Header Ads

पेशाब के समय जलन होना,


पेशाब के समय जलन होना, बदबू या खून आने का एक ही इलाज दही
रोजाना एक कटोरी दही खाने से आप काफी हद तक मूत्र मार्ग में संक्रमण यूटीआई के लक्षणों से राहत पा सकते हैं। 



मूत्र मार्ग में संक्रमण या यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (यूटीआई) गुप्तांगों में होने वाली दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी समस्या है। यह समस्या पुरुषों और महिलाओं दोनों में पाई जाती है। कुछ स्वास्थ्य अवस्था जैसे डायबिटीज, मासिक धर्म का बंद होने या फिर गर्भावस्था के दौरान यह संक्रमण हो सकता है। आमतौर पर यह मूत्र मार्ग में जीवाणु के आक्रमण से होता है। यह सेक्स के दौरान एक संक्रमित व्यक्ति से दूसरे को होता है। ऐसा माना जाता हैं कि ज्यादा देर तक पेशाब को रोके रहने से भी यह संक्रमण हो सकता है। बार-बार पेशाब का आना, छींकने या खांसते समय थोड़ा सा पेशाब आना, बुखार, चक्कर आना, उल्टी होना, पेट में हल्का दर्द, पेशाब के रंग का बदलना और पेशाब करते वक्त जलन महसूस करना इसके आम लक्षण हैं।


बेशक मेडिकल क्षेत्र में इसके लिए कई इलाज हैं लेकिन आप किफायती दर पर और आसानी से मिलने वाली खाने की एक चीज से भी इस समस्या से राहत पा सकते हैं। हम बात कर रहे हैं दही की। जी हां, रोजाना एक कटोरी दही खाने से आप काफी हद तक यूटीआई के लक्षणों से राहत पा सकते हैं। 

यूटीआई के इलाज के लिए दही ही क्यों?

बहुत से लोग यह नहीं जानते हैं कि दही खाने से ब्लैडर इन्फेक्शन में राहत मिलती है। कई अध्ययन बताते हैं कि यूटीआई और दही का आपस में संबंध है। दही खाने से न केवल महिलाओं को बल्कि नहीं बल्कि पुरुषों को भी लाभ होता है। हालांकि आपको दही में चीनी मिलाकर नहीं खाना चाहिए। दरअसल मूत्र जननांग क्षेत्र में बैक्टीरिया के विकास होने पर मूत्र मार्ग में संक्रमण (यूटीआई) की समस्या होती है। इसलिए इस हिस्से से बैक्टीरिया को खत्म करना बहुत जरूरी होता है। दही एक नेचुरल प्रोबायोटिक है। इसके तत्व नेचुरल एंटीबायोटिक होते हैं। इसमें मौजूद लैक्टोबैसिलस और गुड बैक्टीरिया यूटीआई के लिए जिम्मेदार हानिकारक बैक्टीरिया को नष्ट करने में मदद करते हैं। इसके अलावा दही से हानिकारक जीवाणुओं को मारने और आंत्र वनस्पति को बनाए रखने में मदद मिलती है। 

यह भी पढ़ें- सिर्फ सेक्स पावर ही नहीं बढ़ाती, कैंसर और डायबिटीज से भी बचाती है यह हरी सब्जी
यूटीआई के इलाज के लिए कितनी दही खानी चाहिए?

अधिकतर विशेषज्ञों के अनुसार, यूटीआई से निपटने ने और इससे दूर रहने के लिए रोजाना एक कटोरी दही खानी चाहिए। अमेरिकन सोसायटी जर्नल फॉर क्लीनिकल न्यूट्रीशन में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, एक हफ्ते में तीन बार से अधिक मिल्क प्रोडक्ट खाने से यूटीआई के लक्षणों से राहत मिलती है। इसके अलावा आप रोजाना कम से कम आठ गिलास पानी पियें। इससे शरीर से टोक्सिन बाहर निकलने में और यूटीआई की पुनरावृत्ति को रोकने में मदद मिलती है।



सिर्फ सेक्स पावर ही नहीं बढ़ाती, कैंसर और डायबिटीज से भी बचाती है यह हरी सब्जी
शतावरी का जूस पीने से आपको डायबिटीज कंट्रोल करने और अवसाद से छुटकारा पाने में मदद मिलती है।




शतावरी (Asparagus) एक औषधीय पौधा है जिसका उपयोग कई दवाइयों में होता है। परंपरागत रूप से शतावरी को महिलाओं की जड़ी बूटी माना गया है, हांलाकि यह पौधा पुरुषों के हार्मोन लेवल को बढ़ा कर उनकी कामुकता में भी इजाफा कर सकता है। यह एक झाड़ीनुमा पौधा होता है, जिसमें फूल व मंजरियां एक से दो इंच लम्बे एक या गुच्छे में लगे होते हैं. शतावरी का रस लेने से शरीर की गर्मी, अम्लता तथा पेट के अल्सर के इलाज में फायदा होता है। अध्ययनों के अनुसार, इस सब्जी के कई स्वास्थ्य लाभ हैं। शतावरी का जूस पीने से आपको डायबिटीज कंट्रोल करने और अवसाद से छुटकारा पाने में मदद मिलती है। चलिए जानते हैं इससे आपको क्या-क्या फायदे होते हैं। 
1) डायबिटीज करे कंट्रोल

ब्रिटिश जर्नल ऑफ न्यूट्रीशन में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, शतावरी का जूस पीने से इंसुलिन के स्राव में सुधार लाने में मदद मिलती है और टाइप 2 डायबिटीज का खतरा कम होता है। 
2) कैंसर से करे बचाव

एंटीऑक्सीडेंट, फ़्लवोनोइड्स और इन्फ्लैमटोरी तत्त्वों से भरपूर शतावरी का ह्यूमन कोलोन कार्सिनोमा सेल्स पर एंटीकैंसर प्रभाव पड़ता है। 
3) लीवर रहता है हेल्दी

यह एक नेचुरल मूत्रवर्धक है, जिसका मतलब है कि ये पेशाब बढ़ाती है और लीवर को साफ करने में मदद करती है। 

4) अवसाद से बचाव

शतावरी एक एंटीडिप्रेसन्ट के रूप में काम करती है। जर्नल न्यूरोसाइंस में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, शतावरी का जूस पीने से अवसाद को रोकने में मदद मिलती है।

5) कब्ज से बचाती है
शतावरी में भरपूर मात्रा में पानी और फाइबर होते हैं, जिस वजह से ये सब्जी पाचन में सुधार करने और आपको कब्ज जैसी गंभीर समस्या से बचाने में सहायक है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.