Header Ads

मेडिटेशन तकनीक जिसके बारे में पुरूषों को पता होना चाहिए


मेडिटेशन तकनीक जिसके बारे में पुरूषों को पता होना चाहिए 

मेडिटेशन के कुछ ऐसे तकनीक होते हैं जिसके बारे में पुरूषों को सही से नहीं पता होता है और इस वजह से वो अपना ध्यान केंद्रित करने में असफल हो जाते हैं।





मेडिटेशन हर किसी के स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होता है चाहे वो पुरूष हो या महिला। मेडिटेशन आपको मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रखने में मदद करता है। मेडिटेशन का अभ्यास करने से आपके अंदर के सारे नकारात्मक भावनाएं खत्म हो जाती है और आप अपने जीवन को सकारात्मकता से देखने लगते हैं। रोजाना मेडिटेशन करने से पुरूष अपने गुस्से को काबू करना सिख जाते हैं। एक्सरसाइज या फिर रनिंग से बेहतर है कि आप एक आरामदायक जगह पर बैठकर मेडिटेशन का अभ्यास करें, इससे आप पूरे दिन ऊर्जावान महसूस करेंगे। इसके अलावा अगर आप अपने दिनचर्या में मेडिटेशन करने को शामिल करते हैं तो आपका मानसिक विकास भी अच्छी तरह हो पाता है। कुछ पुरूषों को मेडिटेशन के तकनीक के बारे में सही से नहीं पता होता है। आइए जानते हैं मेडिटेशन तकनीक जिसके बारे में पुरूषों को पता होना चाहिए। 
थर्ड आई पर ध्यान केंद्रित करें:
मेडिटेशन करने का यह सबसे अच्छा तकनीक होता है क्योंकि ऐसा करने पर आप आसानी से अपना ध्यान केंद्रित कर पाते हैं। इसे करने के लिए, अपनी आंखें बंद करें और दोनों आईब्रो के बीच में ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करें। शुरूआत में इसे करने में आपको थोड़ी मुश्किल होगी, अपने इंडेक्स फिंगर को दोनों आईब्रो के बीच में रखें और उसपर ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करें। यह आपके फोकस को सुधारने में मदद करता है।

खाली दीवार पर फोकस करें:
मेडिटेशन करते वक्त फोकस करने के लिए या तो आप अपनी आंखें बंद कर लें या तो किसी खाली दीवार पर एक प्वाइंट पर देखते रहें। उस वक्त आपके दिमाग में बस उस एक प्वाइंट फोकस करने के बारे में होना चाहिए नाकि किसी और चीज पर आप ध्यान हो। [

ओम का उच्चारण करें:
ओम का उच्चारण करना मेडिटेशन करने का सबसे बेहतर तरीका होता है। ओम की आवाज आपके अंदर वाइब्रेशन उत्पन्न करती है जिससे आपके शरीर में ऊर्जा आ जाती है। ध्यान को केंद्रित करने का यह भी एक बेहतर तकनीक होता है। ध्यान रखें कि ओम का उच्चारण करते वक्त आपके पेट में वाइब्रेशन हो ना कि गले में।

ईश्वर को याद करें:
मेडिटेशन करते वक्त अपनी आंखें बंद करें और उस ईश्वर को याद करें जिसे आप दिल से पूजते हैं। यह आपके अंदर एक सकारात्मक भावनाएं उत्पन्न करने में मदद करता है और साथ ही आपके ध्यान को भी केंद्रित करता है जिससे आप किसी एक चीज पर अपना ध्यान लगा पाते हैं। [

मेडिटेशन करने से आप कैसे स्वस्थ और बेहतर इंसान बन सकते हैं

मेडिटेशन करने से दिमाग शांत रहता है। मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने और दिमाग को खुश रखने के लिए मेडिटेशन करना लाभकारी होता है इसके साथ-साथ मेडिटेशन करने से आपको एक बेहतर इंसान बनने में भी मदद मिलती है।





व्यस्त जीवन, अनहेल्दी लाइफस्टाइल, काम का तनाव आदि आपको आपको धीरे-धीरे शारीरिक और मानसिक रुप से कमजोर बनाते जाते हैं। रोजाना का तनाव आपके मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालता है जिसका असर धीरे-धीरे आपके शारीरिक स्वास्थ्य पर भी दिखाई देता है। बढ़ते तनाव के कारण दिमाग में नकारात्मक विचार आने लगते हैं। दिमाग को पर्याप्त आराम ना मिलने के कारण आपको अगले दिन काम करने की ऊर्जा नहीं मिलती है। मानसिक शांति प्राप्त करने के लिए मेडिटेशन एक बेहतर विकल्प होता है। मेडिटेशन से विचारों में सकारात्मकता आती है जिससे आप एक बेहतर इंसान बनते हैं। आइए जानते हैं कि मेडिटेशन कैसे आपको स्वस्थ और बेहतर इंसान बनाने में मदद करता है। ]

1.इससे खुद पर कंट्रोल करने में मदद मिलती है: जब आपका खुद पर नियंत्रण नहीं होता तो ऐसे में लोगों का आपको गुस्सा दिलाना और बहलाना आसान हो जाता है। इस स्थिति में आप ऐसा कुछ कर बैठते हैं जो कि आपके लिए हानिकारक होता है। रोजाना मेडिटेशन करने से आपके दिमाग की शक्ति बढ़ती है जिससे आपको खुद पर कंट्रोल करने में मदद मिलती है। ऐसे में आप अपने व्यवहार को बेहतर बना पाते हैं जिससे आपको एक अच्छा इंसान बनने में मदद मिलती है।

2. रचनात्मकता को बढ़ा देता है: रोजाना एक ही तरह का काम करने के कारण आपकी रचनात्मकता कम हो जाती है क्योंकि दिमाग में नए विचार नहीं आते हैं। मेडिटेशन करने से कल्पनाशक्ति बढ़ती है और आपको रचनात्मक विचार आते हैं। रचनात्मकता से कार्यकुशलता आती है जिससे आप हर काम को शांत और बेहतर ढ़ग से कर पाने में मदद मिलती है।[

3..इससे नींद अच्छी आती है: मेडिटेशन दिमाग और नर्वस सिस्टम को रिलैक्स करता है जिससे आपको बेहतर महसूस होता है। मेडिटेशन करने से आपको अच्छी नींद आती है। मेडिटेशन दिमाग की एक्सरसाइज है जो कि आपको संपूर्ण रुप से स्वस्थ्य रखने में मदद करती है और पूरा दिन काम करने के लिए आपको इससे ऊर्जा मिलती है।

4.तनाव और डिप्रेशन को दूर करता है: तनाव धीरे-धीरे आप की कार्यक्षमता और व्यवहार पर बुरा असर डालता है। तनाव के कारण आप खुद पर भरोसा खो देते हैं और साथ ही सकारात्मकता और आत्म-शक्ति भी कम हो जाती है। रोजाना मेडिटेशन करने से हैप्पी हार्मोन सेरोटोनिन का स्तर बढ़ जाता है। खुश रहने वाला व्यक्ति दूसरों को भी खुश रखता है इसलिए मेडिटेशन बेहतर इंसान बनने में आपकी मदद करता है।
5. हर पल खुश रहने में मदद करता है: दिमाग और आत्मा की शांति और खुशी के लिए मेडिटेशन लाभकारी होता है। मेडिटेशन करने वाला व्यक्ति खुश रहने के लिए दूसरों पर निर्भर नहीं रहता बल्कि खुद में ही खुशी ढूंढता है। जो व्यक्ति खुद खुश रहता है वह दूसरों को भी खुश रहने में मदद करता है इसलिए मेडिटेशन आपको अच्छा और खुश इंसान बनाता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.