ा दोस्ती का वादा!

बरसात आये तो ज़मीन गीली न हो,
धूप आये तो सरसों पीली न हो,
ए दोस्त तूने यह कैसे सोच लिया कि,
तेरी याद आये और पलकें गीली न हों।

मुझको पढ़ना हो तो मेरी शायरी पढ़ लो ,,
लफ्ज बेमिसाल न सही, जज्बात लाजवाब होंगे ..

आँखों में ही देखा दिल में उतरकर नहीं देखा ,
कश्ती के मुशाफिर ने समंदर नहीं देखा ,
और पत्थर ही समझते रहे मेरे चाहने वाले ,
मै मोम था उसने कभी छूकर नहीं देखा....

मुहब्बत सिर्फ दो जिस्मो कि*
*दास्ता नहीं साहिब*
*ये एक रूह पे एक रूह के*
*फ़ना होने की कहानी हैं ..*

💞रूठना मत कभी हमसे, मना नही पायेंगे,
तेरी वो कीमत है मेरी जिंदगी में, कि शायद हम अदा नहीं कर पायेंगे.💞.

दिल मे बने रहना ही अच्छी शोहरत है ,
वरना मशहूर तो कत्ल करके भी हुआ जा सकता है।

*ये "शायरी" भी "दिल" बहलाने का एक "तरीका" है साहब...!!
जिसे हम "पा" नहीं सकते उसे
"अल्फ़ाज़ों" में जी लेते हैं..

कुछ फासले ऐसे भी होते हैं ....
जो खतम तो नहीं होते;
मगर .....
नजदीकियां कमाल की रखते हैं .....






इरादा कत्ल का था तो ~मेरा सर कलम कर देते क्यू इश्क मे डाल कर तुने ~हर साँस पर मौत लिख दी..!!


नफ़रत सी हो गई हैँ इस दुनिया से, एक तुम से मोहब्बत करके॥


चल आ तेरे पैरो पर मरहम लगा दूं ऐ मुक़द्दर. कुछ चोटे तुझे भी आई होगी, मेरे सपनो को ठोकर मारकर !!


मुझको पढ़ पाना हर किसी के लिए मुमकिन नहीं, मै वो किताब हूँ जिसमे शब्दों की जगह जज्बात लिखे है….!!


हमेशा उस इंसान के करीब रहो जो तुम्हे खुश रखे लेकिन उस इंसान के और भी करीब रहो जो तुम्हारे बगैर खुश न रह पाए


यादों की किम्मत वो क्या जाने,
जो ख़ुद यादों के मिटा दिए करते हैं,
यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो,
यादों के सहारे जिया करते हैं…


उन्होंने अपना कभी बनाया ही नहीं,
झूठा ही सही प्यार दिखाया ही नहीं...,
गलतियां अपनी हम मान भी जाते,...
पर क्या करें कसूर हमारा हमें बताया ही नहीं.


"बेताब सा रहते हैं तेरी याद में अक्सर,
रात भर नहीं सोते हैं तेरी याद में अक्सर,
जिस्म में दर्द का बहाना बना के.....,
हम टूट के रोते हैं तेरी याद में अक्सर."


अभी तक समझ नहीं पाये तेरे फैसलों को ऐ खुदा
उसके हक़दार हम नहीं या हमारी दुआओं में दम नहीं


तुम कभी भी मोहब्बत आजमा के देखना मेरी,
हम जिंदगी से हार जायेंगे मोहब्बत से नहीं ।


नफ़रत कभी ना करना तुम हमसे,
यह हम सह नहीं पायेंगे,
एक बार कह देना हमसे, ज़रूरत नहीं अब तुम्हारी,
तुम्हारी दुनियाँ से हंसकर चले जायेंगे!


हम सिमटते गए उनमें और वो हमें भुलाते गए..
हम मरते गए उनकी बेरुखी से, और वो हमें आजमाते गए ..
सोचा की मेरी बेपनाह मोहब्बत देखकर सीख लेंगी वफाएँ करना ..
पर हम रोते गए और वो हमें खुशी-खुशी रुलाते गए..!


रोज तेरा इंतजार होता है रोज ये DIL बेक़रार होता है काश के तुम समझ सकते के चुप रहने वालों को भी प्यार होता ह


बदनाम करते हैं लोग मुझे जिसके नाम से..!
क़सम खुदा की जी भर के कभी उसको देखा भी नही..!!


मुझको पढ़ पाना हर किसी के लिए मुमकिन नहीं, मै वो किताब हूँ जिसमे शब्दों की जगह जज्बात लिखे है!!


वो इतने मायूस है कि महफिल में भी खुश हो नहीं पाते,
हम तो ख्वाबों के टूटने का भी जश्न मना लेते है !!


चुपके चुपके पहले वो ज़िन्दगी में आते हैं;
मीठी मीठी बातों से दिल में उतर जाते हैं;
बच के रहना इन हुस्न वालों से यारो;
इन की आग में कई आशिक जल जाते हैं।


बड़े शौक से बनाया तुमने मेरे दिल मे अपना घर,
जब रहने की बारी आई तो तुमने ठिकाना बदल दिया।


मोहब्बत का शौक यहां किसे था,
तुम पास आते गए और मोहब्बत होती गई...




कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.