Header Ads

दर्दनाक स्खलन क्या है,


दर्दनाक स्खलन क्या है, लक्षण, कारण, इलाज और बचाव –

Painful Ejaculation In Hindi पुरुष यौन उत्तेजना के दौरान दर्दनाक स्खलन (Painful Ejaculation) एक गंभीर समस्या हो सकती है। यह समस्या अनेक प्रकार की यौन समस्याओं का संकेत दे सकती है। अतः दर्दनाक स्खलन एक चिंता का विषय है, जिसका निदान शीघ्र किया जाना आवस्यक हो जाता है। अधिकांश पुरुष स्खलन के दौरान या स्खलन के तुरंत बाद दर्द को महसूस कर सकते हैं। दर्दनाक स्खलन रिश्तों के साथ-साथ आत्मसम्मान को भी नुकसान पहुंचाता है, तथा सुखद जीवन को निराशा के गर्त में डाल सकता है। कुछ स्थितियों में दर्दनाक स्खलन एक अस्थाई समस्या होता है तथा बिना किसी उपचार के दूर हो जाता है लेकिन कुछ स्थितियों में यह गंभीर दर्द के साथ-साथ गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं जैसे- प्रोस्टेटाइटिस, प्रोस्टेट कैंसर आदि का संकेत या लक्षण हो सकता है।

अतः दर्दनाक स्खलन (painful Ejaculation) की समस्या को गंभीरता के साथ लेना चाहिए एवं प्राथमिक उपचार प्राप्त करने के लिए तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। आज के इस लेख में आप जानेंगे कि दर्दनाक स्खलन क्या है, इसके लक्षण, कारण क्या हैं तथा इसका निदान, इलाज और रोकथाम के लिए क्या किया जा सकता है।

दर्दनाक स्खलन (स्खलन में दर्द) क्या है – What is painful ejaculation in Hindi
स्खलन के दौरान दर्द के लक्षण – Painful Ejaculation Symptoms in Hindi
दर्दनाक स्खलन के कारण – Painful Ejaculation Causes in Hindi
स्खलन में दर्द होने पर डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए – When to see a doctor in hindi
दर्दनाक स्खलन की जटिलताएँ – Painful Ejaculation Complications in Hindi
दर्दनाक स्खलन का निदान – Painful Ejaculation diagnosis in Hindi
स्खलन के दौरान दर्द का इलाज – Painful Ejaculation Treatment in Hindi
दर्दनाक स्खलन की रोकथाम – Painful Ejaculation Prevention in hindi
दर्दनाक स्खलन (स्खलन में दर्द) क्या है – What is painful ejaculation in Hindi
दर्दनाक स्खलन को डिसोरेजैमिया (dysorgasmia) या ओगाज़्मल्गिया (orgasmalgia) के रूप में भी जाना जाता है, यह समस्या पुरुषों में स्खलन के दौरान या स्खलन के बाद हल्की असुविधा से लेकर गंभीर दर्द तक का कारण बनती है। इस समस्या के अंतर्गत स्खलन के दौरान लिंग (penis), अंडकोश (scrotum) और पेरिनेल (perineal) में दर्द को शामिल किया जाता है।

दर्दनाक स्खलन (painful ejaculation), संबन्धित व्यक्ति के यौन जीवन पर गंभीर प्रभाव डाल सकता है। स्खलन में दर्द होने पर कुछ पुरुषों को शर्मिंदगी महसूस हो सकती है, लेकिन यह एक अपेक्षाकृत सामान्य लक्षण है। प्रोस्टेट में सूजन जैसी अन्य समस्याओं के लक्षणों के फलस्वरूप यह समस्या उत्पन्न हो सकती है। हालांकि दर्दनाक स्खलन का उपचार किया जा सकता है।


स्खलन के दौरान दर्द के लक्षण – Painful Ejaculation Symptoms in Hindi


दर्दनाक स्खलन (painful Ejaculation) के लक्षण प्रत्येक व्यक्ति में अलग-अलग हो सकते हैं। यह लक्षण समय के साथ बदल भी सकते हैं। कुछ पुरुषों में यह लक्षण हस्तमैथुन (masturbate) के दौरान उत्पन्न नहीं होते हैं, बल्कि तब उत्पन्न होते हैं जब वे साथी के साथ यौन संबंध बनाते हैं। अतः दर्दनाक स्खलन की स्थिति में निम्न लक्षण देखे जा सकते हैं:
स्खलन के दौरान या तुरंत बाद दर्द होना
लिंग या आसपास के क्षेत्र में दर्द होना
स्खलन से पहले या बाद में दर्द की शुरूआत
पेशाब के दौरान दर्द का अनुभव होना
स्खलन के बाद कुछ मिनटों तक या लगभग 24 घंटे तक दर्द का बना रहना, इत्यादि।

दर्दनाक स्खलन के कारण – Painful Ejaculation Causes in Hindi



स्खलन के दौरान दर्द (painful Ejaculation) अनेक कारणों से उत्पन्न हो सकता है, कुछ स्थितियों में यह यौन समस्याओं के लक्षण के रूप में प्रगट होता है। दर्दनाक स्खलन के सामान्य कारण निम्नलिखित को शामिल किया जा सकता है:
स्खलन के दौरान दर्द का कारण हो सकता है प्रोस्टेटाइटिस (Prostatitis)

प्रोस्टेटाइटिस, प्रोस्टेट ग्रंथि (prostate gland) की सूजन या संक्रमण है। यह 50 वर्ष से कम आयु के पुरुषों में सबसे आम मूत्र संबंधी समस्या है। यह समस्या संबन्धित व्यक्ति में दर्दनाक एवं लगातार पेशाब का कारण बनती है। प्रोस्टेटाइटिस के अन्य लक्षणों में निचले पेट में दर्द और इरेक्शन (erection) होने में कठिनाई शामिल है।

प्रोस्टेटाइटिस के जोखिम कारकों में निम्न को शामिल किया जा सकता है:
मधुमेह की स्थिति
कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली का होना
बढ़े हुए प्रोस्टेट
एक मूत्र कैथेटर का उपयोग, इत्यादि।


दर्दनाक स्खलन का कारण हो सकती है सर्जरी (Surgery)

कुछ प्रकार की सर्जरी दर्दनाक स्खलन (painful Ejaculation) सहित अनेक प्रकार की समस्याओं का कारण बन सकती है। इनमें से एक है रैडिकल प्रोस्टेटेक्टॉमी (radical prostatectomy), जो कि प्रोस्टेट के सभी या कुछ हिस्सों और पास के ऊतकों को हटाने की एक प्रक्रिया है। यह प्रोस्टेट कैंसर का इलाज करने के लिए प्रयोग में लाई जाती है। इस प्रकार की सर्जरी के जोखिमों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन (erectile dysfunction) तथा पेनाइल (penile) और वृषण में दर्द शामिल हैं। इसके अतिरिक्त हर्निया की मरम्मत के लिए सर्जरी (इनगुइनल हर्निया सर्जरी) (inguinal herniorrhaphy) भी दर्दनाक स्खलन का कारण बन सकती है।



स्खलन के दौरान दर्द का कारण सिस्ट या पथरी (Cysts or stones)

स्खलन वाहिनी या वीर्य पुटिका (seminal vesicle) में सिस्ट या पथरी का विकसित होना संभव है। यह सिस्ट या स्टोन संबन्धित व्यक्ति में स्खलन को अवरुद्ध कर बांझपन और दर्दनाक स्खलन का कारण बन सकते हैं।

(और पढ़े – पथरी होना क्या है? (किडनी स्टोन) पथरी के लक्षण, कारण और रोकथाम…)
दर्दनाक स्खलन का कारण एंटीडिप्रेसेंट दवाएं (Antidepressant drugs)

एंटीडिप्रेसेंट दवाओं का सेवन दर्दनाशक स्खलन सहित अन्य यौन रोग का कारण बन सकता है। यौन समस्याओं का कारण बनने वाली कुछ दवाओं में निम्न को शामिल किया जा सकता है:
सेलेक्टिव सेरोटोनिन रूप्टेक इनहिबिटर (selective serotonin reuptake inhibitors)
सेरोटोनिन और नॉरपेनेफ्रिन रीप्टेक इनहिबिटर (serotonin and norepinephrine reuptake inhibitors)
ट्राइसाइक्लिक और टेट्रासाइक्लिक (tricyclics and tetracyclics)
मोनोमाइन ऑक्सीडेज इनहिबिटर (monoamine oxidase inhibitors)
स्खलन के दौरान दर्द का कारण हो सकता है प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer)


अधिकतर मामलों में प्रोस्टेट कैंसर संबन्धित व्यक्ति में दर्दनाक स्खलन का कारण बन सकता है। प्रोस्टेट कैंसर के अन्य लक्षणों में पेशाब की समस्या, स्तंभन दोष (erectile dysfunction) तथा मूत्र या वीर्य में रक्त की उपस्थिति आदि शामिल हो सकते हैं।

(और पढ़े – प्रोस्टेट कैंसर क्या है, कारण, लक्षण, जांच और इलाज…)
दर्दनाक स्खलन का कारण हो सकती है पुडेंडल न्यूरोपैथी (Pudendal neuropathy)

पुडेंडल न्यूरोपैथी (Pudendal neuropathy) से संबन्धित व्यक्ति में श्रोणि (pelvis) की तंत्रिका को कुछ नुकसान पहुंचता है। जिससे जननांग और मलाशय में दर्द उत्पन्न हो सकता है। कुछ स्थितियाँ जो पुडेंडल तंत्रिका को प्रभावित कर सकती हैं उनमें शमिल हैं चोट, मधुमेह, संभोग और मल्टीपल स्केलेरोसिस (एमएस) इत्यादि।
स्खलन के दौरान दर्द का कारण हो सकता है ट्राइकोमोनिएसिस (Trichomoniasis)

ट्राइकोमोनिएसिस एक यौन संचारित संक्रमण है जो पेशाब के दौरान जलन या दर्द का कारण बनता है, अतः ट्राइकोमोनिएसिस (Trichomoniasis), दर्दनाक स्खलन का भी कारण बन सकता है।


दर्दनाक स्खलन का कारण हो सकती है विकिरण थेरेपी (Radiation therapy)

श्रोणि (pelvis) की विकिरण थेरेपी के परिणामस्वरूप स्तंभन दोष उत्पन्न हो सकता है, जिसमें स्खलन के दौरान दर्द भी शामिल है। अपितु यह समस्याएँ आमतौर पर अस्थायी होती हैं।
स्खलन में दर्द होने पर डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए – When to see a doctor in Hindi

दर्दनाक स्खलन (painful Ejaculation) से सम्बंधित किसी भी प्रकार के लक्षणों के प्रगट होने की स्थिति में सम्बंधित व्यक्ति को तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। अतः निम्न स्थिति में प्रत्येक व्यक्ति कों डॉक्टर की सिफारिश लेनी चाहिए, जैसे:
वीर्यपात के साथ रक्त की उपस्थिति
लगातार और दर्दनाक पेशाब
पेशाब करने में असमर्थता
पीठ के निचले हिस्से में दर्द
सेक्स करने में असुविधा होने पर, इत्यादि।

(और पढ़े – पुरुषों के गुप्त रोग, सेक्स समस्याओं – कारण, प्रकार, जांच, उपचार और रोकथाम…)
दर्दनाक स्खलन की जटिलताएँ – Painful Ejaculation Complications in Hindi


दर्दनाक स्खलन (painful Ejaculation) खतरनाक नहीं है, लेकिन यह एक आदमी की जीवनशैली को कमजोर या दुखद बना सकता है। दर्दनाक स्खलन का अनुभव करने वाले पुरुषों को निम्न जटिलताओं या समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है:
सेक्स करने की क्षमता में कमी या रुचि में कमी होना
प्रजनन संबंधी समस्याएँ
रिश्तेदारी से संबन्धित मुद्दे, इत्यादि।

दर्दनाक स्खलन का निदान – Painful Ejaculation diagnosis in Hindi


डॉक्टर दर्दनाक स्खलन (painful Ejaculation) की समस्या का निदान करने के लिए मरीज के सम्पूर्ण चिकित्सा इतिहास की जानकारी प्राप्त कर सकता है तथा इसके साथ ही मानसिक स्वास्थ्य, मरीज द्वारा ली जाने वाली दवाओं और रिश्तों से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए कुछ प्रश्न पूंछ सकता हैं। दर्दनाक स्खलन की समस्या का निदान करने के लिए डॉक्टर द्वारा निम्न परीक्षणों की सिफारिश भी की जा सकती है:
संक्रमण की जाँच करने के लिए मूत्र परीक्षण आवश्यक होता है
प्रोस्टेट-विशिष्ट प्रतिजन परीक्षण (prostate-specific antigen test), जिसमें कैंसर सहित अन्य प्रोस्टेट समस्याओं का निदान किया जा सकता है
पैल्विक परीक्षा (pelvic exam), प्रोस्टेट परीक्षा (prostate exam) सहित अन्य परीक्षण प्रोस्टेटाइटिस, बीपीएच (Benign prostatic hyperplasia) और चोटों के लिए मूल्यांकन करने के लिए आवश्यक हो सकते हैं
रक्त परीक्षण या अतिरिक्त इमेजिंग परीक्षण की भी सिफारिश की जा सकती है।



स्खलन के दौरान दर्द का इलाज – Painful Ejaculation Treatment in Hindi

दर्दनाक स्खलन (painful Ejaculation) के लिए उपचार प्रक्रिया इसके कारणों पर निर्भर करती है। अतः निदान प्रक्रिया के दौरान प्राप्त समस्याओं के आधार पर निम्न उपचार विकल्पों को शामिल किया जा सकता है:
प्रोस्टेट संक्रमण या ट्राइकोमोनिएसिस की स्थिति में इसका इलाज करने के लिए एंटीबायोटिक्स antibiotics दवाओं का उपयोग किया जा सकता है
सूजन और दर्द को कम करने के लिए ओवर-द-काउंटर दवाओं के सिफ़ारिश की जा सकती हैं।
अल्सर या पथरी की स्थिति में दर्दनाक स्खलन का इलाज करने के लिए सर्जरी की सिफ़ारिश की जा सकती है
प्रोस्टेट कैंसर का उपचार विकिरण थेरेपी (radiation therapy), हार्मोन थेरेपी (hormone therapy), वैक्सीन उपचार (vaccine treatment) या कीमोथेरेपी (chemotherapy) द्वारा किया जा सकता है।
गंभीर संक्रमण के लिए, आपको अंतःशिरा एंटीबायोटिक दवाओं या यहां तक कि अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता हो सकती है
कुछ दवाओं के सेवन पर रोक लगाने की सिफारिश की जा सकती है
प्रोस्टेट कैंसर और अन्य प्रोस्टेट समस्याओं का इलाज करने के लिए सर्जरी की आवश्यकता पड़ सकती है
मनोचिकित्सा और जीवन शैली में सुधार कर भावनात्मक समस्याओं का इलाज करना
दर्द की दवा द्वारा राहत प्रदान करना
पैल्विक फ्लोर व्यायाम (pelvic floor exercises) करना, इत्यादि।


दर्दनाक स्खलन की रोकथाम – Painful Ejaculation Prevention in Hindi

स्खलन के दौरान दर्द (painful Ejaculation) की रोकथाम के लिए निम्न जरुरी कदम उठाये जा सकते हैं :
दर्दनाक स्खलन की संभावना को कम करने के लिए एक स्वस्थ जीवन शैली को बनाए रखना आवश्यक होता है।
शारीरिक एवं मानसिक तनाव भी दर्दनाक स्खलन का कारण बन सकता है, अतः तनाव को कम करने के लिए उचित कदम उठाना चाहिए।
दर्दनाक स्खलन की स्थिति से छुटकारा पाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को प्राथमिक उपचार प्राप्त करने पर ध्यान देना चाहिए।
दर्दनाक स्खलन (painful Ejaculation) की स्थिति में अधिक से अधिक आराम प्राप्त करने की सलाह दी जाती है तथा कुछ स्थितियों में आइस पैक के माध्यम से अंडकोश (scrotum) की सिकाई करने से भी दर्द से राहत मिल सकती है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.