Header Ads

​कमल ककड़ी खाने के फायदे ही फायदे


​कमल ककड़ी खाने के फायदे ही फायदे
https://www.healthsiswealth.com/

कमल ककड़ी का नाम तो लगभग हर किसी ने सुना होगा। आखिर यह सालों से भारतीय खाने का हिस्सा जो रही है। कमल ककड़ी यानी लोटस रूट को सब्जी से लेकर स्नैक्स और चिप्स के रूप में खाया जाता है। लेकिन क्या आप इससे होने वाले फायदों के बारे में जानते हैं?

इंफेक्शन से बचाव, इम्यूनिटी को बढ़ावा


कमल ककड़ी में ढेर सारे विटमिन्स और मिनरल्स होते हैं। इसमें काफी मात्रा में विटमिन सी होता है जो वायरल और बैक्टीरियल इंफेक्शन से बचाव करता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

आंखों, स्किन और बालों के लिए वरदान



कमल ककड़ी आंखों, बालों और स्किन के लिए किसी वरदान से कम नहीं है क्योंकि इसमें विटमिन ए भरपूर मात्रा में होता। इसके अलावा यह मसल डीजेनरेशन से भी बचाव करता है।
ब्लड शुगर और क्लेस्ट्रॉल कंट्रोल में मदद
कमल ककड़ी ब्लड शुगर और कलेस्ट्रॉल को भी कम करने में मददगार है। इसमें फाइबर और कॉम्प्लैक्स कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं जो साथ मिलकर कलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर के स्तर को सामान्य रखने में मदद करते हैं।

बढ़ते वजन पर लगाम


जो लोग बढ़ते वजन से परेशान हैं वे रोजाना डायट में कमल ककड़ी शामिल करें। इसमें काफी कम कम कैलरी होती हैं और विटमिन्स व मिनरल्स भी काफी मात्रा में होते हैं। इसके सेवन से सभी जरूरी तत्व तो मिलते ही हैं साथ ही लंबे समय तक भूख भी नहीं लगती।

सांस संबंधी बीमारियां रखे दूर

यह सांस संबंधी बीमारियों को भी दूर रखती है और हार्ट को भी सुरक्षा देती है। इसके अलावा यह हमारे पाचन सिस्टम को भी दुरुस्त करती है।

प्रेग्नेंसी में फायदा, भ्रूण के विकास में मदद
कमल ककड़ी चूंकि कई विटमिन्स और मिनरल्स से भरपूर होती है इसलिए इसे प्रेग्नेंसी में भी खाया जा सकता है। इसमें फोलेट काफी मात्रा में होता है जो प्रेग्नेंसी में जरूरी है। फोलेट भ्रूण के विकास में मदद करता है और प्रिमच्योर बर्थ से भी बचाव करता है।

खून की कमी करे दूर

कॉमेंट लिखें


कमल ककड़ी शरीर में खून की कमी को भी पूरा करती है और हड्डियों को मजबूती देती है। (ध्यान दें: कमल ककड़ी के इतने फायदे जान कभी उसे कच्चा खाने की कोशिश न करें। नहीं तो बैक्टीरियल इंफेक्शन फैल सकता है।



ट्रिप को इंजॉय करें लेकिन स्किन का भी रखें ध्यान



घूमते हुए स्किन का रखें ध्यान


इन दिनों छुट्टियों का मौसम है और कई लोग वकेशन पर जा रहे हैं। गर्मियां कम होने के बाद अब लोग मॉनसून का मजा लेने के लिए ट्रिप्स प्लान कर रहे हैं। लंबी यात्रा से आपको थकान तो होती ही है आपकी स्किन भी ड्राई और डल होने लगती है। ट्रिप्स एंजॉय करते हुए आपको अपने स्किन का भी पूरा ध्यान रखना चाहिए

पहाड़ हों या बीच

कॉमेंट लिखें


आप चाहे पहाड़ों पर घूमने जा रही हों या फिर बीच पर, हर जगह आपको अपने स्किन का खास ख्याल रखने की जरूरत है। आइए, आपको बताते हैं कि यात्रा के समय आप कैसे अपनी स्किन का पूरा ध्यान रख सकती हैं।

मॉइश्चराइजर


यात्रा से एक रात पहले आप आप स्किन पर अच्छे से मॉइश्चराइजर लगा लें। इससे स्किन ड्राई या डैमेज होने से बची रहेगी।

सनस्क्रीन

तेज गर्मी न भी हो तो भी अपनी स्किन को प्रॉटेक्ट करने के लिए आपको सनस्क्रीन हमेशा साथ रखना चाहिए। ट्रिप्स में आप ज्यादातर समय आउटडोर रहती हैं। ऐसे में सूरज की यूवी किरणों से स्किन को बचाने की सख्त जरूरत होती है।

क्लीनजर


ट्रिप के दौरान आपकी स्किन पर गंदगी और धूल आ जाती है। इससे ब्रेकआउट हो सकता है। ऐसे में आपको अपने साथ एक क्लीनजर जरूर रखना चाहिए। यह आपकी स्किन से सारी गंदगी हटाकर उसे फ्रेश रखेगा।

पानी पिएं



आपको हेल्दी रखने के अलावा पानी आपकी स्किन के लिए बेहद जरूरी है। ट्रिप में अकसर वॉशरूम मिलने की चिंता की वजह से लोग पानी कम पीते हैं लेकिन ऐसा करना आपको भारी पड़ सकता है। घूमते हुए शरीर में पानी की कमी आपको कहीं बीमार न कर दे। इसके अलावा पानी की कमी से स्किन भी डल और ड्राई होती है।



कब्ज दूर करने के साथ ही खून भी साफ करता है परवल

​शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करता है परवल

जब बात हरी सब्जियों की आती है तो उसमें परवल का भी नाम शामिल है और यह सेहत के लिए बहुत अच्छी होता है। इसमें विटमिन ए, बी 1, बी 2 और विटमिन सी भरपूर मात्रा में होता है। शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाकर बीमा‍रियों से लड़ने में मदद करता है परवल। इसमें ऐंटिऑक्सिडेंट्स भी भरपूर मात्रा में होते हैं। परवल के स्वास्थ्य लाभ आयुर्वेद में भी उपलब्ध हैं, जहां इसका उपयोग गैस्ट्रिक समस्‍याओं के इलाज के लिए किया जाता था। आइए जानते हैं इससे होने वाले फायदों के बारे में...
​हेल्दी बोन्स और कफ की समस्या दूर


आयुर्वेदाचार्य डॉ ए के मिश्रा कहते हैं, परवल की सब्जी खाने से पेट की सूजन दूर होती है। पेट में पानी भरने की गंभीर समस्या में लाभ होता है। इसके पत्तियों के लेप से फोड़े, फुंसी और त्वचा संबंधी अन्य रोग दूर किए जा सकता है। परवल हड्डियों को स्वास्थ्य रखता है। कफ की समस्या में यह असरदार होता है। 


​खून साफ करने में मदद करता है


100 ग्राम परवल में विटमिन ए और सी, पोटैशियम, मैग्नीशियम, फॉस्फॉरस और कई अन्य सूक्ष्म पोषक तत्वों की अच्छी मात्रा होती है। विभिन्न पोषक तत्वों और यौगिकों की उपस्थिति के कारण ऊतकों को साफ करके रक्त शुद्धि यानी खून को साफ करने में मदद करता है परवल। यह रक्त और ऊतकों की सफाई में मदद करता है जिससे रक्त शोधन में मदद मिलती है।

​पाचन में सुधार

परवल में भरपूर मात्रा में फाइबर होते हैं, जो पाचन क्रि‍या को बेहतर कर, पाचन तंत्र को मजबूत बनाते हैं। आयुर्वेद के अनुसार गैस की समस्या होने पर परवल को इलाज के तौर पर अपनाया जाता है।
​कब्ज करता है दूर
100 ग्राम परवल के छिलकों में 24 कैलरीज होती है और इसमें मैग्नीशियम, पोटैशियम, फॉस्फॉरस भी भरपूर मात्रा में होता है। आयुर्वेद के अनुसार परवल में त्वचा के रोग, बुखार और कब्ज की समस्याओं को खत्म करने वाले औषधीय गुण होते हैं।
​वजन घटाता है

100 ग्राम परवल में सिर्फ 24 कैलरी होती है। साथ ही फाइबर की उपस्थिति के कारण इसे खाने के बाद लंबे समय तक भूख नहीं लगती। इस प्रकार, यह वजन घटाने को बढ़ावा देने में मदद करता है।

​ब्लड-कलेस्ट्रॉल कंट्रोल में

इसमें विटमिन्स के अलावा कैल्शियम भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो कैलरी की मात्रा कम कर कलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है। परवल के बीज शरीर के कलेस्ट्रॉल स्तर को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। 
डायबीटीज में फायदेमंद

परवल से रक्त शर्करा का स्तर भी कम रहता है। परवल के बीज पेशाब संबंधी रोगों और मधुमेह की समस्या के लिए भी परवल बेहद लाभदायक है।

इन अवस्थाओं में बनाए यौन संबंध तो पहुंच सकते हैं अस्पताल
​कमल ककड़ी खाने के फायदे ही फायदे

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.