Header Ads

धीरे-धीरे खाना खाने से होते हैं ये बड़े फायदे –

धीरे-धीरे खाना खाने से होते हैं ये बड़े फायदे – 





क्या आपने धीरे-धीरे भोजन करने के फायदे सुने है अगर नहीं तो आज हम आपको बताने जा रहे है की धीरे-धीरे खाना खाने के फायदे क्या होते है और साथ ही जल्दी-जल्दी खाना खाने के नुकसान क्या है जिनसे आपको बचना चाहिए। आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी(busy life) में हर व्यक्ति के पास समय का अभाव है। इस स्थिति में वह अपने सभी काम तो जल्दी-जल्दी निपटाता ही है लेकिन इसके साथ ही व्यक्ति भोजन भी बहुत जल्दी-जल्दी खत्म करके अपना पेट भर लेता है। लेकिन वास्तव में यह हम सभी को मालूम है कि जल्दी-जल्दी भोजन करना स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता है। हमारे घरों में अक्सर हमारे बड़े-बुजुर्ग (elder) हमें टोकते रहते हैं कि आराम से बैठकर धीरे-धीरे खाना खाओ लेकिन हम उनकी बातों पर अधिक ध्यान नहीं देते हैं।

यदि आप भी एक ऐसे व्यक्ति हैं जो जल्दी-जल्दी खाना खाकर खत्म कर देते हैं तो इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे हैं कि आराम से खाना खाने के क्या फायदे होते हैं और जल्दी-जल्दी भोजन करने की आदत किस तरह से नुकसानदायक होती है।

धीरे-धीरे भोजन करने के फायदे वजन घटाने में – 
Eating Slowly For Lose Weight In Hindi

स्टडी में पाया गया है कि धीरे-धीरे भोजन करने(slow eating) से व्यक्ति कम कैलोरी प्राप्त करता है। वास्तव में आहार में किसी तरह का परिवर्तन किए बिना ही सिर्फ धीरे-धीरे और आराम से खाना खाने की आदत से ही एक वर्ष में शरीर का 20 किलो कम किया जा सकता है। इसका कारण यह होता है कि भोजन करने के दौरान मस्तिष्क को यह संकेत मिलने में 20 मिनट लगता है कि हमारा पेट भरा या नहीं। यदि हम बहुत तेजी से खाना खाते हैं तो हम लगातार खाते जाते हैं। लेकिन जब हम धीरे-धीरे खाना खाते हैं तो हमें यह महसूस होने में समय लगता है कि हमारा पेट भर (full) गया है और फिर हम भोजन करना बंद कर देते हैं। धीरे-धीरे खाना खाने की आदत से व्यक्ति का वजन संतुलित (balanced) रहता है और उसे मोटापे की समस्या नहीं होती है।

खाना चबाकर खाने से पेट में सूजन नहीं आती – Eating Slowly Healing Inflammation In Hindi
जब हम भोजन को धीरे-धीरे चबाकर खाते हैं तो भोजन चबाने के इस पूरे समय में भोजन में लार अच्छी तरह से मिल जाता है। भोजन में लार का मिलना पाचन के लिए महत्वपूर्ण होता है और यह भोजन भोजन का एंजाइमेटिक ब्रेकडाउन शुरू करता है। मुंह के लार में एंटीबैक्टीरियल एजेंट और एपिडर्मल ग्रोथ फैक्टर(EGF) पाया जाता है जो आंतों के ऊतकों (intestinal tissue) में सूजन की समस्या के उपचार में मदद करता है और भविष्य में आंत संबंधी बीमारियों के खतरे को कम करने में भी सहायता करता है। इसलिए आंत की बीमारियों से बचने के लिए धीरे-धीरे भोजन करना फायदेमंद (beneficial) होता है।

धीरे-धीरे खाने की आदत से भोजन का स्वाद मिलता है – Eating Slowly To Enjoy Your Food In Hindi

भोजन करते समय आपने अक्सर यह ध्यान दिया होगा कि जल्दी-जल्दी खाकर खत्म करने की आदत से व्यक्ति न तो खाने का सही स्वाद समझ पाता है और न ही खाने का आनंद उठा पाता है। कोई भी खाद्य पदार्थ धीरे-धीरे और आराम से खाने पर जीभ को उसका पूरा स्वाद मिलता है और उसके बाद वह पेट में जाता है। इसे मजे और आनंद के साथ भोजन करना कहते हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह भी होता है कि जब आप धीरे-धीरे भोजन करते हैं तो भोजन को चबाने में भी काफी समय देते हैं और उसका पूरा स्वाद उठाते हैं। इसलिए भोजन का पर्याप्त आनंद लेने के लिए धीरे-धीरे भोजन करना फायदेमंद होता है।

32 बार चबाने भोजन के लाभ से पाचन बेहतर होता है – Eating Slowly For Better Digestion In Hindi

आजकल ज्यादातर लोगों कब्ज और पेट गड़बड़ होने की समस्या से परेशान रहते हैं। इसके कई कारणों में से एक कारण जल्दी-जल्दी खाकर खत्म करने की आदत भी है। इसलिए पेट संबंधी बीमारियों (gut disease) से बचने के लिए धीरे-धीरे भोजन करना चाहिए। धीरे-धीरे भोजन करने पर आप भोजन को चबाने में भी समय लगाते हैं जिससे भोजन मुंह में ही अच्छी तरह से पीसकर पेट के अंदर जाता है और पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है। माना जाता है कि भोजन के पाचन की प्रक्रिया मुंह में ही शुरू हो जाती है। इसका अर्थ यह है कि यदि आप भोजन को जल्दी से निगल जाएंगे तो यह पचने में समय लगेगा और जब आप भोजन को अच्छे से चबाकर खाएंगे तो यह आसानी से पच जाएगा और आपकी पाचन क्रिया भी बेहतर होगी।

चबाकर खाना खाने के फायदे से तनाव कम होता है – Eating Slowly For Less Stress In Hindi

जब भी भोजन करें या कोई भी खाद्य पदार्थ खाएं तो उसे धीरे-धीरे खाएं और उस समय भोजन पर ही ध्यान केंद्रित (attention) रखें। जब हम भोजन पर पूरा फोकस करते हैं तो यह एक तरह से मस्तिष्क की एक्सरसाइज का काम करता है। जिस वक्त आप भोजन कर रहे हों उस वक्त सिर्फ भोजन कीजिए और किसी अन्य चीज के बारे में मत सोचिए। भोजन पर इस तरह का आत्मकेंद्रण (focused) तनाव को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और भोजन पर ही अधिक ध्यान देने से खराब जीवनशैली से उत्पन्न तनाव भी कम होता है।

जल्दी-जल्दी खाना खाने के नुकसान – Jaldi-Jaldi Khana Khane Ke Nuksan In Hindi
आमतौर पर ज्यादातर लोग यह जानते हैं कि हमें खाते वक्त जल्दी नहीं करना चाहिए और बहुत आराम से खाना खत्म करना चाहिए। लेकिन समय के अभाव के चलते लोग खाना जल्दी-जल्दी खाकर खत्म कर देते हैं जबकि कुछ लोगों को जल्दी खाने की आदत भी होती है। यदि आप जल्दी खाना खाने से सेहत को होने वाले नुकसान के बारे में नहीं जानते हैं तो हम आपको बता रहे हैं कि तेजी से खाना खाने से क्या नुकसान होता है।
जल्दी-जल्दी खाना खाने से होता है डायबिटीज – Eating Quickly Raise Risk Of Diabetes In Hindi
मेटाबोलिक सिंड्रोम का खतरा जल्दी खाने की आदत से – Eating Too Quickly Linked To Metabolic Syndrome In Hindi
बहुत तेज खाने से घुट सकता है गला – Eating Fast Increases Risk Of Choking In Hindi
जल्दी-जल्दी खाना खाने के नुकसान से बढ़ता है मोटापा – Eating Too Quickly Linked To Obesity In Hindi
तेजी से भोजन करने से हो सकता है गैस्ट्रिटिस – Eating Too Quickly Increased Gastritis In Hindi
जल्दी-जल्दी खाना खाने से होता है डायबिटीज – Eating Quickly Raise Risk Of Diabetes In Hindi
बहुत जल्दी-जल्दी भोजन करने पर आमतौर पर टाइप 2 डायबिटीज की समस्या नहीं होती है। लेकिन जल्दी भोजन करने की आदत से डायबिटीज होने की संभावना जरूर बढ़ जाती है। एक स्टडी में पाया गया है कि मध्यम उम्र के बिना डायबिटीज की समस्या से पीड़ित महिला और पुरुषों में जल्दी-जल्दी भोजन करने की आदत से इंसुलिन प्रतिरोध (insulin resistance) का खतरा बढ़ गया। इस स्थिति में शरीर इंसुलिन का प्रभावी (effective) तरीके से उपयोग नहीं कर पाता है और व्यक्ति को डायबिटीज की समस्या हो जाती है।
(और पढ़े – शुगर ,मधुमेह लक्षण, कारण, निदान और बचाव के उपाय)
मेटाबोलिक सिंड्रोम का खतरा जल्दी खाने की आदत से – Eating Too Quickly Linked To Metabolic Syndrome In Hindi

इंसुलिन प्रतिरोध (insulin resistance) आमतौर पर मेटाबोलिक सिंड्रोम से ही जुड़ा होता है। जल्दी-जल्दी भोजन करने की आदत से व्यक्ति को मेटाबोलिक सिंड्रोम तो होता ही है साथ में हृदय संबंधी बीमारियां और स्ट्रोक का खतरा भी बढ़ जाता है। एक स्टडी में पाया गया है कि जो लोग रोजाना जल्दी-जल्दी भोजन करते हैं उनमें मेटाबोलिक सिंड्रोम की समस्या अधिक होती है। इसके अलावा ऐसे लोगों के शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल अर्थात् एचडीएल का स्तर भी कम होता है जिसके कारण उनमें मेटाबोलिक सिंड्रोम और हृदय रोगों का खतरा बढ़ जाता है।

बहुत तेज खाने से घुट सकता है गला – Eating Fast Increases Risk Of Choking In Hindi

जल्दी-जल्दी भोजन करने की आदत से गले को भोजन निगलने में कठिनाई होती है जिसके कारण गला घुटने (Choke) लगता है। कभी-कभी अधिक भोजन निगलने के प्रयास में व्यक्ति को सांस लेने में भी कठिनाई होती है। इसलिए भोजन आराम से खाना चाहिए ताकि गला घुटने की समस्या न हो।
जल्दी-जल्दी खाना खाने के नुकसान से बढ़ता है मोटापा – Eating Too Quickly Linked To Obesity In Hindi

आमतौर पर यह सभी को मालूम है कि तेजी से भोजन करने से मोटापे की समस्या होती है। इसका कारण यह है कि व्यक्ति को भोजन चबाने का मौका नहीं मिलता है वह अधिक से अधिक भोजन निगलता जाता है जिसके कारण शरीर अधिक कैलोरी ग्रहण कर लेता है। जल्दी-जल्दी भोजन करने से पेट के हार्मोन गड़बड़ हो जाते हैं जो आंतों में भूख को नियंत्रित नहीं कर पाते हैं जिससे आपको दोबारा भी जल्दी भूख लगती है और फिर अधिक खाने पर मोटापा बढ़ता है।
जल्दी-जल्दी भोजन करने से हो सकता है गैस्ट्रिटिस – Eating Too Quickly Increased Gastritis In Hindi

बहुत जल्दी-जल्दी खाना निगलने से गैस्ट्रिटिस की समस्या होती है। इस कारण पेट में सूजन और अल्सर हो जाता है। एक स्टडी में पाया गया है कि जल्दी-जल्दी खाना खाने वाले एक हजार रोगियों के जब ऊपरी आंत की एंडोस्कोपीकी गई तो पाया गया कि बहुत तेजी से भोजन करने के कारण ही उनमें गैस्ट्रिटिस की समस्या हुई है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.