Header Ads

कपालभाति से हानि भी है हो सकती है

कपालभाति से हानि भी है हो सकती है, कपालभाती प्राणायाम कैसे करें



कपालभाती एक ऐसा प्राणायाम है जिसे नियमित और सही तरीके से किया जाए तो बहुत तरह के लाभ को प्राप्त किया जा सकता है। कपालभाती न केवल शरीर की गंदगी को बाहर निकालता है बल्कि ब्लड सर्कुलेशन के लिए यह आसन बहुत ही उपयोगी है। इसके अलावा भी इसके बहुत फायदे हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कपालभाति से हानि भी हो सकती है।

आपको बता दें कि कपालभाती प्राणायाम हर किसी के लिए नहीं है। कुछ बीमारियों और विकारों में इस प्राणायाम से दूरी बनाकर रखना चाहिए। यदि आप इसे नियमित रूप से करते हैं तो आपको कई जटिलताओं का सामना करना पड़ेगा।


विशेषज्ञों के मुताबिक आइए जानते हैं कि कपालभाती प्राणायाम किसे नहीं करना चाहिए।

कपालभाति से हानि 

1 कार्डियक समस्या
हृदय संबंधी समस्या को कार्डियक समस्या के नाम से जाना जाता है। कार्डियोवास्कुलर रोग (सीवीडी) में हृदय और संचलन के सभी रोग शामिल हैं। हृदय की समस्याओं में एनजाइना, दिल का दौरा, दिल की विफलता और अबनोर्मल हार्ट रिदम शामिल है। जिन लोगों को हृदय संबंधी समस्या है उन्हें कभी भी कापालभाती प्राणायाम नहीं करना चाहिए।

2 स्पानल रोग
रीढ़ की हड्डी की चोट से शरीर पर कई प्रभाव पड़ सकते हैं। यह एक आम समस्या है, जिससे उचित नींद में कठिनाई आती है। इसमें तेजी से पीठ में दर्द होता है। जिन लोगों को स्पानल की समस्या है उन्हें भी कापालभाती प्राणायाम से बचना चाहिए।


3 हर्निया
हर्निया एक ऐसी ही परेशानी है, जिसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। हर्निया के कई प्रकार होते हैं और यह स्त्री या पुरुष किसी को भी हो सकता है। हर्निया प्राचीन रोगों में से एक है। यह एक ऐसा रोग है जिसे देख कर और छूकर महसूस किया जा सकता है। हर्निया का मुख्य कारण दोषयुक्त या अस्वाभाविक विकास होता है। वैसे हर्निया की समस्या जन्मजात भी हो सकती है। कपालभाती प्राणायम करने वाले इस बात का ध्यान दें कि हर्निया में यह प्राणायाम आपको नहीं करना चाहिए।
4 ब्लड प्रेशर
रक्तचाप (बीपी) रक्त वाहिकाओं की दीवारों पर रक्त परिसंचारी का दबाव है। जिन लोगों को ब्लड प्रेशर की बीमारी है उन्हें कपालभाती नहीं करना चाहिए। इसके अलावा गंभीर श्वसन संक्रमण में भी यह आसन नहीं करना चाहिए।

5 अल्सर में न करें कपालभाति प्राणायाम
अल्सर व पेट का ऑपरेशन हुआ हो तो इसका अभ्यास न करें। यह आपके लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। इसके अलावा इस बात का भी ध्यान दीजिए कि यह आसन करते समय आपका पेट खाली हो नहीं तो कपालभाति प्राणायाम हानि अथवा नुकसान भी कर सकता है।

6 कमजोरी की अवस्था में न करे कपालभाती
यदि आप बहुत ही कमजोर हो या फिर बहुत ही आलस महसूस कर रहे हो तो आप कपालभाती प्राणायाम न करें।

7 गर्भवती महिलाएं न करे इस आसन को
कपालभाति से हानि की बात करें तो एक्सपर्ट के मुताबिक इस आसन को गर्भवती न करे। यह आपको नुकसान पहुंचा सकता है। इसके अलावा मासिक धर्म के दिनों में कपालभाति अभ्यास नहीं करना चाहिए।


नोट: सबसे पहले इस बात का ध्यान दीजिए कि कोई भी प्राणायाम या आसन करने से पहले आपको किसी एक्सपर्ट का सहारा लेना चाहिए। इसका फायदा यह होगा कि आप कोई भी आसन गलत तरीके से नहीं करेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.