Header Ads

महिलाओं में प्रजनन क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय


महिलाओं में प्रजनन क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय 
| Increase woman fertility


शादी के बाद प्रत्येक दम्पति संतान का सुख प्राप्त करना चाहते है और इसके लिए उनमे आवश्यक प्रजनन क्षमता की जरूरत होती है | लेकिन कई बार प्रजनन क्षमता में कमी होने से महिलाओं को संतान की प्राप्ति नहीं हो पाती है और उनका संतान प्राप्ति का सपना भी कभी पूरा नहीं हो पाता है 




पुरुषों और महिलाओं दोनों में संतान प्राप्ति के लिए आवश्यक प्रजनन क्षमता का होना बहुत जरूरी होता है लेकिन आजकल प्रजनन क्षमता में कमी आने के कई कारण हो सकते है जो व्यक्ति के अन्दर प्रजनन क्षमता को घटा रहे है | मानसिक तनाव या उचित रूप से आहार ना लेने से भी इस तरह की समस्या का सामना करना पड़ सकता है | इस समस्या को दूर करने के लिए कुछ उपाय प्रयोग में लाकर फायदा लिया जा सकता है और संतान की प्राप्ति की जा सकती है |


आज हम आपको इस लेख के माध्यम से महिलाओं और पुरुषों में प्रजनन क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपायों के बारे में बताने जा रहे है | इन उपायों से आपको संतान प्राप्ति का सुख मिल सकता है जो आपकी शादीशुदा जिंदगी की खुशियाँ बनाये रखने के लिये बहुत जरूरी है | आइये जानते है प्रजनन क्षमता बढ़ाने के खास उपायों के बारे में जो आपके सामने इस तरह से है :


पोषक तत्वों से भरपूर आहार का सेवन करें :

प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए महिलाओं और पुरुषों दोनों को ही उचित मात्रा में पोषक देने वाले आहारों का सेवन करना चाहिए | इनसे शरीर को स्वस्थ रखने में बहुत मदद मिलती है साथ ही गर्भ धारण करते समय आने वाली समस्याओं को भी दूर किया जा सकता है |





बढ़ते वजन को नियंत्रित करने के लिए उपाय करें :

महिलाओं का वजन ज्यादा होने के कारण उन्हें गर्भ धारण करने में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है | इसलिए उन्हें अपने बढ़ते वजन को नियंत्रित करने के लिए कुछ उपाय करने चाहिए | इसके लिए व्यायाम आदि करके फायदा लिया जा सकता है साथ ही प्रजनन क्षमता भी बढ़ाई जा सकती है |


शरीर को भरपूर आराम देना चाहिए :


दिन भर काम करते हुए व्यक्ति का शरीर थक जाता है जिसके बाद उसे भरपूर आराम की जरूरत होती है | इसलिए आपको भरपूर आराम करने के साथ साथ पूरी नींद भी लेनी चाहिए क्योंकि नींद ना लेने से व्यक्ति तनावग्रस्त रहने लगता है | इससे आपकी कामेच्छा भी प्रभावित होने लगती है | इन सब समस्याओं से प्रजनन क्षमता घटने लगती है जो आपको संतान प्राप्ति में परेशानी का कारण बनती है | इन सभी समस्याओं से बचने के लिए शरीर को भरपूर आराम देना चाहिए |


नशा करने वाली चीजों के सेवन से परहेज करना चाहिए :


किसी भी प्रकार के नशे का सेवन करने या उसकी आदत पड़ने पर व्यक्ति की प्रजनन क्षमता प्रभावित होने लगती है | चाहे महिला हो या पुरुष नशे का सेवन दोनों के लिए बेहद खतरनाक होता है | नशे का सेवन करने वाली महिलाओं के गर्भाशय में भ्रूण का आरोपण भी रुक सकता है | नियमित रूप से एल्कोहल या अन्य नशीली सामग्री का सेवन करने से शुक्राणु का उत्पादन और अण्डोत्सर्ग भी खराब होने की संभावना हो सकती है | इसलिए इन सभी समस्याओं से बचने के लिए शराब व अन्य नशीली चीजों के सेवन से परहेज रखना चाहिए |

दूध से बने पदार्थों का सेवन करना चाहिए :


हाल ही में हुए शोध के अनुसार नियमित रूप से वसायुक्त आहार का सेवन करने वाली महिलाओं में बांझपन की समस्या सामान्य की अपेक्षा लगभग एक चौथाई कम होने लगती है क्योंकि दूध से बने पदार्थों का सेवन करने से अंडाशयों को उचित रूप से कार्य करने की क्षमता प्रदान की जा सकती है | इसलिए महिलाओं को नियमित रूप से दूध और दूध से बने पदार्थों का भरपूर सेवन करके लाभ लेना चाहिए |


नियमित रूप से भरपूर पानी का सेवन करें :


पानी हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है और नियमित रूप से उचित मात्रा में पानी का सेवन करने से प्रजनन क्षमता में वृद्धि होने के साथ साथ शरीर को कई रोगों के प्रभाव से बचाने में मदद ली जा सकती है | उचित मात्रा में पानी पीने से फूले हुए अंडकूप बनने लगते है जो प्रजनन क्षमता बढ़ाने में मददगार होते है | इसलिए ये सभी फायदे लेने के लिए रोजाना दस से 15 गिलास पानी का सेवन करना चाहिए |


कार्बोहाइड्रेट युक्त आहार का सेवन ज्यादा ना करें :

अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट युक्त आहारों का सेवन करने से रक्त में शर्करा की मात्रा बढ़ने लगती है जिसके कारण इंसुलिन के लेवल में वृद्धि होने लगती है जो हमारी प्रजनन क्षमता को प्रभावित करने लगता है | इसलिए हमें कार्बोहाइड्रेट युक्त आहार जैसे मेदे के बने ब्रेड, पास्ता और अन्य चीजों के सेवन से परहेज रखना चाहिए तथा स्वयं को इन सभी समस्याओं से बचाना चाहिए |


रोजाना व्यायाम करके फायदा लें :


शरीर को मजबूत बनाने के साथ साथ प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए व्यायाम करना बहुत फायदेमंद रहता है | इससे रक्त संचार में वृद्धि होने लगती है तथा व्यक्ति शारीरिक और मानसिक रूप से हमेशा स्वस्थ रहता है | इसलिए हमें नियमित रूप से व्यायाम करके खुद को फिट रखना चाहिए |


वजन को सामान्य से कम ना होने दें :


वजन ज्यादा कम होने के कारण शरीर दुबला पतला होने लगता है जिसके कारण गर्भ धारण करने में समस्या होने लगती है | इसलिए प्रजनन क्षमता बढ़ाने और समस्याओं से बचने के लिए शरीर के वजन को नियंत्रित करते हुए शारीरिक रूप से मजबूत बनना चाहिए |


विटामिन डी प्राप्त करें :


विटामिन डी का सबसे बड़ा स्त्रोत सूर्य की रोशनी को माना जाता है | इसलिए रोजाना थोड़ी देर तक सूर्य की रोशनी में बैठना चाहिए जिससे आपको आवश्यक मात्रा में विटामिन डी की प्राप्ति हो सकें | इससे आपकी प्रजनन क्षमता में वृद्धि होने लगती है साथ ही विटामिन डी युक्त आहारों का सेवन करके भी फायदा लिया जा सकता है |


एंटीऑक्सीडेंट से युक्त आहारों का सेवन करें :


मनुष्य की प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए एंटीऑक्सीडेंट से युक्त आहारों का सेवन उचित मात्रा में करना चाहिए | हरी सब्जियों, टमाटर, हरी मिर्च और संतरे का सेवन करके एंटीऑक्सीडेंट की प्राप्ति की जा सकती है | इसलिए हमें इन सभी को अपने आहार में नियमित रूप से शामिल करके फायदा लेना चाहिए |


ओमेगा 3 फैटी एसिड का सेवन करें :


ओमेगा 3 फैटी एसिड का सेवन करके प्रजनन क्षमता को बढ़ाने और गर्भपात के खतरे को दूर करने में मदद ली जा सकती है | सालमोन और अलसी के बीजों में उचित मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है | इसलिए हमें इसका सेवन नियमित रूप से अपने आहार के साथ करके प्रजनन क्षमता में वृद्धि करनी चाहिए तथा इसके अन्य लाभ भी लेने चाहिए |


फोलिक एसिड :


फोलिक एसिड का प्रयोग करके भी प्रजनन क्षमता में वृद्धि करने में मदद ली जा सकती है | इसलिए हमें अपने आहार में फोलिक एसिड प्रदान करने वाले तत्वों जैसे गोभी, बीट रूट, केला, ब्रोकली, अं‍कुरित दालें आदि को शामिल करना चाहिए |

आप इन उपायों को प्रयोग में लाकर अपनी प्रजनन क्षमता को बढ़ा सकते है और गर्भधारण करने के दौरान आने वाली समस्याओं को दूर करने में सफल हो सकते है | अगर आपको इन उपायों से भी भरपूर लाभ ना मिले तो आपको किसी विशेषज्ञ से सलाह लेकर गर्भधारण करने के लिए कुछ उपाय करने चाहिए | इसके अलावा आपको अपने खानपान सम्बन्धी भी कुछ बातों के प्रति ध्यान देना चाहिए और कभी भी शारीरिक रूप से नुकसान देने वाले आहारों के सेवन से बचना चाहिए | इस तरह से आप अपनी प्रजनन क्षमता में वृद्धि करने के साथ साथ संतान प्राप्ति का सुख पा सकते है और अपनी शादीशुदा जिंदगी में नई खुशियाँ लाने में सफल हो सकते है |

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.