फॉरवर्ड बैंड्स:
फॉरवर्ड बैंड्स दो प्रकार के होते हैं। स्टैंडिंग और सीटिंग फोरवर्ड बैंड्स (Standing or seated forward bends) दोनों ही आपको कब्ज में राहत दिला सकते हैं। फॉरवर्ड बैंड्स में हम सूर्य नमस्कार का सबसे पहला भाग होता है। इसमें हम अपने घुटनों को सीधे रखकर आगे से नीचे की तरफ झुकते हैं। स्टैंडिंग फॉरवर्ड बैंड्स में आप सीधे खड़े हो जाए और दोनों हाथों को ऊपर उठा लें। अब हाथों और सिर को अपने पैर की तरफ ले जाते हुए झुकें। इस प्रक्रिया को दोहराएं। इस दौरान घुटनों को सीधा रखें। [

नीज टू चेस्ट(Knees-to-Chest):
जमीन पर सीधे लेट जाएं और अपने घुटनों को मोड़कर सीने के पास लाएं जैसे आप उन्हें गले लगा रहे हो। अब एक घुटने को वापस उसकी जगह पर ले जाएं और पैर सीधा रखें। फिर दूसरे घुटने से यही प्रक्रिया दोहराएं। आप दोनों घुटनों को एक साथ मोड़ कर भी ये आसन कर सकते हैं। इस अवस्था को योग में वाइंड रिलीविंग योगासन कहते हैं। आप इसे लेटकर या खड़े होकर किसी भी अवस्था में कर सकते हैं यह आपको एक जैसे फायदें देता है। यह आसन वयस्कों को होने वाले कब्ज के इलाज में लाभकारीहै।

इनवर्जन: https://healthtoday7.blogspot.com/
अपनी आंतों को गति में लाने के लिए इंवर्जन योगासन काफी बढ़िया उपाय है। इनमें हेडस्टैंड और शोल्डरस्टैंड आसन शामिल हैं। अगर आप नियमित रुप से योग का अभ्यास कर रहे हैं तो ही इस योगासन को करें क्योंकि विशेषज्ञ योग अभ्यास के शुरुआती दौर में इस आसन को करने की सलाह नहीं देते हैं।