Header Ads

आंवला का मुरब्बा खाने के फायदे और नुकसान –


https://healthtoday7.blogspot.in/
आंवला का मुरब्बा खाने के फायदे और नुकसान – 




आयुर्वेद में आंवला और आंवला मुरब्‍बा का अपना एक प्रमुख स्‍थान है। आप सभी ने यह भी सुन रखा होगा कि “आंवला एक फायदे अनेक” यह सही भी है। आंवला एक ओषधीय फल है। आप सभी को आंवले के फायदे तो पता ही हैं। आज हम आपको आंवला का मुरब्‍बा खाने के फायदे और नुकसान से परिचय करा रहे हैं।

आंवले का मुरब्‍बा बहुत से लोगों की पसंद होता है क्‍योंकि एक तो इसका स्‍वाद बहुत ही अच्‍छा होता है और दूसरा इसलिए कि आंवला के मुरब्‍बे के फायदे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी बहुत अधिक हैं। आंवला का मुरब्‍बा हड्डीयों (Bone) को मजबूत करने, खून को बढ़ाने, स्‍मृति को बढ़ाने जैसे बहुत से स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्रदान करता हैं। आइए जाने आंवला का मुरब्‍बा खाने के फायदे क्‍या हैं।


https://healthtoday7.blogspot.in/
आंवला मुरब्‍बा के फायदे गर्भावस्‍था के लिए – 
Amla Murabba Helps in Pregnancy in Hindi


ऐसा माना जाता है कि जब महिला गर्भवती (Pregnant) होती है तो उसे आंवला मुरब्‍बा का सेवन पर्याप्‍त मात्रा में करना चाहिए। यह मां और बच्‍चे दोनों के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए महत्‍वपूर्ण होता है। यदि गर्भवती महिला आंवला के मुरब्‍बे का नियमित सेवन करती है तो उसके शरीर में होने वाले हार्मोनल परिवर्तन (Hormonal Changes) के कारण बाल गिरने की समस्‍या को रोका जा सकता है। आंवला मुरब्‍बा बच्‍चे की आंखों की क्षमता को बढ़ाने में भी मदद करता है।

प्रतिरक्षा शक्ति बढ़ाने में आंवला का मुरब्‍बा खाने के फायदे – Amla Ka Murabba for Immunity in Hindi


विटामिन सी की अच्‍छी मात्रा उपलब्‍ध होने के कारण आंवला मुरब्‍बा के फायदे हमारे अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देते हैं। आंवला मुरब्‍बा में एंटीऑक्‍सीडेंट गुण भी मौजूद रहते हैं जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। यह ठंड, बुखार और बार-बार होने वाले संक्रमणों (Recurring Infections) से हमारी सुरक्षा करते हैं।
आंवला के मुरब्‍बे के फायदे मासिक घर्म के समय – Amla Murabba Treat Menstrual Cramps in Hindi


महिलाओं में मासिक धर्म चक्र (Menstrual Cycle) के दौरान होने वाला दर्द का उपचार करने के लिए आंवला मुरब्‍बा का उपयोग किया जा सकता है। जिन महिलाओं को मासिक धर्म चक्र के समय ऐंठन (Menstrual Cramps) होती है उन्‍हें लगभग 3 माह तक आंवला मुरब्‍बा का नियमित सेवन करना चाहिए। यह उन्‍हें इस दर्द से छुटकारा दिलाता है साथ ही मासिक धर्म से संबंधित अन्‍य समस्‍याओं को भी नियंत्रित करने में मदद करता है।

मुंहासें और दाग के लिए आंवला मुरब्‍बा के उपयोग – Amla Murabba Removes Scars and Acne in Hindi


https://healthtoday7.blogspot.in/

सभी लोग अपनी त्‍वचा को स्‍वस्‍थ्‍य और सुंदर बनाने के लिए बहुत से रासायनिक उत्‍पादों का उपयोग करते हैं, जिनके कुछ साइड्इफैक्‍टस भी होते हैं। लेकिन आप प्राकृतिक उपाचर के रूप में आंवला मुरब्‍बा का भी उपयोग कर सकते हैं जो बिना किसी साइड्इफैक्‍ट के आपकी त्‍वचा से मुँहासे और दागों (Acne and scars) को दूर करने में मदद करता है। यह आपकी त्‍वचा को स्‍वस्‍थ्‍य बनाने का सबसे अच्‍छा प्राकृतिक तरीका है।

आंवला का मुरब्‍बा बुढ़ापे को रोके – Amla Murabba has Anti-Ageing Properties in Hindi


विटामिन A, विटामिन C और विटामिन E की अच्‍छी मात्रा आंवला में मौजूद रहती है जो समय से पहले आने वाले बुढ़ापे के लक्षणों को दूर करने में मदद करते हैं। विटामिन ए कोलेजन पैदा करता है, जो त्‍वचा को लचीला (Skin Flexible) और युवा बनाता है। आंवला मुरब्‍बा को सेवन करने का सबसे अच्‍छा तरीका खाली पेट लेना है। यह कोलेजन विघटन (Collagen Debasement) से भी बचा सकता है। इस तरह यह त्‍वचा को तंग, कोमल और युवा बनाए रखने में मदद करता है।
खून की कमी को दूर करे आंवला का मुरब्‍बा – Amla Murabba for Anemia in Hindi


लौह सामग्री की भरपूर मात्रा आंवला में समाहित रहती है, इसलिए इसमें हीमोग्‍लोबिन (Haemoglobin) स्‍तर को बढ़ाने की क्षमता होती है। जिन लोगों को खून की कमी होती है उनके लिए आंवला का मुरब्‍बा एक औषधी की तरह कार्य करता है। यह उन महिलाओं के लिए भी लाभकारी होता है जो मासिक धर्म (Menstrual) के समय भारी रक्‍त स्राव से ग्रसित रहती हैं। ऐसी महिलाओं में लौह (Iron) की कमी को पूरा करने के लिए आंवला मुरब्‍बा का उपयोग किया जा सकता है।

आंवला मुरब्‍बा के फायदे हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Amla Murabba Benefits for Heart Diseases in Hindi


क्रोमियम, जिंक और कॉपर (Zinc and Copper) की अच्‍छी मात्रा आंवला में मौजूद रहती है जो कि शरीर के आवश्‍यक घटक होते हैं। क्रोमियम विशेष रूप से रक्‍त के कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर और हृदय रोगों के खतरे को कम करने में मदद करता है। आंवला मुरब्‍बा थियोबाबिट्रिक एसिड (Thiobarbituric Acid) और टीबीए के ऑक्‍सीकरण के अवरोध के माध्‍यम से खराब कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम कर देता है। यह मानव शरीर में वीएडीएल और ट्राइग्लिसाइड्स (Triglycerides) के स्‍तर को भी कम कर देता है। हांलाकि उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल स्‍ट्रोक और दिल के दौरेके लिए सीधे जिम्‍मेदार नहीं हो सकते हैं, लेकिन कोलेस्‍ट्रॉल रक्‍त वाहिकाओं (Blood vessels) की सूजन का कारण बन सकता है। आंवला मुरब्‍बा रक्‍त वाहिकाओं की सूजन को कम करने में मदद करता है, जो हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही महत्‍वपूर्ण होता है।

https://healthtoday7.blogspot.in/

आंवला मुरब्‍बा खाने के फायदे अपच के लिए – Amla Murabba for Indigestion in Hindi


पाचन स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने के लिए आंवला मुरब्‍बा के फायदे जाने जाते हैं साथ ही यह यकृत को भी स्‍वस्‍थ्‍य बनाने में सहायक होता है। इसलिए यदि आप अपच या पेट का भारीपन महसूस करें तो इससे छुटकारा पाने के लिए आंवला के मुरब्‍बे का उपयोग करें। यह आपके अपचन से संबंधित सभी प्रकास की समस्‍याओं को दूर कर सकता है।

https://healthtoday7.blogspot.in/
गठिया के दर्द में आंवला के मुरब्‍बे के फायदे – Benefits of Amla Murabba for Arthritis Pain in Hindi


गठिया के दर्द और सूजन का उपचार करने के लिए आंवला मुरब्‍बा का उपयोग किया जा सकता है। यह घुटने या जोड़ों के दर्द से छुटकारा दिलाने में मदद करता है क्‍योंकि यह विटामिन सी का अच्‍छा स्रोत होता है। जोड़ों के दर्द(Joints pain) को ठीक करने के लिए आप आंवला को कच्‍चे या मुरब्‍बा के रूप में दिन में दो बार सेवन कर सकते हैं विशेष रूप से सुबह के समय।

आंवला मुरब्बा के लाभ बालों के लिए – Benefits of Amla Murabba for Hair in Hindi


यदि आप अपने आहार मे आंवला मुरब्‍बा को शामिल करते हैं तो आपके बालों के लिए यह बहुत ही लाभकारी हो सकता है। आंवला मे विटामिन सी बहुत अच्‍छी मात्रा में होता है जो आपके बालों को चमकदार (Shiny) बनाता है। यह बालों के भूरे रंग को भी रोकने में मदद करता है।

आंवले का मुरब्बा बनाने की विधि – Amla Ka Murabba banane ki vidhi in Hindi


अपने विशेष स्‍वाद और स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के कारण आंवला मुरब्‍बा बहुत ही प्रसिद्धि प्राप्‍त कर चुका है। लेकिन इसका उपयोग करने के लिए इसे या तो बाजार से खरीदना पड़ता है, या आप स्‍वयं इसे अपने घर में पूर्ण शुद्धता के साथ बना सकते हैं।

आइये जानते है आंवले का मुरब्बा बनाने की विधि हिंदी में ।


आंवले को धोना और साफ करना (Washing & Purifying)

आंवले का मुरब्‍बा बनाने के लिए सबसे पहले आप इनमें किसी नुकीली लकड़ी से छेद करलें। लगभग 2 लीटर पानी में फिटकरी (Alum) की थोड़ी सी मात्रा डालें और इन आंवलों को इस पानी में मिलाएं। इन्‍हें 12 से 24 घंटों तक इसी पानी में रहने दें और अगले दिन इसी पानी से इन आंवलों को रगड़ कर धो लें। यह आंवलों को साफ करने की आयुर्वेदिक विधि है। आंवलों को बिना फिटकरी के भी धोया जा सकता हैं।


आंवलों को पानी में उबालें (Boiling water with amla)

मुरब्‍बा बनाने के लिए साफ किये हुए आंवलों को पानी में उबाला जाता है। इन आंवलों को पानी में कम से कम 10 से 20 मिनिट तक उबाल लें ताकि आंवला मुलायम और नरम (Tender and Soft) हो जाए।
शक्‍कर का सीरा तैयार करें (Preparing sugar syrup)

चासनी तैयार करने के लिए 1 लीटर पानी में 1 किलो शक्‍कर को मिलाकर इस मिश्रण को उबालें, जब तक की यह हल्‍का गाढ़ा न हो जाए।
चासनी में आंवलों को भिगोंएं (Soaking boiled amla in the sugar syrup)

आंवला मुरब्‍बा बनाने के लिए शक्‍कर की चासनी में उबले हुए आंवलों को डालें और 1 से 2 दिन के लिए छोड़ दें। 2 दिन के बाद आंवले को चासनी से निकालें और इस चासनी को फिर से उबालें। उबालने के बाद चासनी में साइट्रिक एसिड (citric acid) मिलाएं। इस मिश्रण में आंवलों को फिर से 1 दिन के लिए डाल दें और इसी तरह 4 दिनों तक इस प्रक्रिया को दोहराएं। चौथे दिन इस चासनी में इलायची के बीज, केसर और हल्‍के उबले हुए बादाम (blanched almonds) मिलाएं। इस चासनी में आंवलों को डाल दें और कुछ देर के लिए छोड़ दें। आपका मुरब्‍बा बनकर तैयार है। आप इस मुरब्‍बे को किसी बरनी या कंटेनर जो हवा रोधी हो उसमें रख सकते हैं और उपयोग कर सकते हैं।

ध्‍यान रखें कि यह विधि आपके मुरब्‍बे को लंबे समय तक सुरक्षित रखती है, और मुरब्‍बा बनाने की यही सफल विधि है। कुछ लोग मुरब्‍बा बनाते समय चासनी को बार-बार नहीं उबालते हैं। इस कारण उनके द्वारा बनाया गया मुरब्‍बा जल्‍दी खराब हो जाता है।

https://healthtoday7.blogspot.in/

आंवले का मुरब्बा कब खाये – When to eat Amla Murabba in Hindi

आप इसे रोजाना एक गिलास दूध के साथ सुबह नाश्‍ता के पहले खा सकते हैं। आंवला मुरब्‍बा एक मीठी आयुर्वेदिक दवा है। इसे यूनानी में मुरब्‍बा-ए-आंवला भी कहा जाता है। आंवला विटामिन सी का सबसे अच्छा प्राकृतिक स्रोत है। इसके साथ आंवला में खनिज, पॉलीफेनॉल (Polyphenols), लौह, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फाइबर(Carbohydrates and Fibers) भी अच्‍छी मात्रा में होते हैं। यह प्रकृति में ठंड़ा और पाचन समस्‍याओं का इलाजकरता है।

आंवला मुरब्‍बा (Amla Marmalade) खाने के कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ है, आप आंवला मुरब्‍बा को घर में तैयार कर सकते हैं या बाजार से भी खरीद सकते हैं।

आंवला मुरब्‍बा खाने के नुकसान – Amla Murabba khane ke Nuksan in Hindi


गर्भावस्‍था और स्‍तनपान (Breastfeeding) के दौरान आंवला मुरब्‍बा का सेवन करना सुरक्षित होता है। यह एक अच्‍छा स्‍वास्‍थ्‍य प्रमोटर है, यह पाचन को सुधारता है और भूख को भी बढ़ाता है। इसलिए भारत में गर्भावस्‍था के दौरान इसे टॉनिक के रूप में भी उपयोग किया जाता है।

https://healthtoday7.blogspot.in/
हालांकि, आपको रासायनिक संरक्षकों से बचना चाहिए जिनका उपयोग बाजार में उपलब्ध आंवला मुरब्बा में किया जा सकता है। गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान उन संरक्षकों का खतरनाक प्रभाव हो सकते हैं। अगर आप गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान इसका इस्तेमाल करने जा रहे हैं, तो आपको घर पर आमला मुरब्बा तैयार करना चाहिए।

https://healthtoday7.blogspot.in/
आंवला का मुरब्‍बा विटामिन सी में समृद्ध होता है, इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से विटामिन सी की मात्रा आपके शरीर में अधिक हो सकती है जिससे मूत्र त्‍याग करते समय दर्द, दस्‍त, पेट की ऐठन, पथरी (Kidney Stones) जैसी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं। आंवला मुरब्‍बा के सबसे आम दु‍ष्‍प्रभाव पीले मल, पीठ दर्द और उच्‍च रक्‍तचापआदि हो सकते हैं। यदि आंवला मुरब्‍बा को कम मात्रा में सेवन किया जाए तो इन सभी समस्‍याओं से बचा जा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.