Header Ads

इसलिए पुरूष नहीं पहनना चाहते हैं कंडोम


इसलिए पुरूष नहीं पहनना चाहते हैं कंडोम


वैवाहिक जीवन हो या फिर लव कपल्स सभी में प्यार का एहसास करना जरूरी होता है। और साथ ही सेक्स का आनन्द इस संबध को और अधिक मजबूत बनाता है। लेकिन जरूरी है कि आपका सेक्स संबध सुरक्षा की दृष्टि से सही हो लेकिन इसके लिए अधिकतर महिलाओं को ही सुरक्षित सेक्स के लिए आगे आना पड़ता है। क्योंकि पुरूष अधिकतौर पर सेक्स के दौरान कंडोम लगाना पसंद नहीं करते है।
* कई पुरूषों का कहना होता है कि वह इस प्लास्टिक को पहनने के बाद मजा नहीं आता है और फिर सेक्स का मजा किराकिरा हो जाता है।

* अगर महिला का पीरियड्स खत्म हो चुका है तो उन्हे सेफ पीरियड्स का बहाना मिल जाता है। और फिर यह बहाना के चलते पुरूष कंडोम नहीं लगाना चाहते हैं।


* कई पुरूष कंडोम नहीं पहनने के यह एक्सक्यूज़ भी देते हैं की तुम गोली खा लेना क्योंकि कंडोम से मज़ा नहीं आएगा। इससे हमारे रिलेशन के चार्म पर कोई असर भी नहीं पड़ेगा।


* बहुत से पुरूषों का मानना होता है कि वे खुद पर कंट्रोल कर सकते है और वह पार्टनर को प्रेग्‍नेंट होने से बचा लेगें। और फिर कंडोम को बिना पहने ही सेक्स में जुट जाते हैं।


सुहागरात पर दुल्हन पिलाती है दूल्हे को दूध, क्या है इसका राज





नई नवेली दुल्हन सुहागरात की रात दूध का गिलास लेकर कमरे में जाती है और अपने पति को अपने हाथों से दूध पिलाती है। यह सब देख कर आपके मन में भी यह सवाल उठा होगा की आखिर सुहागरात के पहले दुल्हन दूल्हे को यह दूध से भरा गिलास क्यों देती है? लेकिन यह एक रस्म है और इसके कई वैज्ञानिक कारण भी है।

* सेक्स की इच्छा में इजाफा: इस दूध में कई तरह के मसलो से लेकर बादाम, केसर तक मिलाया जाता है। जिस वजह से दूध में ऐसे तत्व उत्पन्न होते है। जो की हमारी सेक्स इच्छा को बढ़ा देते है। साथ ही इसके नियमित सेवन से पुरुषो के स्पर्म काउंट और मेटिलिटी में भी इजाफा होता है।

* इम्युनिटी और पाचन क्रिया में बढ़ोतरी: यह दूध हमारी पाचन शक्ति को सुधारने के साथ ही हमारे यमुने सिस्टम को भी मजबूती प्रदान करता है। जिसकी मदद से आप सुहागरात पर बेहतर परफॉर्म कर सकते है।


* जोश और एनर्जी: भारतीत्य शादियां काफी थका देने वाली होती है। शादियों में निभाई जाने वाली रस्मो और रिवाजो से दूल्हा दुल्हन थक जाते है। ऐसे में यह दूध पुरुषो की थकान दूर कर उनमे जोश भर देता है। जिसका सीधा फायदा बेड पर मिलता है।

* नजदीकी: अपनी सुहागरात पर दूल्हा दुल्हन पहली बार एक दुसरे के करीब आते है। ऐसे में जिझक होना स्वाभाविक है। ऐसे में यह दूध का गिलास आपकी झिझक को मिटाने में में मदद कर सकता है। इससे आप दोनों के बीच बातचीत शुरू की जा सकती है।
सर्दियों में इसलिए ज्यादा कामुक हो जाते हैं लव कपल्स



वैवाहिक जीवन हो या फिर लव रिलेशनशिप अगर आप किसी सेक्स रिलेशनशिप में हो तो यह मौसम आपके लिए काफी फायदेमंद होता है जी हाँ हम ठंड यानि की सर्दी के मौसम की बात कर रहे हैं। जिसमें महिलाओं और पुरूषों दोनों ही सेक्स के लिए ज्यादा उत्तेजित होते हैं। इसलिए शायद इस मौसम में ज्यादा से ज्यादा सेक्स किया जाता है। सर्दी एक ऐसा मौसम होता है जिसमें कपल्स का मूड का काफी अच्छा होता है। 

ये है कारण:

 सर्दियों के मौसम में शरीरिक गर्मी एक दूसरों का गर्म रखने में काफी काम आती है और इसलिए माहिलाओं को इस मौसम में उसके पार्टनर के करीब आना ज्यादा अच्छा लगता है।

* कपल्स बिस्तर पर लेटें है तो लेटते ही महिलाओं के मन में सेक्स को लेकर विचार चलने लगते है। और इसलिए वह पुरूष को सेक्स के लिए उत्साहित करने लगती हैं।


* महिलाए इस मौसम में कोई संगन्धित खुशबू वाला परफ्यूम इस्तेमाल करती है। तो बिस्तर पर यह आपके पार्टनर को आपके करीब लाने का काम करता है।

* सर्दियों का मौसम काफी ताजगी भरा होता है और ऐसे में पसीने जैसी कोई परेशानी नहीं होती इसलिए कपल्स एक दूसरे के साथ बड़ी ही असानी से संबध बना लेते हैं।




शारीरिक सम्बन्ध दौरान इसलिए रोती है महिलाये



पुरूष-महिला के रिश्ते के दौरान संभोग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसका आनंद हर कोई उठाना चाहता है। लेकिन इससे होने वाले दर्द की वजह से हर लड़की इससे कतराती है। संभोग का समय उन महिलाओं के लिए सबसे कठिन होता है जो पहली बार प्रेम संबंध स्थापित करने वाली होती है। इसी चिंता में वो महिला शादी का आनंद भी भरपूर नहीं उठा पाती। आइये जानते है कि क्यों महिलाएं पहली बार संभोग करते समय रोने लगती हैं।
इसलिए रोटी है लड़कियां:

* संभोग को लेकर लड़कियों के मन में एक डर बैठ जाता है। जब संभोग का समय आता है तो उन्हें पुरानी बातें याद आती है जैसे की ब्लडिंग का आना, दर्द होना इस कारण लड़कियां डर के मारे रोने लगती हैं।


* लड़की के योनी में मांसपेशी अधिक टाईट होते हैं। जिसके कारण संभोग करते समय खिचाव महसूस होता है। इस खींचाव से दर्द होने लगता है उसके कारण असहनीय दर्द होता है और लड़कियां रोने लगती हैं।


* कुछ नई पोजीशंस का इस्तेमाल पहली बार संभोग के दौरान करना चाहिए। इसके लिए आपको अपने मन से संभोग में होने वाले दर्द व अन्य मित्थाओं को दूर कर देना चाहिए।

* कुछ ज्यादा ही दर्द हो रहा है तो ऐसे में आपको डॉक्टर की सलाह लेना चाहिए क्योंकि लड़कियों के योनी में इंफैक्शन के कारण भी दर्द होता है जो चेकप करने के दौरान पता कर उसका सही इलाज बता सकतें हैं।


अगर रोज नहीं करेंगे संभोग तो हो सकते है ये नुकशान



हमारे समाज में शारीरिक संबंधों को लेकर एक गलत धारणा सी बन गई है जिसे हर लोग शर्म की दृष्टि से देखते है। जबकि पति पत्नि के बीच के ये संबंध आपसी प्रेम को बढ़ाने में काफी मदद करते है। शोधों एंव डॉक्‍टरों का भी मानना है कि जो नियमित सेक्‍स करते हैं, वे लोग कम बीमार पड़ते हैं इसलिए नियमित रूप से रोज नहीं कर सकते तो सप्ताह एक बार शारीरिक संबंध हर उम्र वर्ग को बनाये रखना जरुरी होता है। 

# इम्यून सिस्टम: यौन संबंध नियमित रूप से रोज करने से महिलाओं में प्रेगनेंसी के चांस बढ़ जाते हैं इसके अलावा शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत बनता है। शरीर में रोग नही बढ़ सकते है।


# कामेच्छा: कम सेक्स करने से उत्तेजित होने वाले हार्मोन्स भी कम होने लगते हैं। जिससे अपने आप में मायूसी आने लगती है। लोग इससे डिप्रशेन का शिकार होने लगते है।


# तनाव : सेक्‍स करते रहने से शरीर में स्फूर्ति और जोश आता है। जो लोग शारीरिक संबंध बनाने से दूर भागते है। उनमें तनाव के साथ हाई ब्‍लड प्रेशर के बढ़ने की सम्भावनाएं बढ़ने लगती है।


# हार्ट अटैक: रोजाना या साप्ताहिक सेक्‍स करने से हृदय घात या दिल संबंधी बामीरियां दूर हो जाती है। जो लोग नियमित सेक्‍स नहीं करते हैं तो वो अपने अंदर का sexual frustration ट्रेडमिल पर उतार सकते हैं।

# वैजाइना का टाइट होना: आमतौर पर लोगो का मानना हैं कि काफी दिनों तक शारीरिक संबंध ना बनाए जाएं तो महिलाओं की वैजाइना में काफी परिवर्तन देखने को मिलता है। वो अंग पहले से ज्यादा सख्त बन जाते है।

शारीरिक संबंध बनानें से तनाव ही नहीं त्वचा में आता है निखार !!


आजकल लड़कियां अपनी सुंदरता बढ़ने के लिए तरह तरह के कॉस्मेटिक्स का इस्तेमाल करती है। जिनका असर कुछ समय का होता है। लेकिन अगर आप अपने इस खर्चे को बचाना चाहते हैं, तो अपने पार्टनर को बिस्तर पर लेकर जाएं और एकदम साफ सूथरी त्वचा पाएं। आप अपनी सेक्स लाइफ को दोगुना करने से आप पा सकती हैं बेदाग और निखरी त्वचा।

# अधिक सुंदर त्वचा: एक्सरसाइज करने से ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है। जब आप एक्सरसाइज करती हैं, तो ब्लड और भी ऑक्सीजन खींचता है, जिससे त्वचा में ग्लो आता है। ठीक इसी तरह सेक्स के दौरान भी ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है।


# उम्र से कम लगेंगी: कोर्टिसोल नाम का हार्मोन ही झुर्रियों के लिए जिम्मेदार होता है। रोजाना शारीरिक संबध बनाने से अच्छे हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है। जिसकी मदद से आप जवां दिखने लगते हैं।


# फुलर लिप्स: शारीरिक संबंध बनाते समय किस करने से आपके होंठों का आकार बदल कर फुलर होते हुए दिखने लगेगा। सेक्स से दिल का स्तर बढ़ता है, जिससे ब्लड सर्कुलेशन में मदद मिलती है। इससे होंठों को फुलर माना जाता है।


# बेहतर नींद: अपने पार्टनर के साथ बिस्तर पर आराम से अपनी नींद पूरी कर सकती हैं। ऐसा करने से आप अगली सुबह काफी ताजा महसूस करने लगेंगी। आप इसके लिए ऑससीटोसिन का शुक्रिया अदा करने लगेंगी। पूरे दिन आपको आराम मिलेगा।


स्त्रियों के ये अंग होते हैं सबसे ज्यादा कामुक


महिलाओं के कुछ अंग ऐसे होते हैं जिन पर हर मर्द की नजर बनी रहती है। ये कुछ ऐसे अंग है जिन्हें देखते ही पुरुषों में सेक्स की भावना तेजी से बढ़ने लगती है।

पैर की उंगलियां :- महिलाओं के पैर का तलवा पुरुषों को अपनी ओर खींचता है। हाई हील पहने महिलाओं के पैर मर्दों को काफी आर्कषित करते हैं। इसके अलावा अगर पैर की उंगलियों में कलरफुल नेल पॉलिस भी लगी हो तो क्या कहना।


फीगर:- हर मर्द को फिट ऐंड फाइन फीगर वाली महिला ही पसंद होती है। जिन मिहलाओं का पेट निकला हआ होता है पुरुष उनसे भागते हैं, लेकिन जिन महिलाओं का पेट पतला होता है वो मर्दों को ज्यादा आर्कषित करती हैं।


कमर :- अधिकतर पुरुषों की नजर महिलाओं की कमर पर होती है। कमर जितनी लचकती है मर्द उनते आर्कषित होते हैं। कहते हैं कि पतली कमर का जादू मर्दों पर ज्यादा चलता है।


होंठ :- महिलाओं के गुलाबी होंठ हर मर्द को अपनी तरफ खींचते हैं। किसी महिला के चेहरे को देखते हुए पुरुषों का ध्यान सबसे पहले उसके होंठो पर जाता है, और अगर महिला ने अपने होंठों पर कोई सुंदर लिपस्टिक लगा रयकी हो तो क्या बात।


ब्रेस्ट :- महिलाओं का ब्रेस्ट उसका एक ऐसा अंग है जो काफी कामुक होता है। पुरुष इसकी ओर सबसे अधिक आर्कषित होते हैं। ये सेक्स करने का भी एक बहुत जरूरी पार्ट है। परफेक्ट कर्वड शेप ब्रेस्ट की ओर पुरुषों का ध्यान सबसे अधिक जाता है।


बट :- महिलाओं का बट पुरुषों का ध्यान आर्कषित करता है। कई पुरुष बड़े ही अजब तरीके से इसे निहारते हैं। हालांकि ये पुरुषों को अपनी ओर खींचतें भी हैं। महिलाओं के सेक्सी कपड़े पहनने का तरीका भी उनके बट पर निर्र करता है



सुबह के समय बनायें शारीरिक संबंध, जाने क्या है फायदे


सेक्स जितना ही लोगो ने लिए मनोरंजक रहा है उतना ही यह शोध का विषय भी रहा है। अक्सर इस पर एक्सपर्ट्स तरह-तरह की अपनी राय देते रहते हैं। शोध में कभी-कभी सेक्स को लेकर कुछ रोचक तथ्य सामने आते हैं तो कुछ चीजें हैरान भी कर देती हैं। हाल ही में हुए एक ताजा शोध में सुबह सेक्स करने को लेकर कुछ नतीजे सामने आए हैं। एक्सपर्ट्स ने माना है कि अर्ली मॉर्निंग सेक्स हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है।

अगर हम सुबह हड़बड़ी में उठने के बजाये सेक्स करने की आदत डाले तो हमारा दिन और स्वास्थ्य काफी हद तक बेहतर हो जाता है। जब हम सुबह की शुरूआत संभोग के साथ करते हैं तो हमें कई फायदे होते है।

* वह कपल जो अपनी सुबह की शुरुआत शारीरिक संबंध बनाकर करते हैं, वह दूसरों की तुलना में काफी स्वस्थ होते हैं।


* सुबह के समय संभोग करने से फील गुड केमिकल आॅक्सीटोसिन निकलता है जो कई जन्मों तक हमें एक दूसरे के साथ बांधे रखता है।

* इसके अलावा रोजाना सुबह सेक्स करने से आप दिन भर उत्साहित महसूस करते हैं।

* सुबह के समय शारीरिक संबंध बनाने से सर्दी और कफ से भी आराम मिलता है। इसी के साथ हमारे नाखूनों और बालों को भी काफी फायदा पहुंचता है।

* एक सप्ताह में कम से कम 3 बार सुबह शारीरिक संबंध बनाने से दिल के दौरे का खतरा भी कम होता है।

बिना सम्बन्ध बनाये भी महिला हो सकती है प्रैग्नेंट, जानिए कैसे



यह हम सब जानते है कि बिना सेक्स किये महिला कभी कभी गर्भवती नही हो सकती है। इस तरह की जानकरी हर छोटे बड़े और पढ़े और अनपढ़ के पास होती है। हमने भी अब तक यही जाना है। सभी लोग जानते है कि महिलाओं को गर्भवती करने के लिए सेक्स करना जरूरी है लेकिन आपको बता दें महिलाएं बिना सेक्स संबध बनाए भी गर्भवती हो सकती हैं।
बिना सेक्स के कैसे हो सकती है प्रग्नेंट:


* फोरप्लें: अधिकतर कपल्स की आदत होती है कि सेक्स से पहले फोरप्लें करने की और यह उत्तेजना बढ़ाना में काफी सहायक भी होता है। ऐसा करने से पुरूषों का वीर्य बाहर भी निकल जाता है। और अगर यह वीर्य महिला की योनि तक पहुंच गया तो महिला गर्भवती हो सकती हैं।


* फिंगरिंग: फिंगरिंग करना भी महिला के प्रग्नेंट का कारण हो सकता है। अगर वीर्य पुरूषों की उंगली मे लगा हो और यदि वह महिला के साथ फिंगरिंग करता हो तो उससे भी महिला गर्भवती हो सकती है। फिंगरिंग करते वक्त इसका ध्यान रखना बड़ा ही आवश्यक है।



महिलाये ही क्यों होती है मासिक धर्म का शिकार, जाने इसके पीछे का राज



महिलाओं में मासिक धर्म होना एक सामान्य प्रक्रिया है। आयुर्विज्ञान के तौर पर देखा जाए तो यह प्रक्रिया एक निश्चित आयु के बाद शुरू होती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इसे स्त्री की कमजोरी माना जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इसके पीछे का कारण इंद्र द्वारा दिए गए श्राप को माना जाता है।



ब्रह्म हत्या का पाप से बचने के लिए इंद्र देव ने एक लाख वर्ष तक भगवान विष्णु की तपस्या की। तब भगवान ने इंद्र को एक उपाय सुझाया कि वे इस पाप के कुछ अंश को पेड़, पृथ्वी, जल और स्त्री को दे दे।


* पेड़: इंद्र ने ब्रह्म हत्या के पाप का एक चौथाई हिस्सा पेड़ को दिया और साथ ही ये वरदान भी दिया कि वह अपने आप को कभी भी जीवित कर सकता है।


* पानी: पाप का एक चौथाई हिस्सा लेने पर पानी को वरदान मिला कि वह किसी भी वस्तु को स्वच्छ कर सकेगा।

* पृथ्वी: पृथ्वी को वरदान मिला की उसकी सभी चोटें अपने आप भर जाएंगी। 

* स्त्री: इंद्र ने स्त्री को यह वरदान दिया कि वह पुरुषों की अपेक्षा शारीरिक संबंध का आनंद दुगुना ले पाएंगी। वहीं इसके लिए स्त्रियों को हर माह मासिक धर्म की यातना भी झेलनी होगी। 

इंद्र द्वारा दिया गया ये वरदान स्त्रियों के लिए श्राप बनकर रह गया। तभी से स्त्रियां मासिक धर्म के रूप में ब्रह्म हत्या का पाप उठा रही हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.