Header Ads

माइग्रेन : क्या है और जाने इसके लक्षण

माइग्रेन
माइग्रेन : क्या है और जाने इसके लक्षण



https://www.healthsiswealth.com/
किसी भी सिर दर्द को आप हलके में न लें, यह माइग्रेन हो सकता है। वैसे जब आपके सिर में दबाव या दर्द होता है, तो यह कहना मुश्किल हो सकता है कि ये एक विशिष्ट सिरदर्द या माइग्रेन का अनुभव कर रहे हैं। आइए जानते हैं माइग्रेन क्या है?
माइग्रेन क्या है ?
Related image

https://www.healthsiswealth.com/
माइग्रेन तंत्रिका पथ और मस्तिष्क के रसायनों से जुड़े एक तंत्रिका संबंधी विकार है। माइग्रेन की स्थिति गंभीर सिर दर्द से होती है। वैसे माइग्रेन के वर्गीकरण के बारे में अभी भी कई तरह की बहस की जाती है। कुछ विशेषज्ञ माइग्रेन को एक न्यूरोलॉजिकल रोग का उल्लेख करते हैं, जबकि अन्य इसे न्यूरोलॉजिकल हालत या विकार कहते हैं।

माइग्रेन अटैक को प्राथमिक सिरदर्द के रूप में वर्गीकृत किया जाता है क्योंकि दर्द किसी अन्य विकार या बीमारी के कारण नहीं होता है। माइग्रेन बचपन में शुरू हो सकता है। इसके अलावा पुरुषों की तुलना में महिलाओं में ज्यादा माइग्रेन की समस्या देखने को मिलती है।
माइग्रेन के लक्षण क्या होते हैं ?
https://www.healthsiswealth.com/

https://www.healthsiswealth.com/
माइग्रेन के हमलों में सिर के दर्द के अलावा अन्य लक्षण भी होते हैं, जिसमें मतली, उल्टी, प्रकाश और ध्वनि की संवेदनशीलता शामिल होती है। माइग्रेन के लक्षण और गंभीरता एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में बहुत भिन्न हो सकती है।
इसके अन्य लक्षणों में शामिल है – भोजन की इच्छा, डिप्रेशन, थकान या कम ऊर्जा, बार-बार जंभाई, चिड़चिड़ापन और गर्दन में अकड़न आदि।
माइग्रेन का दर्द

लोग माइग्रेन दर्द का वर्णन करते हैं जैसे कि कंपन, छिद्रण और दुर्बलता। इसमें व्यक्ति थका हुआ महसूस कर सकता है। दर्द हल्के से शुरू हो सकता है और बाद में गंभीर रूप ले सकता है। माइग्रेन दर्द सबसे अधिक फोरहेड क्षेत्र को प्रभावित करता है। अगर इसका उपचार नहीं किया गया तो यह 72 घंटे तक रह सकता है।
माइग्रेन का कारण क्या है ?
https://www.healthsiswealth.com/
Related image

शोधकर्ताओं ने माइग्रेन के लिए एक निश्चित कारण की पहचान नहीं की है। हालांकि, उन्होंने कुछ कारक पाया है जो स्थिति को गति प्रदान कर सकते हैं। इसमें मस्तिष्क रसायनों में परिवर्तन शामिल हैं, जैसे कि मस्तिष्क रासायनिक सेरोटोनिन के स्तर में कमी। अन्य कारक जो माइग्रेन को ट्रिगर कर सकते हैं इसमें शामिल हैं: –
https://www.healthsiswealth.com/
तेज प्रकाश, गंभीर गर्मी, या मौसम में बदलाव, डिहाइड्रेशन, बैरोमेट्रिक दबाव में परिवर्तन, महिलाओं में हार्मोन में परिवर्तन, जैसे कि मासिक धर्म, गर्भावस्था, या रजोनिवृत्ति के दौरान एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन उतार-चढ़ाव, अतिरिक्त तनाव, जोर से आवाज़, तीव्र शारीरिक गतिविधि, आहार को स्किप करना, गलत तरीके से सोना, कुछ दवाइयों के उपयोग, जैसे मौखिक गर्भ निरोधकों या नाइट्रोग्लिसरीन, असामान्य गंध, धूम्रपान, शराब का उपयोग करें और यात्रा करना आदि।
यदि आप माइग्रेन को अनुभव करते हैं, तो आपका डॉक्टर आपसे इन्हीं कारणों के बारे में पूछताछ कर सकता है।
माइग्रेन औरा क्या है?
https://www.healthsiswealth.com/
माइग्रेन औरा माइग्रेन अटैक का दूसरा चरण है, जिसमें आंखों में गड़बड़ी, आंखों का नुकसान, चक्कर आना, भ्रम और कमजोरी शामिल है। आइए जानते हैं माइग्रेन औरा के अन्य लक्षण के बारे में…
1. स्पष्ट रूप से बोलने में कठिनाई।
2. आपके चेहरे, हाथ या पैर में एक चुभन या झुनझुनी।
3. अस्थायी रूप से आपकी दृष्टि खोती है।


माइग्रेन के 10 कारण


माइग्रेन में होने वाले गंभीर सिरदर्द आपको बेचैन कर देती हैं। यह एक तरह ऐसा सिरदर्द होता है, जिसे बर्दाश्त कर पाना बहुत ही मुश्किल होता है। माइग्रेन के कई कारण हो सकते हैं। यह दर्द आम तौर पर सिर की एक तरफ होता है। मतली, उल्टी आना, चक्कर आना, थकान महसूस होना, प्रकाश और ध्वनि के लिए अत्यधिक संवेदनशीलता माइग्रेन के लक्षण हैं। आपको बता दें कि माइग्रेन का अटैक एक घंटे से लेकर पूरे दिन भी रह सकता है। इसमें होने वाला दर्द इतना गंभीर होता है कि सहना मुश्किल हो जाता है। आइए जानते हैं माइग्रेन के कारण के बारे में…
Related image
माइग्रेन के कारण
वैसे शोधकर्ताओं ने माइग्रेन के लिए एक निश्चित कारण की पहचान नहीं की है। हालांकि, उन्होंने माइग्रेन के दर्द में योगदान करने वाले कुछ कारणों के बारे में जरूर जानकारी दी है। इसमें ब्रेन केमिकल्स में परिवर्तन या असंतुलन शामिल हैं, जैसे कि ब्रेन केमिकल्स सेरोटोनिन के स्तर में कमी। सेरोटोनिन आपके तंत्रिका तंत्र यानी नर्वस सिस्टम में दर्द को विनियमित करने में मदद करता है। शोधकर्ता अभी भी सेरोटोनिन को लेकर रिसर्च कर रहे हैं। आइए माइग्रेन को ट्रिगर करने वाले अन्य कारणों के बारे में जानते हैं।
माइग्रेन को ट्रिगर करने वाले फूड

माइग्रेन के लिए जिम्मेदार फूड आपके द्वारा लिया जाने वाला खराब फूड माइग्रेन के लिए जिम्मेदार माना गया है। अगर आप नमकीन या प्रोसेस्ड फूड का सेवन करते हैं, तो यह आपके माइग्रेन को बढ़ा सकता है। आप फास्ट फूड और जंक फूड से भी दूरी बनाकर रखें। इसके अलावा स्वीटनर एस्पार्टेम और परिरेटिव मोनोसोडियम ग्लूटामेट (एमएसजी), कई खाद्य पदार्थों में पाए जाते हैं जो माइग्रेन को ट्रिगर कर सकते हैं।
खाना न खाना
Image result for महिलाओं में माइग्रेन का कारण
यदि आप समय अनुसार भोजन नहीं लेते या फिर अपने मील को स्किप करते हैं यह भी माइग्रेन के दर्द में योगदान देता है। इसलिए अपने डाइट पर पूरा ध्यान दीजिए।

शराब से दूरी शराब पीना सेहत के लिए बहुत ही हानिकारक होता है। आपको बता दें कि शराब और अत्यधिक कैफीनयुक्त पेय माइग्रेन का कारण बन सकता है। इसलिए इसके सेवन से दूरी बनाकर रखिए।
तनाव का लेना

ऑफिस का तनाव या घर के तनाव के वजह से आपको माइग्रेन हो सकता है। इसलिए अपने तनाव को कंट्रोल करना सीखिए और कुछ दिन के लिए अपने आप को समय दीजिए।
नींद पूरी न होना
जब नींद पूरी न हो तब भी माइग्रेन में दर्द होने की संभावना होती है। इसके अलावा आवश्यकता से अधिक नींद लेना भी माइग्रेन का कारण बनता है।
ब्राइट रोशनी और तेज आवाज

ब्राइट रोशनी और सूरज की चमक माइग्रेन का कारण बन सकती है। इसके अलावा तेज आवाज भी माइग्रेन को ट्रिगर कर सकती है।
महिलाओं में माइग्रेन का कारण
Image result for महिलाओं में माइग्रेन का कारण
मासिक धर्म से संबंधित माइग्रेन 60 प्रतिशत महिलाओं को प्रभावित करते हैं, जो किसी प्रकार के माइग्रेन का अनुभव करते हैं। एस्ट्रोजेन में उतार चढ़ाव की वजह से कई महिलाओं को माइग्रेन में सिरदर्द का सामना करना पड़ता है। सिरदर्द का सामना करने वाली महिला अक्सर अपने पीरियड्स के पहले या बाद में, जब उन्हें एस्ट्रोजेन में बड़ी कमी आती है, सिर दर्द की रिपोर्ट करती हैं। इसके अलावा गर्भावस्था या रजोनिवृत्ति यानी मोनोपॉज के दौरान भी महिलाओं माइग्रेन का सामना करना पड़ता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.