Header Ads

जीरे के फायदे


जीरे के फायदे



जीरे के फायदे

Cumin seeds

आमतौर पर तड़के के लिए इस्तेमाल होने वाला जीरा भारतीय व्यंजनों में इस्तेमाल होने वाला एक सुगंधित मसाला है. पेट से जुड़ी कई तरह की बीमारियरें करे दूर करने के लिए ये एक कारगर औषधि है. जीरे की तासीर गर्म होती है.

हममें से ज्यादातर लोगों को पता भी नहीं होता है कि जीरा एक घरेलू औषधि है जिसे कई छोटी-छोटी बीमारियों में इस्तेमाल कर सकते हैं.

1. अगर आपको सर्दी हुई है तो जीरे को अच्छी तरह से भून लें. इसे पोटली बनाकर समय-समय पर सूंघते रहें. ऐसा करने से छींक आना बंद हो जाएगी.

2. अगर आपको कब्ज या अपच की शिकायत है तो एक गिलास छाछ में काला नमक और भूना जीरा मिलाकर पी लें. ऐसा करने से कुछ देर बाद ही आराम मिल जाएगा.

3. आंवले के साथ जीरा, अजवाइन, और काला नमक मिलाकर खाने से भूख बढ़ती है. इससे दस्त में भी राहत मिलती है.

4. पानी में जीरा उबाल लें. इसे छान लें. इस पानी से चेहरा साफ करने से चेहरे पर चमक आती है.

5. जीरा और सेंधा नमक को महीन पीस लें. इस पाउडर से मसाज करने से दांतों के दर्द में तो फायदा होता ही है साथ ही मुंह की बदबू दूर हो जाती है.

6. मेथी, अजवाइन, जीरा और सौंफ को बराबर मात्रा में मिलाकर पीस लें. इस मिश्रण को एक चम्मच हर रोज खाने से शुगर, जोड़ों के दर्द और पेट के विकारों में आराम होगा. गैस की समस्या में भी इससे फायदा होगा.

7. डिलीवरी के बाद जीरे का पानी पीना अच्छा रहता है.

8. चर्म रोग में भी जीरे के पानी का इस्तेमाल किया जाता है. इससे खुजली दूर हो जाती है.

9. दही में भूना हुआ जीरा और काला नमक मिलाकर खाने से डायरिया में फायदा होता है.

10. जीरा आयरन का सबसे अच्छा स्त्रोत है, जिसे नियमित रूप से खाने से खून की कमी दूर होती है.

11. एसीडिटी से तुरंत राहत पाने के लिए, एक चुटकी कच्चा जीरा खाने से फायदा मिलता है


गुस्सा शांत करने के कुछ सरल उपाय

गुस्सा शांत करने के कुछ सरल उपाय के लिए इमेज परिणाम
क्रोध अग्नि घर घर बैठी, जरे सकल संसार
दीं लीं निज भक्त जो, तिन के निकट उबार

साथियों ये कबीर दास जी का दोहा है गुस्से को लेकर, अगर आपको बहुत गुस्सा आता है तो दूसरों पर बरसने की जगह आप कुछ सेंकेंड के लिए 1 से लेकर 10 तक गिनती गिनना शुरू कर दें। फिर देखिए, आपका गुस्सा कैसे छूमंतर होता है? यह तो आप भी जानते होंगे कि गुस्सा, बुद्धि को खा जाता है, लेकिन फिर भी गुस्सा करते हैं और अपने साथी को परेशान करते हैं। 
गुस्सा शांत करने के कुछ सरल उपाय के लिए इमेज परिणाम
यहां हम आपको गुस्से को शांत करने के कुछ अचूक उपाय बता रहे हैं।

- अक्सर देखने को मिलता है कि जब कोई व्यक्ति गुस्सा करता है तो उसके आस-पास का माहौल भी प्रभावित होता है। ऐसे में अगर आपको गुस्सा आ रहा हो तो अकेले में चले जाइए और उस समस्या के बारे में एक बार सोचिए क्या आप जिस बात या जिस पर गुस्सा कर रहे हैं? क्या वह जायज है? अगर हां तो उसका हल तलाश करें। यह पहले आपके गुस्से को कुछ ही सेकेंड में छूमंतर कर सकती है।
गुस्सा शांत करने के कुछ सरल उपाय के लिए इमेज परिणाम
-अगर आपको किसी व्यक्ति का बात करने का तरीका पसंद नहीं है। उसके हाव-भाव अच्छा नहीं लगता तो अपने गुस्से को शांत करने के लिए मेडिटेशन करें। इससे आप रिलेक्श फिल करेंगे और कुछ ही सेकेंड में आपका गुस्सा एकदम शांत हो जाएगा।

-गुस्सा आने पर गिनता गिनना शुरू कर दें। यह एक अचूक उपाय है। इससे आपको शांति मिलेगी साथ ही आपका गुस्सा भी शांत हो जाएगा।

-बोलने से पहले सोचें, गुस्से में व्यक्ति हमेशा उन शब्दों को चुनेगा और बोलेगा, जो दूसरे को चुभे, परंतु ऐसा करते समय भूल जाता है कि जब क्रोध की अवस्था समाप्त हो जाती है तो ये चुभे हुए शब्द तीर की भांति सीने में गढ़ जाते हैं। फिर ये वापस नहीं लिए जा सकते इसलिए बोलने से पहले सोचें।

-हम जानते हैं कि क्रोध एक सामान्य और स्वस्थ भावना है, लेकिन इससे एक सकारात्मक तरीके से निपटना बहुत महत्वपूर्ण है। अनियंत्रित क्रोध आपके स्वास्थ्य और रिश्तों दोनों पर बुरा प्रभाव डाल सकता है। क्रोध शब्द आते ही माथे पर तनाव से उभर आने वाली लकीरें एकाएक दिमाग के पर्दे पर पदर्शित होने लगती हैं। ना तो क्रोध करने वाला और ना ही उसके सामने वाला इस अवस्था से प्रसन्न होता हैं।

खाली पेट थोड़ा कच्चा लहसुन खाने के जबरदस्त फायदे

खाली पेट थोड़ा कच्चा लहसुन खाने के जबरदस्त फायदे के लिए इमेज परिणाम
रोजाना खाली पेट थोड़ा सा कच्चा लहसुन खाने के जबरदस्त फायदे
Benefits of Garlic Daily Eating 

लहसुन सिर्फ खाने का स्वाद ही नहीं बढ़ाता, बल्कि इसे खाने के अनेक हेल्दी फायदे भी हैं। आप सोच भी नहीं सकते कि लहसुन की एक कली कितने रोगों को खत्म कर सकती है। यह कई बीमारियों की रोकथाम और उपचार में प्रभावी है। कुछ भी खाने या पीने से पहले लहसुन खाने से ताकत बढ़ती है। यह एक महत्वपूर्ण प्राकृतिक एंटीबायोटिक की तरह काम करता है। आयुर्वेद में लहसुन को जवान बनाए रखने वाली औषधि माना गया है। साथ ही, यह जोड़ों के दर्द की भी अचूक दवा है। 
आज हम आपको बताने जा रहे हैं लहसुन खाने से होने वाले ऐसे ही कुछ फायदों के बारे में…..


1. हाई बीपी से बचाए
कई लोगों का मानना है कि लहसुन खाने से हाइपरटेंशन के लक्षणों से आराम मिलता है। यह न केवल ब्लड सर्कुलेशन को नियमित करता है, बल्कि दिल से संबंधित समस्याओं को भी दूर करता है। साथ ही, लीवर और मूत्राशय को भी सुचारू रूप से काम करने में सहायक होता है।

2. डायरिया दूर करे
पेट से जुड़ी समस्याओं जैसे डायरिया आदि के उपचार में भी लहसुन रामबाण का काम करता है। कुछ लोग तो यह दावा भी करते हैं कि लहसुन तंत्रिकाओं से संबंधित बीमारियों को दूर करने में बहुत लाभकारी होता है, लेकिन केवल तभी जब इसे खाली पेट खाया जाए।

3. भूख बढाए
यह डाइजेस्टिव सिस्टम को ठीक करता है और भूख भी बढ़ाता है। जब भी आपको घबराहट होती है तो पेट में एसिड बनता है। लहसुन इस एसिड को बनने से रोकता है। यह तनाव को कम करने में भी सहायक होता है।

4. वैकल्पिक उपचार
जब डिटॉक्सिफिकेशन की बात आती है तो वैकल्पिक उपचार के रूप में लहसुन बहुत प्रभावी होता है। लहसुन शरीर को सूक्ष्मजीवों और कीड़ों से बचाता है। अनेक तरह की बीमारियों जैसे डाइबिटीज़, ट्युफ्स, डिप्रेशन और कुछ प्रकार के कैंसर की रोकथाम में भी यह सहायक होता है।

5. श्वसन तंत्र को मजबूत बनाएं
लहसुन श्वसन तंत्र के लिए बहुत लाभदायक होता है। यह अस्थमा, निमोनिया, ज़ुकाम, ब्रोंकाइटिस, पुरानी सर्दी, फेफड़ों में जमाव और कफ आदि की रोकथाम व उपचार में बहुत प्रभावशाली होता है।

6. ट्यूबरकुलोसिस में लाभकारी
ट्यूबरकुलोसिस (तपेदिक) में लहसुन पर आधारित इस उपचार को अपनाएं। एक दिन में लहसुन की एक पूरी गांठ खाएं। टी.बी में यह उपाय बहुत असरदार साबित होता है।

सिर की खुजली और गेंदे का फूल


घरेलू नुस्खे: सिर की ‪खुजली‬ दूर करने में मददगार है ‪गेंदे‬ का फूल

कई बार ड्राई स्‍कैल्‍प, ‎रूसी‬, ‪शैंपू‬, गलत खान-पान और ‪स्‬‍कैल्‍प ‪फंगस‬ के कारण सिर में खुजली होने लगती है, जब सिर में खुजली होती है तो समझ में नहीं आता कि इसे कैसे रोका जाये। कई बार जलन और खुजाने से इसमें लाली और चकत्‍ते भी पड़ने लगते है। लेकिन अब परेशान न हो क्‍योंकि घरेलू उपचार के माध्‍यम से इस उपाय की जानकारी लेते हैं।

सिर की खुजली और गेंदे का फूल
समस्‍या से बचने के लिए महंगे उत्‍पादों को इस्‍तेमाल करने की बजाय आप गेंदे के फूल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। गेंदे के फूल हानिकारक मुक्‍त कणों के खिलाफ रक्षा में मददगार ‪फलकोनोइड्स‬ की उच्‍च मात्रा होती है। इसके अलावा गेंदा का फूल एंटी-इंफ्लेमेंटरी, ‪‎एंटीवायरल‬ और ‪एंटीबैक्‬‍टीरियल गुणों के लिए जाना जाता है। यहां सिर में खुजली दूर करने के लिए इसके इस्‍तेमाल का तरीका बताया गया है।

स्‍कैल्‍प के लिए गेंदे का अर्क
गेंदा का अर्क तैयार करने के लिए आपको 4 गेंदा के फूल, 500 मिलीलीटर पानी और आधे नींबू की जरूरत होती है। अब अर्क को बनाने के लिए पानी में गेंदे के फूल को मिलाकर कुछ देर के लिए उबालें। फिर इस पानी में ‪नींबू‬ के रस को मिला लें। ‎अर्क‬ तैयार होने के बाद, शैम्‍पू से पहले इससे अपने स्‍कैल्‍प पर अच्‍छे से मसाज करें। इसके बाद स्‍कैल्‍प को रूसी से दूर करने के लिए आप अपने बालों को सेब साइडर सिरके से भी धो सकते हैं।
बाद में किसी हल्‍के शैंपू से बालों को धो कर प्राकृतिक रूप से सूखने दें। बालों में हेयर ड्रायर के इस्‍तेमाल से बचें क्‍योंकि यह खुजली को बढ़ा सकता है। सर्वोत्‍तम परिणाम पाने के लिए इस अर्क का उपयोग नियमित आधार पर करें। इस उपाय से स्‍कैल्‍प ‪‎सोरायसिस‬ के लक्षणों से छुटकारा पाने में मदद मिलती है।

अन्‍य उपाय
प्राकृतिक तेल की मदद से भी सिर की खुजली को दूर किया जा सकता है। ड्राई स्‍कैल्‍प में भी खुजली होती है। इसलिए सिर पर ‪टीट्री‬ ‪ऑयल‬, ‪नारियल‬ का तेल, ‎ऑलिव‬ ऑयल, ‪बादाम‬ का तेल और ‪एवोकाडो‬ तेल को मिक्‍स करके लगाना चाहिए। जब तक खुजली की समस्‍या दूर नहीं हो जाती इस उपाय का इस्‍तेमाल नियमित रूप से करें।
इसके अलावा नींबू का रस भी बालों के लिए अच्छा है। सिर पर थोड़ा सा नींबू का रस मले और कुछ मिनटों के बाद बाल धो लें।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.