Header Ads

इन अवस्थाओं में किया सेक्स तो लग सकती है चोट

इन अवस्थाओं में किया सेक्स तो लग सकती है चोट



सेक्स एक ऐसी स्थिति है जिसमें दोनों पार्टनर चरम सुख की प्राप्ति करते हैं। लेकिन कई बार यौन संबंध के दौरान पार्टनर ऐसी अवस्थाओं या पोजिशन में पहुंच जाते हैं जो बाद में उनके लिए खतरनाक साबित होती हैं। इतनी खतरनाक कि अस्पताल जाने तक की भी नौबत आ जाती है। आइए जानते हैं कि वे कौन सी अवस्थाएं हैं:


​द ईगर शेफ


इस अवस्था में यौन संबंधों के दौरान फीमेल पार्टनर टेबल या फिर डेस्क के ऊपर होता है जबकि मेल पार्टनर स्टैंडिंग पोजिशन में होता है। यह अवस्था काफी रिस्की है क्योंकि इसमें मेल पार्टनर खड़ा रहता है जिससे उसकी पिंडलियों पर तनाव पड़ता है। ऐसी स्थिति में जरा सी भी चूक हुई तो मेल प्राइवेट पार्ट को चोट लग सकती है।

​काउगर्ल
इस पोजिशन को 'गर्ल ऑन द टॉप' भी कहा जाता है। कई स्टडीज में भी इस पोजिशन को पुरुषों के लिए सबसे खतरनाक माना जाता है। कुछ वक्त पहले एक रिसर्च आयी थी, जिसमें बताया गया कि मर्दों के प्राइवेट पार्ट में होने वाले आधे फ्रैक्चर काउगर्ल पोजिशन की वजह से ही होते हैं। 

Wish You Could Live in These Luxury Neighborhoods?

Ad: Mansion Global
4/6
​डॉगी स्टाइल

सेक्स की अवस्थाओं से सिर्फ पुरुष ही जख्मी नहीं हो सकते बल्कि कई अवस्थाएं ऐसी हैं जो महिलाओं को भी बुरी तरह जख्मी कर देती हैं। ऐसी ही एक अवस्था है डॉगी स्टाइल। इस अवस्था में फीमेल प्राइवेट पार्ट फट जाता है और उसमें इंफेक्शन पैदा होने का खतरा बढ़ जाता है। प्राइवेट पार्ट में इंजरी की अवस्था में अगर मेल पार्टनर ने गलत तरीके से इंटरकोर्स किया तो स्थिति और खतरनाक हो सकती है।

​द पोगो स्टिक

इस अवस्था में यौन संबंधों के दौरान मेल पार्टनर के घुटनों पर अधिक दबाव पड़ता है। साथ ही फीमेल पार्टनर का पूरा वजन उसके हाथों में होता है। ऐसी अवस्था में इंटरकोर्स के वक्त मेल पार्टनर को अत्यधिक प्रेशर लगाना पड़ता है, जिससे उसे कमरदर्द के साथ साथ प्राइवेट पार्ट में चोट लग सकती है।
​द बैलेंसिंग ऐक्ट

कॉमेंट लिखें


इस ऐक्ट के दौरान मेल पार्टनर का अपने प्राइवेट पार्ट पर कंट्रोल नहीं रहता। इस अवस्था में पूरा कंट्रोल फीमेल पार्टनर के हाथों में होता है। लेकिन इसकी वजह से मेल प्राइवेट पार्ट में फ्रैक्चर हो सकता है। 
प्रेग्नेंसी में खूब खाएं ग्वार फली, डायबीटीज में भी है फायदेमंद


अगली गेलरी
1/6
प्रेग्नेंसी से लेकर डायबीटीज में फायदा करती है ग्वार फली

कॉमेंट लिखें


ग्वार फली (क्लस्टर बीन) सब्जी से ज्यादा एक औषधि है। इसमें आमतौर पर प्रोटीन और घुलनशील फाइबर पाया जाता है। इसके अलावा इसमें विटमिनन के, विटमिन सी, विटमिन ए, फॉलीऐट्स और कार्बोहाइड्रेट्स के साथ प्रचुर मात्रा में खनिज, फॉस्फोरस, कैल्शियम, आयरन, वसा और पोटेशियम भी पाया जाता है। इसलिए यह स्वास्थ्य के लिए बेहर फायदेमंद होती है। इसके और क्या फायदे हैं आइए जानते हैं:

​डायबीटीज

कॉमेंट लिखें


ग्वार फली में ग्लाइको न्यूट्रिएंट होते हैं जो शरीर में रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करते हैं। 
प्रेग्नेंसी



ग्वार फली गर्भवती महिलाओं में आयरन और कैल्शियम की कमी को पूरा करती है। इसमें मौजूद फॉलिक ऐसिड भ्रूण की कई समस्याओं से रक्षा करता है। इसमें मौजूद विटमिन के भ्रूण के विकास में मदद करता है।
मजबूत हड्डियां

कॉमेंट लिखें


ग्वार फली में कैल्शियम, विटामिन के व फास्फोरस होता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाते हैं।
​ब्लड प्रेशर



ग्वार फली के हाइपोग्लाइसेमिक और हाइपोलिपिडेमिक गुण उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोगों के लिए लाभदायक हैं। (
​हृदय रोग

ग्वार फली खराब कोलेस्ट्रॉल के रक्त स्तर को कम करता है। इसमें डाइटरी फाइबर, पोटेशियम और फोलेट की उपस्थिति हृदय संबंधी जटिलताओं से बचाता है।आयुर्वेदाचार्य एसके मिश्रा के अनुसार, ग्वार फली को एक सब्जी के रूप न देखकर उसे कुदरत द्वारा प्रदान की गई एक ऐसी दवा माना जाना चाहिए जो हृदय रोगों, ब्ल्ड प्रेशर, डायबिटीजऔर गर्भावस्था में बहुत लाभकारी होती है।
सेक्स को लेकर महिलाओं के मन में होते हैं ये अजीबोगरीब डर



सेक्स के दौरान इन चीजों को लेकर सबसे ज्यादा डरती हैं महिलाएं


सेक्स सिर्फ सुकून, रोमांच और आनंद ही नहीं देता बल्कि अपने साथ कुछ डर भी रखता है। कई पुरुष और महिलाओं के अंदर सेक्स को लेकर तरह-तरह के डर होते हैं। खासकर महिलाओं के अंदर तो सेक्स को लेकर कुछ ज्यादा ही डर होता है। यही वजह है कि यौन संबंधों के दौरान भी उनके दिमाग में कई तरह के सवाल और बातें चलती रहती हैं। आइए जानते हैं कि सेक्स को लेकर महिलाओं के अंदर क्या डर होता है।
​न्यूड बॉडी पसंद नहीं आयी तो?

कई महिलाएं नेकेड होकर यौन संबंध बनाने से कतराती हैं। पार्टनर द्वारा नेकेड सेक्स की इच्छा जाहिर करने के बाद भी वे हिचकती हैं। उनके मन में डर होता है कि अगर उनके पार्टनर को उनकी बॉडी अट्रैक्टिव नहीं लगी तो क्या होगा? क्या उनका पार्टनर उनसे पहले जितना ही प्यार करेगा या दूर हो जाएगा? लेकिन आपको यह समझने की जरूरत है कि हर किसी के अंदर कोई न कोई कमी होती है। प्यार सिर्फ शारीरिक ही नहीं होता। पार्टनर आपसे सच्चा प्यार करता है तो उसे इस बात से कुछ फर्क नहीं पड़ेगा कि आप अट्रैक्टिव नहीं हैं।

​प्रेगनेंट हो गई तो?

कुछ महिलाएं एक सीमित वक्त तक प्रेग्नेंसी नहीं चाहतीं। लेकिन कहीं सच में प्रेग्नेंसी न हो जाए इसलिए वे सेक्स से कतराती हैं। और जब मन में प्रेग्नेंट होने का डर बैठ जाएगा तो फिर वे सेक्स को इंजॉय नहीं कर पाएंगी। लेकिन कॉन्डम से आप इस डर को दूर भगा सकती हैं। अगर सही तरीके से कॉन्डम का इस्तेमाल किया जाए तो प्रेग्नेंसी का चांस बेहद कम हो जाता है। 

​कुछ नया ट्राई किया तो क्या करूंगी?

मेल पार्टनर को सेक्स के दौरान एक्सपेरिमेंट और रोमांच पसंद हो तो फीमेल पार्टनर यही सोचकर घबरा जाता है कि कहीं उसके पार्टनर ने कुछ नया ट्राई किया और उसे वह पसंद नहीं आया या दर्द हुआ तो क्या होगा? कहीं मना कर दिया तो वह नाराज तो नहीं हो जाएगा? ज्यादातर पुरुष सेक्स के दौरान अपनी ही मनमानी करते हैं और अपने पार्टनर की इच्छाओं से कोई वास्ता नहीं रखते। इसी वजह से महिला पार्टनर के अंदर डर और असुरक्षा की भावना पैदा हो जाती है।

कॉन्डम नहीं पहना तो क्या होगा?
कई महिलाएं इस बात को लेकर डर जाती हैं कि सेक्स के दौरान उनके पार्टनर ने अगर कॉन्डम नहीं पहना तो क्या होगा। और वह उसे कैसे कह पाएंगी? कहीं इस वजह से उन्हें किसी तरह का इंफेक्शन या बीमारी तो नहीं हो जाएगी।
​मना किया तो बुरा न मान जाए

कई बार ऐसा होता है कि फीमेल पार्टनर की यौन संबंध बनाने की बिल्कुल भी इच्छा नहीं होती, लेकिन वह यह सोचकर डर जाती है कि अगर उसने अपने पार्टनर को मना कर दिया तो कहीं वह बुरा तो नहीं मान जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.