Header Ads

सादी से पहले परफ़ेक्ट फ़िगर पाने के टिप्स

सादी से पहले परफ़ेक्ट फ़िगर पाने के टिप्स
Image result for शादी से पहले परफ़ेक्ट फ़िगर पाने के टिप्स




हर लड़की का सपना होता है कि अपनी शादी के दिन वह दुनिया कि सबसे ख़ूबसूरत दुल्हन दिखे। इसलिए शादी से पहले वो या तो सौंदर्य प्रसाधन अपनाने की सोचती है या फिर डायट करने लगती है। जिससे वो एक परफ़ेक्ट शेप में और सुन्दर भी दिखे। बॉडी को परफ़ेक्ट शेप में लाने और आंतरिक रूप से स्वस्थ बनाने का सिर्फ़ एक ही उपाय है सही खानपान के साथ सही एक्सरसाइज़ करना।

सही खानपाने के साथ सही व्यायाम न केवल आपके बाह्य रूप को निखारता है बल्कि आपके शरीर को आंतरिक रूप से भी स्वस्थ रखता है। जिससे आपके मन को शक्ति मिलती है और आपमें आत्मविश्वास भी पैदा होता है। ऐसा होने पर शादी को पूरी तरह से एंजॉय करने का मूड बन जाता है।
शादी से पहले सही shape और body टोन
खानपान का ध्यान रखें, न कि daiting करें 
खाना खाने की आदत बदलने की बजाय आप दिन भर में थोड़ा थोड़ा करके 5 से 6 बार हेल्दी खाना खायें। 
कम अंतराल पर बार बार खाना खाने से मेटाबॉलिज़्म बढ़ता है जिससे शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है। 
अपने खाने में कच्चे फल व सब्जियाँ अवश्य होने चाहिए। सलाद को अपनाना समझदारी है। 
प्रोटीन युक्त खाना जैसे पनीर, बींस, मछली आदि खायें। जिससे माँसपेशियाँ स्वस्थ रहती हैं और शारीरिक विकास सही रहता है। 
हर घंटे में एक बार पानी ज़रूर पिएँ क्योंकि यह आपको स्लिम रखने में बहुत मदद करता है। 
गुनगुने पानी के साथ अदरक या पुदीने के रस का सेवन करने से शरीर से टॉक्सिन निकल जाते हैं। 
व्यस्क शरीर को दिन में 2000 कैलोरी की ज़रूरत होती है। जबकि हम चाय-समोसे या घी के पराठे खाकर ज़्यादा कैलोरी ले लेते हैं। 
रात के खाने में सूप लेना बेहतर रहेगा जो बढ़ी हुई कैलोरी को कंट्रोल करेगा। 
इन बातों का ख़ास ख़याल रखें


कुछ बातों को ख़ास ख़याल रखने की बेहद ज़रूरत होती है। जो शादी से पहले परफ़ेक्ट फ़िगर पाने का सपना तोड़ सकती हैं। इसलिए इन्हें कभी इगनोर न करें। 
ज़्यादा मिठाई या मीठी चीज़ें खाने से बचना चाहिए। 
सोडा गैस वाली ड्रिंक बिलकुल नहीं लेनी चाहिए। 
नमक का प्रयोग कम कर देना चाहिए। नमक का अधिक सेवन करने से शरीर में अतिरिक्त पानी की
आवश्यकता होती है। इसलिए एक दिन में 10 ग्राम नमक खाने की सलाह दी जाती है। 
अच्छी शुरुआत के लिए टिप्स


किसी भी बात की सफलता उसकी अच्छी शुरुआत पर निर्भर करती है। इसलिए आइए जानें कि एक बढ़िया शुरुआत कैसे करें? इन बिंदुओं का विशेष ध्यान रखने की ज़रूरत है – 
ख़ुद को फ़िट रखने का वादा करके उसे निभाने का टाइम है। सही खानपान के साथ एक्सरसाइज़ करना न भूलें। 
शरीर का ऊर्जा स्तर कायम रखने के लिए चिंता मुक्त रहना ज़रूरी है। मानसिक स्थिति हमारे शरीर पर प्रभाव डालती है, इसलिए ख़ुश और खिले खिले रहना सीखिए। 
बेडौल शरीर को शेप में लाने के लिए एरोबिक्स, साइकलिंग और सर्किट प्रशिक्षण आदि को अपनाइए। 
मानसिक शांति के लिए योगासन, डांस और तैराकी करनी चाहिए। इससे शरीर में स्फूर्ति रहेगी। हालांकि इनसे शरीरिक बनावट में बदलाव के लिए लम्बा समय चाहिए होता है। 

ये कुछ टिप्स थी जो आपका शादी से पहले परफ़ेक्ट फ़िगर पाने का सपना सच कर सकती हैं। आप ज़रूर ही इनका ध्यान रखेंगी और अपनी शादी को यादगार बनाएंगी।


कई बीमारियों की दवा है अदरक

अदरक को आयुर्वेदिक महा-औषधि के रूप में जाना जाता है। कई वैज्ञानिक शोध इस बात की पुष्टि भी करते हैं। अदरक में शरीर के लिए आवश्यक सभी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। ताजा अदरक में 81% पानी, 2.5% प्रोटीन, 1% वसा, 2.5% रेशे और 13% कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। इस लेख को पढ़ कर जाने अदरक के फायदों के बारे में।
अदरक में आयरन, कैल्शियम, आयोडीन, क्लो‍रीन व विटामिन सहित कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं। अदरक को ताजा और सूखा दोनों प्रकार से प्रयोग किया जा सकता है। अदरक एक मजबूत एंटीवायरल भी है। आइए हम आपको अदरक के फायदे के बारे में बताते हैं। 
अदरक खाने के फायदे
त्वचा के लिए

अदरक का सेवन करने से त्वचा आकर्षित और चमकदार होती है। सुबह-सुबह खाली पेट एक गिलास गुनगुने पानी के साथ अदरक का टुकडा खाइए। इससे आपकी त्वचा में निखार आएगा और आप जवां दिखेंगे। 
खांसी के लिए

खांसी में अदरक बहुत फायदेमंद होता है। खांसी आने पर अदरक के छोटे टुकडे को बराबर मात्रा में शहद के साथ गर्म करके दिन में दो बार सेवन कीजिए। इससे खांसी आना बंद हो जाएगा और गले की खराश भी समाप्त होगी।
भूख की कमी के लिए

अगर भूख लगने में दिक्कत हो रही हो तो अदरक का नियमित सेवन करने से भूख न लगने की समस्या का निजात मिल जाएगा। अदरक को बारीक काटकर, थोडा सा नमक लगाकर दिन में एक बार लगातार आठ दिन तक खाइए। इससे पेट साफ होगा और ज्यादा भूख लगेगी। 


हाजमे के लिए


पेट और कब्ज की समस्या के लिए अदरक बहुत फायदेमंद है। अदरक को अजवाइन और नींबू के रस के साथ थोडा सा नमक मिलाकर खाइए। इससे पेट का दर्द ठीक होगा और खट्टी-मीठी डकार आना बंद हो जाएगी। 

उल्टी के लिए 


अगर बार-बार उल्टी आ रही हो तो अदरक को प्याज के रस के साथ दो चम्मच पिला दीजिए। इससे उल्टी आना बंद हो जाएगी। 

सर्दी और जुकाम


सर्दी और जुकाम में अदरक बहुत फायदेमंद है। सर्दी होने पर अदरक की चाय पीने से फायदा होता है। इसके अलावा अदरक के रस को शहद में मिलाकर गर्म करके पीने से फायदा होता है। 

कैंसर के लिए

अदरक में कोलेस्ट्राल का स्तर कम करने, खून का थक्का जमने से रोकने, एंटी फंगल और कैंसर के प्रति प्रतिरोधी होने के गुण भी पाए जाते हैं। 

अन्य बीमारियां 


अदरक को दवा के रूप में भी प्रयोग किया जाता है। अदरक का सेवन करने से गठिया, अर्थराइटिस, साइटिका, गर्दन और रीढ की हड्डियों के रोग (सर्वाइकल स्पांसडिलाइटिस) के इलाज में किया जा सकता है। अदरक महिलाओं में मासिक धर्म की अनियमितता को दूर करने में भी मददगार होता है। 

अदरक के अन्य फायदे 
अदरक खाने से मुंह के हानिकारक बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं। 
अदरक का कोलेस्ट्रोल को भी कंट्रोल करता है जिसके कारण ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है। 
अदरक का प्रयोग करने से शरीर में खून के थक्के नहीं जमते। 
अदरक का रस और पानी बराबर मात्रा में पीने से दिल सम्बंधित बीमारियां नहीं होतीं। 

अदरक की तासीर गर्म होती है। गर्मी के मौसम में अदरक का सेवन नहीं करना चाहिए और यदि आवश्यकता हो तो कम से कम मात्रा में प्रयोग करना चाहिए।



विद्यार्थियों को तो इन उपायों को अवश्य ही करना चाहिए
.दिमाग तेज करने के घरेलू उपाय
कुछ आसान से घरेलू उपाय को बता रहे है जिससे आप सभी निश्चित ही अपना दिमाग तेज कर सकते है

1.ब्राह्मी :– ब्राह्मी दिमागी शक्ति (mind power) बढ़ाने की बहुत ही मशहूर जड़ी-बूटी है। इसका नित्य एक चम्मच सेवन करना बहुत ही लाभदायक होता है। ब्राह्मी मे एन्टी ऑक्सीडेंट तत्व पाये जाते हैं जिससे हमारे दिमाग की शक्ति बढ़ती है दिमाग काम के ज्यादा बोझ के बाद भी थकता नहीं है। 
2.बादाम :– बादाम हमारे दिमाग की कार्य क्षमता बढ़ाने में बहुत मदद करता है । 5 बादाम को रात में पानी में भिगो दें । सुबह इनके छिलके उतारकर इन्हे बारीक पीस कर इसका पेस्ट एक गिलास हलके गुनगुने दूध में 2 चम्मच शहद डाल कर अच्छी तरह से मिला कर ग्रहण करें। कोशिश करें कि इसका सेवन करने के लगभग 1 घंटे तक कुछ भी ना लें। इसके नित्य सेवन से थोड़े ही समय में आपका दिमाग कंप्यूटर की तरह काम करने लगेगा ।


10 बादाम को रात में पानी में भिगोकर सुबह उनका छिलका उतार कर इसे 10 ग्राम मक्खन और 10 मिश्री के साथ मिलाकर लगातार खाने से दिमाग बहुत तेज हो जाता है, भूलने की समस्या समाप्त हो जाती है ।


3.अखरोट :– अगर आप चाहते है कि आपकी स्मरण शक्ति बहुत ही तेज हो तो आप नित्य अखरोट का सेवन अवश्य ही करें । हमारे दिमाग की संरचना बिलकुल अखरोट की तरह ही होती है । हमें नित्य 20 ग्राम अखरोट 10 ग्राम किशमिश के साथ चाहिए। इससे दिमाग तेज होता है, हमें चीज़े लम्बे समय तक याद रहती है । लेकिन गर्मी में इसका प्रयोग कम करना चाहिए 


4.अलसी का तेल :– अलसी का तेल हमारी स्मरण शक्ति और एकाग्रता दोनों ही बढाता है। इसके सेवन से दिमाग बहुत ही सक्रीय रहता है । अलसी एक तेल का नियमित रूप से सेवन करने से मष्तिष्क सम्बन्धी कोई भी बीमारी नहीं होती है। छात्रों और दिमागी काम करने वालो को इसे अवश्य ही लेना चाहिए ।


5.दालचीनी :– नित्य रात को सोते समय 10 ग्राम दालचीनी के पाउडर को शहद में मिलाकर चाट लें, और फिर कुछ भी नहीं लें । इससे दिमाग की कमजोरी दूर होती है, काम में मन भी लगता है ।
6.काली मिर्च :– प्रतिदिन 6 से 7 काली मिर्च में 25 से 30 ग्राम मक्खन और मिश्री मिलाकर खाने से भूलने की बीमारी दूर होती है, दिमाग तेज रहता है ।

7.आंवले का मुरब्बा :– सुबह खाली पेट आंवले का मुरब्बा खाने से दिल और दिमाग दोनों को ही ताकत मिलती है।

8.गुलकन्द :– विधार्थियों को गुलकन्द को नित्य दिन में दो से तीन बार खाना चाहिए इससे भी स्मरण शक्ति तेज होती है, पढ़ा हुआ पाठ याद रहता है ।


9.पालक :– स्मरण शक्ति या दिमाग तेज करने के लिए पालक सर्वोतम आहार माना जाता है । पालक में विटामिन बी 9 जिसे फोलेट या फोलिक एसिड के नाम से भी जाना जाता है प्रचूर मात्रा में पाया जाता है। विटामिन बी 9 के अलावा पालक में विटामिन बी 2 और विटामिन बी 6 भी पाए जाते हैं जो हमारे दिमाग को बेहद सक्रीय बनाते है । पालक में ओमेगा 3 फैटी एसिड्स भी प्रचूर मात्रा में होते हैं जो हमारे मष्तिष्क के लिए बहुत हीं आवश्यक होता हैं । इससे हमारी स्मरण शक्ति एकाग्रता बढती है, हमारा मन काम में लगता है हमें मानसिक थकान भी नहीं होती है । पालक में विटामिन ए, के, इ, सी, तथा जरुरी खनिज जैसे जिंक, मैगनिसिअम , कैल्सियम इत्यादि भी पाए जाते हैं। इसलिए नियमित रूप से पालक का सेवन करें।


लेकिन जिन लोगों को गुर्दे की पथरी की अथवा गुर्दे की कोई और बीमारी है उन्हें पालक का सेवन नहीं करना चाहिए।


10.गेहूँ के पौधे का रस :– स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए गेहूँ के पौधे का रस भी बहुत ही लाभदायक है । इसको कुछ दिनों तक नित्य पीने से भूलने की बीमारी दूर होती है, स्मरण शक्ति बढ़ती है ।


11.डार्क चॉकलेट :– डार्क चॉकलेट यानि भूरे रंग के चॉकलेट से भी स्मरण शक्ति तेज होती है दिमाग की कार्यक्षमता बढ़ती हैं लेकिन इसे कम ही खाना चाहिए क्योंकि इसके ज्यादा सेवन से वजन बढ़ता है ।


12.जामुन :– दिमाग तेज करने के लिए गर्मी के दिनों में जामुन का भी अवश्य ही सेवन करना चाहिए । जामुन में आपकी स्मरण शक्ति तेज करने की पूरी क्षमता होती है।इसमें फीसेटिन पाया जाता है जिसकी वजह से हमको पिछली बाते या पढ़ी या सुनी गई बातें याद करने में बहुत मदद मिलती है।

13.घी से मालिश:–अगर किसी को लगता है कि उसकी स्मरण शक्ति कमजोर हो रही है, उसका काम में मन नहीं लगता है तो गाय के घी से सिर पर कुछ दिनों तक मालिश कराइये इससे पुन: स्फूर्ति आ जाएगी, दिमाग की कमजोरी भी दूर हो जाएगी।
सुंदर और लुभावना तथा लालिमायुक बनाये





चेहरा सुंदर और लुभावना तथा लालिमायुक बनाये
==================================
1 चुकंदर
 टमाटर
 गाजर 


लेकर इनका रस निकालकर रोज शाम को पीऐ,

इसी प्रकार तीन माह तक सेवन करते रहे 

* इस रस के सेवन करते रहने से चेहरे के दाग ,धब्बे दूर होकर वह लालिमायुक हो जाता है
= टमाटर का 100 ग्राम रस मे आधा नींबू निचोड़कर 7-8 पुदीना की पत्तीयो को पीसकर मिलाऐ,इस पेय स्वादानुसार काला या सैधा नमक मिलाकर पी जाऐ 


$- तीन माह तक सुबह शाम इस प्रयोग को करते रहने से दाग धब्बे दूर होकर चेहरा कांतिमय हो जाता है

आप का चेहरा सुन्दर और लुभावना हो जाता है 
चूना जो आप पान में खाते है वो सत्तर बीमारी ठीक कर देते है....!

" चूना अमृत है " ..



* चूना एक टुकडा छोटे से मिट्टी के बर्तन मे डालकर पानी से भर दे , चूना गलकर नीचे और पानी ऊपर होगा ! वही एक चम्मच पानी किसी भी खाने की वस्तु के साथ लेना है ! 50 के उम्र के बाद कोई कैल्शियम की दवा शरीर मे जल्दी नही घुलती चूना तुरन्त घुल व पच जाता है ...

 जैसे किसी को पीलिया हो जाये माने जॉन्डिस उसकी सबसे अच्छी दवा है चूना ;गेहूँ के दाने के बराबर चूना गन्ने के रस में मिलाकर पिलाने से बहुत जल्दी पीलिया ठीक कर देता है ।
ये ही चूना नपुंसकता की सबसे अच्छी दवा है -अगर किसी के शुक्राणु नही बनता उसको अगर गन्ने के रस के साथ चूना पिलाया जाये तो साल डेढ़ साल में भरपूर शुक्राणु बनने लगेंगे; और जिन माताओं के शरीर में अन्डे नही बनते उनकी बहुत अच्छी दवा है ये चूना ।



* बिद्यार्थीओ के लिए चूना बहुत अच्छा है जो लम्बाई बढाता है ..
* गेहूँ के दाने के बराबर चूना रोज दही में मिला के खाना चाहिए, दही नही है तो दाल में मिला के खाओ, दाल नही है तो पानी में मिला के पियो - इससे लम्बाई बढने के साथ स्मरण शक्ति भी बहुत अच्छा होता है ।
* जिन बच्चों की बुद्धि कम काम करती है मतिमंद बच्चे उनकी सबसे अच्छी दवा है चूना ..जो बच्चे बुद्धि से कम है, दिमाग देर में काम करते है, देर में सोचते है हर चीज उनकी स्लो है उन सभी बच्चे को चूना खिलाने से अच्छे हो जायेंगे ।

* बहनों को अपने मासिक धर्म के समय अगर कुछ भी तकलीफ होती हो तो उसका सबसे अच्छी दवा है चूना । हमारे घर में जो माताएं है जिनकी उम्र पचास वर्ष हो गयी और उनका मासिक धर्म बंध हुआ उनकी सबसे अच्छी दवा है चूना..

* गेहूँ के दाने के बराबर चूना हर दिन खाना दाल में, लस्सी में, नही तो पानी में घोल के पीना । जब कोई माँ गर्भावस्था में है तो चूना रोज खाना चाहिए क्योंकि गर्भवती माँ को सबसे ज्यादा केल्शियम की जरुरत होती है और चूना केल्शियम का सबसे बड़ा भंडार है । गर्भवती माँ को चूना खिलाना चाहिए ..अनार के रस में - अनार का रस एक कप और चूना गेहूँ के दाने के बराबर ये मिलाके रोज पिलाइए नौ महीने तक लगातार दीजिये..तो चार फायदे होंगे -


पहला फायदा :-
माँ को बच्चे के जनम के समय कोई तकलीफ नही होगी और नॉर्मल डीलिवरी होगा,

दूसरा :-
बच्चा जो पैदा होगा वो बहुत हृष्ट पुष्ट और तंदुरुस्त होगा ,


तीसरा फ़ायदा :-
बच्चा जिन्दगी में जल्दी बीमार नही पड़ता जिसकी माँ ने चूना खाया ,

चौथा सबसे बड़ा लाभ :-
बच्चा बहुत होशियार होता है बहुत Intelligent और Brilliant होता है उसका IQ बहुत अच्छा होता है ।


* चूना घुटने का दर्द ठीक करता है , कमर का दर्द ठीक करता है ,कंधे का दर्द ठीक करता है,



* एक खतरनाक बीमारी है Spondylitis वो चूने से ठीक होता है ।



* कई बार हमारे रीढ़की हड्डी में जो मनके होते है उसमे दुरी बढ़ जाती है Gap आ जाता है - ये चूना ही ठीक करता है
उसको; रीड़ की हड्डी की सब बीमारिया चूने से ठीक होता है । अगर आपकी हड्डी टूट जाये तो टूटी हुई हड्डी को जोड़ने की ताकत सबसे ज्यादा चूने में है । चूना खाइए सुबह को खाली पेट ।


* मुंह में ठंडा गरम पानी लगता है तो चूना खाओ बिलकुल ठीक हो जाता है ,

* मुंह में अगर छाले हो गए है तो चूने का पानी पियो तुरन्त ठीक हो जाता है ।

* शरीर में जब खून कम हो जाये तो चूना जरुर लेना चाहिए , एनीमिया है खून की कमी है उसकी सबसे अच्छी दवा है ये चूना , चूना पीते रहो गन्ने के रस में , या संतरे के रस में नही तो सबसे अच्छा है अनार के रस में - अनार के रस में चूना पिए खून बहुत बढता है , बहुत जल्दी खून बनता है - एक कप अनार का रस गेहूँ के दाने के बराबर चूना सुबह खाली पेट ।

* घुटने में घिसाव आ गया और डॉक्टर कहे के घुटना बदल दो तो भी जरुरत नही चूना खाते रहिये और हरसिंगार के पत्ते का काढ़ा खाइए घुटने बहुत अच्छे काम करेंगे ।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.