Header Ads

जींस व छोटे कपड़े पहनने वाली लड़कियां नहीं बन पाएंगी माँ...


जींस व छोटे कपड़े पहनने वाली लड़कियां नहीं बन पाएंगी माँ...


इंटरनेट डेस्क। आजकल हम देखते हैं कि जब से 21वीं सदी का प्रारंभ हुआ है। तब से हमारे भारतीय समाज में भी खान-पान, पहनावा, संस्कृति आदि में परिवर्तन आया है। आजकल हमारे समाज की लड़कियां भी पश्चिम के देशों की तरह पैंट, शर्ट, जींस और छोटे कपड़े पहनने लगी है। इस प्रकार हमारी सोसायटी में लड़कियों के पहनावे के कारण समाज में कई प्रकार के मतभेद पैदा होते है।

अगर करना है अपने पति को वश में तो आजमाएं यह टोटके




जहां एक तरफ तो हमारी रूढ़ीवादी सोच हैं जो लड़कियों के पहनावे को लेकर उनपर कई प्रकार की बंदिशे लगाती है। इसी सोच के कारण इनके हिसाब से लड़कियों को पैंट, जींस और छोटे कपडें यूज में लेना गलत है।

दूसरी तरफ हमारा आधुनिक समाज भी है जो आजकल लड़कियों को हर प्रकार से आगे बढ़ाना चाहता है। लड़कियों को हर प्रकार के कपड़े यूज करने की स्वतंत्रता प्रदान करता है। आधुनिक समाज में लड़के और लड़कियों में किसी भी प्रकार का भेद-भाव नहीं समझा गया है। अगर हम किसी एक पर पाबंदी लगाते है, तो वह गलत है।

लेकिन हाल में एक रिर्पोट में सामने आया है कि जो लड़किया ऐसे जींस व छोटे कपड़े पहनती है उन लड़कियों में हार्मोन सही प्रकार से काम नहीं करेगें। लेकिन जो लड़की सलवार-शूट पहनेगी उन लड़कियों के हार्मोन सही प्रकार से काम करेगें।



रिर्पोट में बताया गया है कि जो लड़कियां जींस व छोटे कपड़े पहनती है। उन लड़कियों में कम उम्र में ही पॉली सिस्टिक ओवेरियन बीमारी का ख़तरा बढ़ने लगता है। इस कारण उनके मस्तिषक में पुरूष भूमिका रिवर्सल होने लगती है। इस वजह से लड़कियों में कम उम्र में ही रिप्रॉडक्शन की नेचूरल इच्छा कम होने लगती है। इस कारण लड़कियों में पॉली सिस्टिक ओवेरियन जैसी खतरनाक बीमारी हो जाती है।

काली हल्दी के उपयोग से बदले अपनी बुरी किस्मत

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.