Header Ads

अब पीरियड्स में होने वाले दर्द को दूर करेगा,


अब पीरियड्स में होने वाले दर्द को दूर करेगा, स्मार्टफोन ऐप
अमेरिका के जाने-माने न्यूज़पेपर ‘द अमेरिकन जर्नल ऑफ अब्स्टेट्रिक्स एंड गाइनेकोलॉजी’ ने हाल ही में एक ऐसा न्यूज़ प्रकाशित किया है जिसे पढ़ने के बाद आप आश्चर्यचकित होंगे, और खुश भी होंगे.खबरों की मानें तो बहुत ही जल्द एक ऐसा स्मार्टफोन ऐप बनने वाला है जो कि महिलाओं को पीरियडस के दौरान होने वाले दर्द को बड़ी ही आसानी से कम करने में उनकी मदद करेगा. यह बात सुनने में बहुत अजीब है मगर इसका प्रशिक्षण अमेरिका के जाने माने वैज्ञानिकों द्वारा बड़े ही जोरों पर किया जा रहा है ताकि इस ऐप को जल्द से जल्द लॉन्च किया जा सके.
अब पीरियड्स में होने वाले दर्द के लिए इमेज परिणाम
यह स्मार्टफोन ऐप एक ऐसा ऐप होगा जो सेल्फ एक्यूप्रेशर की मदद से पीरियड्स के दौरान महिलाओं को होने वाले कमर दर्द, शरीर में ऐंठन और पेट दर्द जैसी दर्दनाक पीड़ा से मुक्ति दिलाने में मदद कर सकता है इसलिए यह ऐप महिलाओं के लिए तो मानो जैसे किसी रामबाण से कम नहीं होगा.
जैसा हम सब जानते हैं लगभग 70 से 90 प्रतिशत महिलाओं को पीरियड्स के दौरान बहुत ही ज्यादा दर्द का अनुभव होता है और इस वजह से महिलाएं ना तो ऑफिस जा सकती है, और ना ही घर पर आराम से रह सकती है.

ऐसे में अगर दवाइयों का सेवन भी महिलाओं को आराम तो दिलाता है मगर यह दवाइयां भी कुछ टाइम बाद उनके लिए नुकसानदेह साबित होने लगती हैं.


यह स्मार्टफोन ऐप एक्यूप्रेशर यानी एक चीनी टीसीएम तकनीक है, आप इस ऐप को अपनी देखभाल के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं यानी आप अब घर बैठे ही बड़ी आसानी से इस तकनीक का इस्तेमाल कर अपने पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से छुटकारा पा सकते हैं. यह स्मार्टफोन ऐप आपको बताएगा कि कैसे आप अपने शरीर के विशिष्ट बिंदुओं की हल्की मालिश करने से ही आप इसमें आराम महसूस कर सकेंगे.

अब देखना यह है कि यह ऐप वास्तविकता में कितनी सहायक साबित हो पाती है और महिलाओं द्वारा यह कितना पसंद किया जा रहा है.
पीरियड के दौरान इन जरुरी बातों का रखें ख्याल


अब पीरियड्स में होने वाले दर्द के लिए इमेज परिणाम

लाइफस्टाइल डेस्क हर महीने पीरिड्स होने के दौरान गर्ल्स और वीमेन्स को कई तरह की परेशानियां पैदा होती है पीरियड्स के दौरान पेट में दर्द होना तो एक आम बात है साथ अक्सर कई बार गर्ल्स और वीमेन्स को इस दौरान इंफेक्शन की परेशानी भी होती है। दरअसल हम पीरिड्स के दौरान कुछ ऐसी गलतियां कर बैठते है जिसकी वजह से हमे पीरिड्स में इंफेक्शन हो सकता है। जैसे की जननांगो में रैशेज का हो जाना खुजली की परेशानी का होना अगर इसका समय पर उपचार ना किया जाए तो ये घाव में परिवर्तित हो जाते है। ऐसे में आपको पीरिड्स के दौरान विशेष बातों का ख्याल रखना बेहद जरुरी है।
अब पीरियड्स में होने वाले दर्द के लिए इमेज परिणाम

तो चलिए जानते है कि पीरिड्स के दौरान आप ऐसी गलतियां बिल्कुल ना करें जिससे आपको इंफेक्शन हो...


जिस पैड को आप पीरिड्स के दौरान यूज कर रहे है तो ध्यान रखें की इसी समय पर बदलना बेहद जरुरी है। दरअसल पीरियड के दौरान ब्‍लीडिंग के माध्‍यम से शरीर में मौजूद अशुद्धियां शरीर से बाहर निकलती है। तब आपका पैड वजाइना और पसीने के माध्यम से कीटाणुओं के संपर्क में आता है। जिस वजह से आपको इंफेशन की परेशानी हो सकती है। ऐसे में जरुरी है कि आप 6 घंटे के अंदर पैड को समय पर बदल लेवें।

पीरिड्स के दौरान आपको अपने प्राइवेट पार्ट की सफाई पर ध्यान देना भी बेहद जरुरी है। दरअस पीरिड्स के दौरान शरीर अदरुनी हिस्सों से दुर्गध आती है ऐसे मे जरुरी है कि आप टॉयलेट पेपर या टिश्यू पेपर से उस एरिया को पोछकर साफ करें




कॉटन सेनेटरी पैड का इस्तेमाल करना आपके लिए बेहतर होगा दरअसल इस तरह के पैड ब्‍लीडिंग को पूरी तरह से सोख लेते और लम्‍बे समय तक चलते है। इससे आपकी स्किन पर स्किन इंफेक्शन की परेशानी भी नही होती है।


पीरिड्स के दौरान साबुन का इस्तेमाल ना करें वजाइना के पास खुद की सफाई एक प्राकृतिक तरीका है इसके लिए आप केवल गर्म पानी का इस्तेमाल करें। आप बाहरी हिस्सों पर साबुन का इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन वजाइन या वल्व पर नहीं इससे आपको इंफेक्शन की परेशानी हो सकती है।



एंटीसेप्टिक क्रीम और पाउडर का यूज आप नहाने से पहले और बाद में लगाए इससे आपकी स्किन पर रैशेज की परेशानी नही होगी। दरअसल एंटीसेप्टिक क्रीम और पाउडर का इस्तेमाल करने से जननांगो के भीतर आने वाला पसीना सूख जाता है जिससे आपको इंफेक्शन नही होगा। ज्यादा परेशानी अगर आपको हो तो एक बार चिकित्सक से परामर्श अवश्य करें।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.