Header Ads

खांसी के कारण,


जानिए खांसी के कारण, लक्षण तथा घरेलू उपाय
गर्मी हो या सर्दी बदलते मौसम के साथ खांसी की समस्या होना आम बात है । कभी -कभी खांसी इतनी ज्यादा होती है कि इसकी वजह से दिन की चैन ख़त्म होने के साथ ही रातों की नींद भी समाप्त हो जाती है। खांसी के ठीक होनें के लिए लोग दवा का सेवन करते है किन्तु दवा से तो खांसी ठीक हो जाती है लेकिन कुछ समय बाद फिर से खांसी शुरु हो जाती है ।आज इस लेख में खांसी के कारण,लक्षण,कुछ घरेलू उपाय बता रहे है । आइए जानते है।


खांसी होने का कारण
बहुत से लोग खांसी से अधिक परेशान रहते है, जिसके वजह से सेहत पर बूरा असर पड़ता है इसलिए जरूरी है खांसी होने के वजहों के बारे में जानना ।
टीबी के वजह से होने वाली खांसी
अस्थमा (दमा) के रोगियों को
एलर्जी वालो को
प्रदुषण तथा धूल-मिट्टी के वजह से
निमोनिया के ग्रस्त व्यक्तियों को
बदलते मौसम के कारण
फेफड़ों का कैंसर
गले में टॉन्सिल की वजह से
धुम्रपान के करने से
ठंडी चीज़ें के सेवन से जैसे –कोल्डड्रिंक या आइसक्रीम

खांसी से होने वाली परेशानियां निम्न हैं
गले में दर्द तथा ख़राश होना *
तेज बुखार आना
ठंडा लगना
सिरदर्द होना
अत्यधिक थकान महसूस होना
सीने में दर्द,सीनें में जलन, सांस लेने में दिक्कत तथा नाक बंद होना
उल्टी आना
नींद की समस्या
भूख न लगना
खांसी के जल्दी ठीक होने पर इसे सामान्य माना जाता है ,हालाँकि यही खांसी ज्यादा समय तक रहें तो यह चिंता का वजह बन सकता है। खांसी होने पर जल्द ही इलाज करना चाहिए ।
हम आपको कुछ घरेलू उपाय बता रहें है जैसे –

1. नमक के पानी से ग़रारे करने पर होगा फायदा
एक गिलास गर्म पानी में आधा चम्मच नमक डालकर ग़रारे करने से जल्दी आराम मिल जाता है। यह तरीका सबसे आसान होता है । यह एंटीबैक्टीरियल एजेंट के तरह काम करते हुए गले को नमी, ख़राश और दर्द से राहत देता है। इसलिए खांसी के होने पर इसे कुछ दिनों तक नियमित रूप से सुबह – शाम करें ।
2. शहद का इस्तेमाल
शहद और अदरक या शहद या नींबू के रस को मिलाकर इसे दवा की तरह दो बार पीनें से खांसी में राहत मिलेगी क्यों कि शहद में एटी-माइक्रोबियल की मात्रा होने के कारण वह उन बैक्टीरिया और वायरस को भी मारता है ।

3. अदरक का सेवन
अदरक में एंटीबायोटिक की गुण पाया जाता है । इसे शहद के साथ मिलाकर खाने से दर्द से राहत मिलती है कफ, गले में खराश को कम करने में मदद करता है ।और इसमें एंटी-वायरल प्रचुर मात्रा में पाया जाता है

4. काली मिर्च

काली मिर्च और शहद दोनों को मिलाकर पीने से आपको खांसी से राहत मिल सकती है तथा काली मिर्च, सर्दी-खांसी को कम करने के लिए एक आयुर्वैदिक दवा की तरह काम करती है । दो चम्मच शहद एक कप गर्म पानी में कालीमिर्च पाउडर को मिलाए तथा इस चाय का सेवन करें । खांसी के दौरान इसको दिन में दो बार लें सकते है ।

5. लहसुन का सेवन
लहसुन में एंटीबैक्टीरियल, एंटीवायरल प्रचुर मात्रा में पाया जाता है लहसुन की दो कली को एक गिलास दूध में उबालें फिर सेवन करें इससे गले के दर्द तथा खांसी में तुरंत राहत मिलती है ।
6. दूध में हल्दी पाउडर का सेवन करें

खांसी होने पर दूध में एक चुटकी हल्दी पाउडर मिलकर पी सकते है। यह आप तब तक लें सकते हो जब तक आपकी खांसी ठीक न हो, रात को सोते समय पीने से ज़्यादा फायदा होगा तथा नींद भी अच्छी आएगी । गर्म दूध के पीने से गले को नमी तथा ख़राश में आराम मिलती है । हल्दी में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाया जाता है जिसकी वजह से पुरानी से पुरानी खांसी को दूर करने में मदद करती है ।

कैसे करें खांसी से बचाव

तला हुआ तथा ज्यादा मसालेदार खाद्य-पदार्थ से बचें

मौसम के बदलते समय ठंडी चीज़ें का सेवन न करें जैसे :- आइसक्रीम या कोल्डड्रिंक आदि

अधिक मात्रा में पानी पीए

अगर कही बाहर धूप या गर्मी से आये तो तुरंत ठंडी चीज़ों या ठंडा पानी पीने से बचें

बाहर गर्मी से आकर कुछ समय रुककर नहाए तुरंत न नहाएं

जब भी बाहर जाए तो मुंह पर मास्क या कपड़ा बांधकर रखनें से आपके मुंह में धूल-मिट्टी नहीं जाएगी

गर्म चीज के खाने के बाद तुरंत ठंडा नहीं खाएं

ज़्यादा ठंडे फलों को न खाएं
धूम्रपान से बचें
अगर आपको खांसी की समस्या अधिक हो तो देर न करें तथा डॉक्टर से सलाह लेकर खांसी की दवा लें।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.