Header Ads

विटामिन-ई से भरपूर इन 25 सूपरफूड


विटामिन-ई से भरपूर इन 25 सूपरफूड को जरूर करें अपने आहार में शामिल


हमारे शरीर के लिये विटामिन और मिनरल्स बहुत जरुरी होते हैं। खासतौर से विटामिन ई जो कि एक वसा-घुलनशील विटामिन है जो हमारे शरीर को स्वस्थ बनाने के लिये बहुत महत्वपूर्ण है। त्वचा और बालों के लिए विटामिन ई के कई लाभ हैं। इसी वजह से कई कॉस्मेटिक उत्पादों में इसका उपयोग किया जा रहा है। विटामिन ई को अपनी डाइट में शामिल किया जाना बहुत जरुरी है।

हम सभी जानते हैं कि विटामिन ई हमारे शरीर को कैसे लाभ देता है और कैसे विटामिन ई की कमी हमारे शरीर को प्रभावित कर सकती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि विटामिन ई किस तरह की चीजों में पाया जाता है। ऐसे कौन से खाद्य पदार्थ हैं जिनमें विटामिन ई होता है। आइय़े जानते हैं आपको अपनी डाइट में किस तरह से विटामिन ई शामिल करना चाहिए।
लेख की विषय सूची
विटामिन ई महत्वपूर्ण क्यों है? (Why Is Vitamin E Important in Hindi?)

शीर्ष 25 विटामिन ई रिच फूड्स (Top 25 Vitamin E Rich Foods in Hindi )

विटामिन ई की कमी और इसके लक्षण (Vitamin E Deficiency And Its Symptoms in Hindi )

निष्कर्ष (Conclusion in Hindi )
विटामिन ई महत्वपूर्ण क्यों है? (Why Is Vitamin E Important in Hindi?)

हमारे शरीर के लिये विटामिन ई बहुत महत्वपूर्ण है और सबसे बड़ा कारण यह है कि विटामिन ई में एंटीऑक्सीडेंट हैं। यह शरीर के ऊतकों को क्षतिग्रस्त होने और मुक्त कणों से बचाने व प्रतिरक्षा तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इसके अलावा विटामिन ई के ऐसे बहुत से लाभ हैं जो हमें स्वस्थ रखने के लिये बहुत जरुरी है।

[Back To Top]
25 विटामिन ई से भरपूर फूड्स (Top 25 Vitamin E Rich Foods in Hindi )

विटामिन ई की कमी केवल दवाइयों से ही नहीं बल्कि ऐसे बहुत से खाद्य पदार्थ हैं जिनसे पूरी की जाती है। आइये जानते हैं ऐसे 25 खाद्य पदार्थों के बारे में-

1- सूरजमुखी के बीज:

सूरजमुखी के बीज में भरपूर मात्रा में विटामिन ई पाया जाता है। 100 ग्राम के एक कप में 78% विटामिन ई होता है। यह सबसे किफायती विटामिन ई लाभों में से एक है। आप सूरजमुखी के बीज को फ्राई करके भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

2-बादाम


यह विटामिन ई के सबसे आम तत्वों में से एक है जिसे हम अपनी रोज की डाइट में शामिल कर सकते हैं। एक कप बादाम में 170% से अधिक विटामिन ई शामिल होते हैं। बादाम को आप दूध के साथ भी ले सकते हैं।

3-हेज़लनट्स
यह आपकी डाइट में पाया जाने वाला सामान्य तत्व नहीं है। क्योंकि यह बहुत ही महंगा होता है और आसानी से मार्केट में उपलब्ध नहीं है। इसमें एक कप में 86% से अधिक विटामिन ई शामिल होता है। इसे काट कर भी खा सकते हैं और सूप में भी मिला सकते हैं।

4-पाइन नट्स

यह वह प्रकार का अखरोट है जिसे सभी प्रकार के व्यंजनों के साथ मिलाया जाता है। यह कई क्रीम में मिला होता है और परंपरागत रूप से पास्ता बनाने के लिए उपयोग किया जाता है। इसे सलाद में ड़ाल कर भी खा सकते हैं। यह विटामिन ई समृद्ध खाद्य पदार्थों में से एक है।

5-पीनट्स

पीनट्स यानी कि मूंगफली जो कि विटामिन ई का बहुत अच्छा स्त्रोत है। यह आसानी से बाजार में मिल जाती है, मूंगफली को सर्दियों के मौसम में ज्यादा खाया जाता है।

[Back To Top]

6-ब्राजील नट्स

ब्राजील नट्स के एक कप में 38% विटामिन हो सकते है। यह विटामिन ई के मुख्य स्त्रोतों में से एक है।

7-डेन्डेलियन ग्रीन्स


डेन्डेलियन ग्रीन्स का उपयोग सलाद के तौर पर किया जाता है। इसका उपयोग विटामिन ई तेल बनाने के लिए भी किया जाता है।

8-कियूना
कियूना यह किसी भी स्टोर में आसानी से मिल जाता है। इसको आप फ्राई करके भी खा सकते हैं, साथ ही इसे नाश्ते, लंच या डिनर में भी ले सकते है। इसके एक कप में 6 प्रतिशत विटामिन ई की मात्रा पाया जाता है।

9-पिस्ता

पिस्ता जो काफी टेस्टी और हेल्दी भी होता है, इसे आप दूध में मिलाकर या फिर किसी स्वीट डिश या दही में मिलाकर खा सकते है। साथ ही एक्सरसाइज के बाद पिस्ता खाना काफी फायदेमंद होता है।

10-पार्सेले

पार्सेल का इस्तेमाल सलाद या किसी तरह की इटालियन डिश में किया जाता है। ताजे पार्सेलें में भरपूर मात्रा में विटामिन ई पाया जाता है।

11-पपीता

यह एक ऐसा फल है जो कि विटामिन ई का तो अच्छा स्त्रोत है, साथ ही यह वजन कम करने के लिये भी बहुत फायदेमंद है। एक पपीते में 17 प्रतिशत विटामिन ई पाया जाता है।

12-पम्पकिन (कद्दू के बीज)

इन बीजों विटामिन की अच्छी मात्रा पायी जाती है, इसे आप ब्रेड में डालकर भी खा सकते हैं। साथ ही किसी भी प्रकार की ब्रेकफास्ट डिश में भी इसका प्रयोग कर सकते हैं।

13-पालक


पालक की एक नहीं कई रेसिपी बन सकती है, इसे सूप में इस्तेमाल करिये या फिर सलाद के तौर पर कर सकते हैं। विटामिन ई का यह सबसे मुख्य स्त्रोत है।

14-सरसो का साग
यह विटामिन ई से भरपूर स्त्रोत है, इसे आप सर्दियों के मौसम मे बनाकर खा सकते हैं। इसे आप जैतून के तेल, लहसुन के साथ फ्राई करके खा सकते हैं।

[Back To Top]

15-स्विस चार्ड

यह एक तरह की सब्जी जिसे आप सलाद, सूप आदि के तौर पर इस्तेमाल कर सकते है। एक कप स्विस चार्ड में 17 प्रतिशत विटामिन ई पाया जाता है।

16-जैतून

जैतून विटामिन ई का एक बहुत अच्छा स्रोत है, बहुत अच्छी मात्रा में विटामिन ई पाया जाता है। जैतून को कई तरह से खा सकते हैं, इसका इस्तेमाल पिज्जा या पास्ता में किया जाता है।

17-ब्रोकली

यह वजन कम करने के लिये बहुत लाभदायक होती है, इसकी सब्जी बनाकर भी खा सकते हैं। साथ ही इसे उबाल कर भी खाया जा सकता है। विटामिन ई का यह ऐसा स्त्रोत है जो कि आसानी से बाजार में मिल सकता है।

18-एवोकाडो

यह विटामिन ई के साथ सबसे अच्छे खाद्य पदार्थों में से एक, एवोकैडोस आधा हिस्सा विटामिन ई के 2 मिलीग्राम से अधिक है।

19-पार्सनिप्स


यह काफी स्वादिष्ट होते हैं, इसे जैतून का तेल में कुरकुरा होने तक पकाया जाता है।

20-किवी फ्रूट

यह फल बहुत ही टेस्टी होता है, इससे आप कस्टर्ड, स्मूथी बना सकते हैं। विटामिन ई के तेल का यह अच्छा स्त्रोत है।

21-पेकान
पेकान का इस्तेमाल पेनकेक और ब्लूबेरी रेसिपी में किया जाता है। यह मीठा पेकान विटामिन ई से भरपूर है।

22-क्रैनबेरी

क्रैनबेरी रस या सॉस बनाने के लिए किया जाता है। इससे आप जलापेनो साल्सा सहित कई चीजें बना सकते हैं। यह विटामिन ई समृद्ध खाद्य पदार्थों में से एक है।

23-ब्लैकबेरी

ब्लैकबेरी काफी स्वादिष्ट फल है, यह विटामिन ई की कमी को दूर करता है। इसे आप नाश्ते में भी खा सकते हैं।

24- कद्दू

कद्दू का उपयोग सब्जी बनाने के लिये किया जाता है। विटामिन ई की कमी पूरी करने के लिये इसका उपयोग करें।

25-अंडे

अंडे का उपयोग नाश्ते में दोपहर के भोजन या रात के खाने में किया जाता है। यह विटामिन ई के सबसे खास स्त्रोतों में से एक है।

[Back To Top]
विटामिन ई की कमी और इसके लक्षण (Vitamin E Deficiency And Its Symptoms in Hindi )

विटामिन ई की कमी

हमारे शरीर के लिये विटामिन ई बहुत जरुरी है इसकी कमी होने पर कई दिक्कते हो सकते हैं।

यदि आपको पढ़ने में समस्या है तो डॉक्टर से जरुर परामर्श लें। यह विटामिन ई की कमी के लक्षण हो सकता है।

मांसपेशी में दर्द, जब भी आप चलते हैं या नीचे उतरते हैं तो अचानक आपकी मांसपेशियों को चोट लगने लगती है। यह निश्चित रूप से एक विटामिन ई की कमी है।

[Back To Top]
निष्कर्ष (Conclusion in Hindi )
विटामिन ई की कमी के लक्षणों को नजरअंदाज न करें क्योंकि इसकी कमी कई बीमारियों का कारण बन सकती है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.