Header Ads

निगलने के दौरान गले में होने वाले दर्द


निगलने के दौरान गले में होने वाले दर्द से निजात पाने के लिए घरेलू उपाय

Healths Is Wealth  
कई बीमारियों के कारण गले में बैक्टीरिया, वायरस आदि का संक्रमण हो जाता है जिससे कुछ भी निगलने के दौरान गले में दर्द होता है। इस दर्द को कम करने के लिए आप कुछ घरेलू उपायों का इस्तेमाल कर सकते हैं।




बहुत बार कुछ भी खाने और पीने से गले के निचले हिस्से में काफी दर्द महसूस होता है। निगलने के दौरान गले में दर्द होने की समस्या के पीछे सर्दी-जुकाम, फ्लू, गले में इंफेक्शन, कान में संक्रमण और एसिड रिफ्लक्स जैसी कई कारण हो सकते हैं। गले में भोजन और पानी को निगलने की समस्या के चलते आपका कुछ भी खाना-पीना मुश्किल हो जाता है। इसे कम करने के लिए आप कुछ घरेलू उपायों का उपयोग कर सकते हैं। आइए जानते हैं निगलने के कारण गले में होने वाले दर्द को कम करने के लिए घरेलू उपाय।
1.हल्दी वाला दूध: हल्दी में एंटी-इंफ्लेमेंट्री और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो कि संक्रमण को तेजी से खत्म करने के लिए उपयोगी होते हैं। एक कप दूध में आधा चम्मच हल्दी और थोड़ा सा काली मिर्च पाउडर डालकर गर्म कर लें और इसमें थोड़ा सा शहद मिलाकर दिन में दो बार पीने से गले में निगलने के दौरान होने वाले दर्द से छुटकारा मिलता है।

Healths Is Wealth  
2.शहद और नींबू: नींबू में विटामिन सी होता है जो बैक्टीरिया को खत्म करता है और गले को नम बनाता है जिससे गले में निगलने के दौरान होने वाले दर्द से निजात मिलती है। इसके लिए हल्के गर्म पानी में थोड़ा सा नींबू का रस और शहद मिलाकर पिएं। ऐसा आप दिन में 3-4 बार कर सकते हैं। [

3.गर्म पेय पदार्थों का सेवन: तरल पदार्थ शरीर को हाइड्रेट और गले को नम बनाए रखने में मदद करते हैं और गले में निगलने के दौरान होने वाले दर्द से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। इसलिए गर्म पेय पदार्थों का सेवन करना चाहिए। ध्यान रखें कि कैफीन युक्त पेय पदार्थों से डिहाइड्रेशन हो सकता है इसलिए कैफीन की बजाय अन्य गर्म पेय पदार्थों का सेवन करें।

4.अदरक और नींबू की चाय: अदरक में एंटी-इंफ्लेमेंट्री और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं वहीं नींबू में विटामिन सी होता है। इसलिए अदरक और नींबू की चाय किसी भी संक्रमण, फ्लू और जुकाम जैसी समस्या को तेजी से खत्म करती है। यहीं कारण है कि गले में निगलने के दौरान होने वाले दर्द से छुटकारा दिलाने में अदरक और नींबू की चाय मददगार होती है। इसके लिए एक गिलास पानी में अदरक के टुकड़े और नींबू का रस डालकर उबालें और चाय की तरह इसका सेवन करें।

Healths Is Wealth  
5.नमक के पानी से गरारे करना: नमक वायरस और बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करता है वहीं गर्म पानी गले को आराम देता है और सूखने से बचाता है। इसलिए दिन भर में 3-4 बार नमक के बानी से गरारे करने पर गले में निगलने के दौरान होने वाले दर्द से छुटकारा मिलता है।

ब्रेस्ट पेन से राहत पाने के घरेलू उपाय 
Healths Is Wealth  
ब्रेस्ट में दर्द होने के पीछे कई कारण होते हैं। जिसकी वजह से महिलाओं को असहजता का सामना करना पड़ता है। ब्रेस्ट पेन से कुछ घरेलू उपायों की मदद से राहत पाी जा सकती है। यह काफी प्रभावी होते हैं।





ब्रेस्ट में सूजन, भारीपन महसूस होने जैसी कई वजहों से ब्रेस्ट में दर्द हो सकता है। यह समस्या हर उम्र की महिला को हो सकती है। ब्रेस्ट पेन दो प्रकार के होते हैं तो पहला साइक्लिकल और दूसरा नॉन साइक्लिकल। साइक्लिकल ब्रेस्ट पेन पीरियड्स के दौरान हार्मोनल बदलाव की वजह से होता है और नॉन साइक्लिकल ब्रेस्ट पेन पीरियड्स के बाद भी होता रहता है। यह ब्रेस्ट के भारी होने या सिस्ट की वजह से भी हो सकता है। इस दर्द को दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपाय फायदेमंद होते हैं। इन उपायों की मदद से दर्द से जल्दी आराम मिलता है। तो आइए आपको इन घरेलू उपायों के बारे में बताते हैं। [

आइस पैक: ब्रेस्ट पेन से जल्दी और आसानी से राहत पाने के लिए आइस पैक सबसे आसान तरीका है। यह दर्द को कम करने में मदद करता है। साथ ही सूजन से राहत दिलाने में भी मदद करता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए एक प्लास्टिक बैग में आइस क्यूब डालकर इस बैग को कुछ मिनट के लिए ब्रेस्ट के पास रखें। इसे तब-तक करते रहें जब तक दर्द कम ना हो जाए। अगर सर्दियों का मौसम है तो आप हॉट कंप्रेसर का इस्तेमाल कर सकती हैं। ध्यान रहे आप बर्फ को सीधे ब्रेस्ट पर ना लगाएं।

कैस्टर ऑयल: कैस्टर ऑयल में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो दर्द से तुरंत आराम दिलाने में मदद करते हैं। यह ब्लड फ्लो को बढ़ाने में मदद करता है जिससे दर्द कम होता है। इसके अलावा कैस्टर ऑयल में रिसिनोलिक एसिड होता है जो शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकालने में मदद करता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए 1 चम्मच कैस्टर ऑयल में 2 चम्मच ऑलिव ऑयल मिलाकर ब्रेस्ट पर मसाज करें। 

सौंफ: सौंफ ब्रेस्ट में होने वाले दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है। यह शरीर में हार्मोन्स को संतुलित करने में मदद करती है। साथ ही शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकालती है। इसके इस्तेमाल के लिए एक कप गर्म पानी में 1 चम्मच सौंफ मिलाकर पीने से ब्रेस्ट में दर्द कम होता है। इसके अलावा आप भूनी हुई सौंफ को चबा सकते हैं।

सेब का सिरका: ब्रेस्ट पेन से राहत पाने के लिए सेब का सिरका फायदेमंद होता है। यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने और हार्मोन्स को रेगुलेट करने में मदद करता है। इसके लिए एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच सेब का सिरका मिलाएं। इसका स्वाद बदलने के लिए आप इसमें शहद भी मिला सकते हैं। इस ड्रिंक को दिन में दो बार पिएं।

मसाज करें: जब ब्रेस्ट पर मसाज करते हैं तो इससे ब्लड फ्लो में सुधार होता है। यह ब्रेस्ट के टिशू को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। मसाज से ब्रेस्ट दर्द कम होता है। इसके अलावा ब्रेस्ट पर केमिकल वाले साबुन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। ऑलिव ऑयल में कैम्फोर ऑयल मिलाकर दिन में दो बार ब्रेस्ट की मसाज करें।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.